Tuesday, July 16, 2019

Breaking News

   सूरत: सभी मोदी चोर कहने का मामला, 10 अक्टूबर को हो सकती है राहुल गांधी की पेशी     ||   मुंबई: इमारत गिरने पर बोले MIM नेता वारिस पठान- यह हादसा नहीं, हत्या है     ||   नीरज शेखर के इस्तीफे पर बोले रामगोपाल यादव- गुरु होने के नाते आशीर्वाद दे सकता हूं     ||   लखनऊ: खनन घोटाले में ED ने पूर्व खनन मंत्री गायत्री प्रजापति से पूछताछ की     ||   पोंजी घोटाला: पूछताछ के बाद बोले रोशन बेग- हज पर नहीं जा रहा, जांच में करूंगा सहयोग    ||    संसदीय दल की बैठक में PM मोदी ने कहा- जरूरत पड़ी तो सत्र बढ़ाया जा सकता है     ||   केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बताया- सुप्रीम कोर्ट में जजों की कमी नहीं    ||    AAP नेता इमरान हुसैन ने बीजेपी नेता विजय गोयल और मनजिंदर सिंह सिरसा के खिलाफ की शिकायत    ||   राहुल गांधी के इस्तीफे पर केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा- जय श्रीराम    ||   यूपी सरकार का 17 जातियों को SC की लिस्ट में डालने का फैसला असंवैधानिक: थावर चंद गहलोत    ||

किराए पर ई-रिक्शा चलवाने वाले हो जाएं सवाधान, पंजीकरण होगा रद्द और गाड़ी भी होगी जब्त

अंग्वाल न्यूज डेस्क
किराए पर ई-रिक्शा चलवाने वाले हो जाएं सवाधान, पंजीकरण होगा रद्द और गाड़ी भी होगी जब्त

देहरादून। केन्द्रीय परिवहन मंत्रालय के नए दिशा-निर्देश के बाद उत्तराखंड परिवहन विभाग भी सख्त हो गया है। परिहवन विभाग ने सड़कों पर चलने वाले ई-रिक्शा को लेकर कड़ा कदम उठाया है। विभाग ने कहा है कि पंजीकृत व्यक्ति ही ई-रिक्शा चलाएगा अन्यथा उसका पंजीकरण रद्द कर रिक्शा को सीज कर लिया जाएगा। यहां बता दें कि शहरी  क्षेत्रों से  दूर रहने वाले लोगों की यात्रा का आसान बनाने के लिए ई-रिक्शा को परमिट दी गई थी। कई लोगों ने अपने अलावा परिजनों के नाम पर भी रिक्शा खरीद लिया और उसे किराए पर देकर चलवाने लगे। विभाग की ओर से कहा गया है कि पंजीकृत रिक्शा से ज्यादा रिक्शा पर कार्रवाई की जाएगी।

गौरतलब है कि शहर के अंदर यातायात की सुविधा को आसान बनाने के लिए शहर के मुख्य सड़कों को छोड़कर अन्य मार्गों पर ई-रिक्शा का संचालन शुरू किया गया था। इसके बाद कई लोगों ने एक साथ कई रिक्शा खरीद ली और उसे किराया पर चलवाने लगे। बताया जा रहा है कि परिवहन विभाग में 1200 ई-रिक्शा पंजीकृत हैं लेकिन सड़कों पर 1400 रिक्शा दौड़ रहीं हैं। वहीं किराया निर्धारित नहीं होने की वजह से चालक यात्रियों से मनमाना किराया वसूल रहे हैं।

यहां बता दें कि कई रिक्शा चालकों का कहना है कि प्रतिदिन 300 रुपये लेकर किराए पर रिक्शे चलवाए जा रहे हैं।  यात्रियों से मनमाना किराया वसूलने के मामले पर आरटीओ ने सख्ती बढ़ाने की तैयारी शुरू कर दी है। 

ये भी पढ़ें - अब शिक्षामित्रों ने सरकार के खिलाफ खोला मोर्चा, शुरू किया आमरण अनशन


ई रिक्शे के लिए केंद्रीय परिवहन विभाग की ओर से जारी गाइडलाइन के अनुसार, जिस व्यक्ति को ई रिक्शा का लाइसेंस जारी किया जाएगा, वही उसे चलाएगा। अगर लाइसेंसधारक के अलावा कोई दूसरा व्यक्ति ई रिक्शा चलाता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई का प्रावधान है। इसके तहत उसे बंद करने के साथ ही पंजीकरण रद्द कर रिक्शा सीज भी किया जा सकता है।

 

Todays Beets: