Wednesday, June 26, 2019

Breaking News

   अमित शाह बोले - साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के गोसडे पर दिए बयान से भाजपा का सरोकार नहीं    ||   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||

देहरादून पुलिस लूटकांड - SIT कर सकती है प्रॉपर्टी डीलर से लूटे नोटों के बैंग की जांच , CCTV फुटेज पर नजरें

अंग्वाल संवाददाता
देहरादून पुलिस लूटकांड - SIT कर सकती है प्रॉपर्टी डीलर से लूटे नोटों के बैंग की जांच , CCTV फुटेज पर नजरें

देहरादून । आचार संहिता का हवाला देते हुए प्रापर्टी डीलर अनुरोध पंवार से पुलिस वालों द्वारा रुपये से भरा बैग लूटने की घटना को लेकर पुलिस महकमे में हडकंप मचा हुआ है । आईजी की सरकारी गाड़ी में सवार तीन पुलिसवालों द्वारा किए गए इस कृत्य के बाद अब  पुलिस अपने ऊपर जांच में भेदभाव किए जाने के आरोपों से बचना चाह रही है। यही कारण है कि आईजी गढ़वाल ने इस मामले की जांच पुलिस के बजाए किसी दूसरी एजेंसी से करवाने की सिफारिश कर दी है । पुलिस इस मामले की जांच में फूंक फूंक के कदम बढ़ा रही है, जिसके तहत अब पुलिसकर्मियों द्वारा इस लूटपाट की घटना को अंजाम दिए जाने की जांच एसआईटी कर सकती है ।

क्या है मामला

बता दें कि घटना गत 4 अप्रैल की है । प्रॉपर्टी डीलर अनुरोध पंवार अन्य प्रॉपर्टी डीलर अनुपम शर्मा से व्यापार के जुड़ी कुछ रकम लेने के लिए राजपुर रोड स्थित WIC Club गए थे। वहां क्लब के मैनेजर अर्जुन पंवार ने अनुरोध को एक नोटो से भरा बैक सौंपा । बैग लेकर अनुरोध निकले तो रास्ते में आईजी के सरकारी वाहन में सवार तीन पुलसकर्मियों ने चुनावों के मद्देनजर आचार संहिता का हवाला देते हुए उनसे बैग छीन लिया और वहां से फरार हो गए । इस दौरान अनुरोध ने बताया कि एक पुलिसकर्मी ने खुद को आईएएस अधिकारी बताया था।

9 अप्रैल को पुलिसवालों के खिलाफ मुकदमा

इस मामले को लेकर अनुरोध पंवार ने जब हंगामाम किया तो यह मामला काफी उछला । इस पर गत 9 अप्रैल को अनुरोध की तहरीर पर डालनवाला पुलिस ने प्रॉपर्टी डीलर अनुपम शर्मा समेत तीन अज्ञात पुलिसवालों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया । जांच के बाद सामने आया कि इस घटनाक्रम में आईजी के ड्राइवर हिमांशु उपाध्याय, दरोगा दिनेश नेगी और घुड़सवार पुलिस के कांस्टेबल मनोज अधिकारी शामिल थे, जिन्हें निलंबित कर दिया गया ।


क्लब के सीसीटीवी कैमरे का रिकॉर्ड कब्जे में

वहीं इस क्रम में गुरुवार को पुलिस ने डब्लूआईसी क्लब के सीसीटीवी कैमरों का डीवीआर कब्जे में ले लिया है। पुलिस कंट्रोल रूम इस कैमरे की फुटेज को खंगाल रहा है। इससे इतर अभी इस बात का खुलासा नहीं हुआ है कि बैग में कितनी रकम थी। अनुरोध का कहना है कि वह अनुपम शर्मा से पूछकर ही साफ बता पाएंगे कि उन्होंने कितनी रकम दी थी ।

पुलिसवालों की अलग कहानी

वहीं इस पूरे घटनाक्रम में पुलिसवालों की अलग ही कहानी है । पुलिसकर्मियों का कहना है कि गाड़ी को ओवरटेक करने के चलते उनका प्रॉपर्टी डीलर से विवाद हो गया । पुलिसवालों का कहना है कि घटना के समय अनुरोध शराब के नशे में था। इस दौरान पुलिसवालों ने नोटों का बैग लूटने के आरोपों को खारिज कर दिया । हालांकि पुलिसवालों ने प्रापर्टी डीलर अनुपम शर्मा से अपने रिश्तों की बात को माना है।

 

Todays Beets: