Tuesday, July 16, 2019

Breaking News

   सूरत: सभी मोदी चोर कहने का मामला, 10 अक्टूबर को हो सकती है राहुल गांधी की पेशी     ||   मुंबई: इमारत गिरने पर बोले MIM नेता वारिस पठान- यह हादसा नहीं, हत्या है     ||   नीरज शेखर के इस्तीफे पर बोले रामगोपाल यादव- गुरु होने के नाते आशीर्वाद दे सकता हूं     ||   लखनऊ: खनन घोटाले में ED ने पूर्व खनन मंत्री गायत्री प्रजापति से पूछताछ की     ||   पोंजी घोटाला: पूछताछ के बाद बोले रोशन बेग- हज पर नहीं जा रहा, जांच में करूंगा सहयोग    ||    संसदीय दल की बैठक में PM मोदी ने कहा- जरूरत पड़ी तो सत्र बढ़ाया जा सकता है     ||   केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बताया- सुप्रीम कोर्ट में जजों की कमी नहीं    ||    AAP नेता इमरान हुसैन ने बीजेपी नेता विजय गोयल और मनजिंदर सिंह सिरसा के खिलाफ की शिकायत    ||   राहुल गांधी के इस्तीफे पर केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा- जय श्रीराम    ||   यूपी सरकार का 17 जातियों को SC की लिस्ट में डालने का फैसला असंवैधानिक: थावर चंद गहलोत    ||

शिक्षकों और सरकार के बीच तनातनी जारी, शिक्षक संघ ने निदेशालय पर की तालाबंदी

अंग्वाल न्यूज डेस्क
शिक्षकों और सरकार के बीच तनातनी जारी, शिक्षक संघ ने निदेशालय पर की तालाबंदी

देहरादून। राज्य में शिक्षकों और सरकार के बीच चल रही तकरार कम नहीं हो पा रही है। मंगलवार को शिक्षकों ने अपनी मांगों को लेकर ननूरखेड़ा स्थित शिक्षा निदेशालय के साथ ही मयूर विहार स्थित सीईओ कार्यालय पर भी तालाबंदी कर दी। शिक्षक संघ की मांग है कि सरकार जबतक उनकी मांगों को नहीं मानेगी उनका आंदोलन जारी रहेगा। शिक्षा निदेशालय पर तालाबंदी को लेकर शिक्षा निदेशक आरके कुंवर और राजकीय शिक्षक संघ के महासचिव सोहन सिंह माजिला सड़क पर लेट गए और सरकार का विरोध करना शुरू कर दिया।

गौरतलब है कि राज्य में शिक्षकों और सरकार के बीच लगातार मांगों को लेकर तनातनी चल रही है। राज्य सरकार की ओर से पहले ही कहा जा चुका है कि शिक्षकों की जायज मांगों को लेकर वह गंभीर है और उस पर काम भी कर रही है। शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे ने कहा कि शिक्षकों को आंदोलन करने के बजाय छात्रों की शिक्षा पर ध्यान देना चाहिए।

ये भी पढ़ें - रोडवेज की बस ने कार को रौंदा, बसपा के नेता समेत 2 लोगों की मौके पर ही मौत


यहां बता दें कि राजकीय शिक्षक संघ अपनी 18 सूत्रीय मांगों को लेकर पिछले काफी समय से सरकार के खिलाफ आंदोलन कर रहे हैं। मंगलवार को शिक्षा निदेशक आरके कुंवर ने शिक्षकों को समझाने का प्रयास किया लेकिन उनके तल्ख तेवर को देखते हुए उन्हें वापस लौटना पड़ा। उन्होंने कहा कि हम अधिकारी-शिक्षक-कर्मचारी स्कूलों और वहां पढ़ने वाले बच्चों की वजह से हैं।  सरकारी कामकाज में बाधा को कतई बर्दाश्त न किया जाएगा। दोपहर बाद शिक्षा निदेशक ने ताला तुड़वा दिया। 

 

Todays Beets: