Thursday, August 22, 2019

Breaking News

   Parle में छंटनी का संकट: मयंक शाह बोले- सरकार से अहसान नहीं मांग रहे     ||   ILFS लोन मामले में MNS प्रमुख राज ठाकरे से ED की पूछताछ    ||   दिल्ली: प्रगति मैदान के पास निर्माणाधीन इमारत में लगी आग    ||   मध्य प्रदेश: टेरर फंडिंग मामले में 5 हिरासत में, जांच जारी     ||   जिन्होंने 72 हजार देने का वादा किया था, वे 72 सीटें भी नहीं जीत पाए : मोदी     ||   प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 25 अगस्त को दिन में 11 बजे करेंगे मन की बात     ||   कोलकाता के पूर्व मेयर और TMC विधायक शोभन चटर्जी, बैसाखी बनर्जी BJP में शामिल     ||   गुजरात में बड़ा हमला कर सकते हैं आतंकी, सुरक्षा एजेंसियों का राज्य पुलिस को अलर्ट     ||   अयोध्या केस: मध्यस्थता की कोशिश खत्म, कल सुप्रीम कोर्ट में होगी सुनवाई     ||   पोंजी घोटाला: 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया आरोपी मंसूर खान     ||

स्कीइंग, राफ्टिंग व रॉक क्लाइंबिंग जैसे साहसिक खेलों के जरिए सुरक्षा बलों व पुलिस को दिया जा रहा प्रशिक्षण 

अंग्वाल संवाददाता
स्कीइंग, राफ्टिंग व रॉक क्लाइंबिंग जैसे साहसिक खेलों के जरिए सुरक्षा बलों व पुलिस को दिया जा रहा प्रशिक्षण 

देहरादून । आईटीबीपी द्वारा टिहरी झील के निकट साहसिक खेल संस्थान खोलने हेतु राज्य सरकार द्वारा भूमि आवंटन को लेकर मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत तथा उपमहानिरीक्षक तथा प्रधानाचार्य पर्वतारोहण एवं स्कीइंग संस्थान आइटीबीपी औली गंभीर सिंह चैहान के मध्य शनिवार को मुख्यमंत्री आवास पर विस्तृत चर्चा की गई। उपमहानिरीक्षक तथा प्रधानाचार्य पर्वतारोहण एवं स्कीइंग संस्थान आइटीबीपी औली गंभीर सिंह चैहान ने कहा कि आइटीबीपी का उत्तराखंड से अटूट रिश्ता रहा है। आईटीबीपी साहसिक खेलों में अपना विशिष्ट स्थान बना चुका है। उन्होंने बताया कि पर्वतारोहण एवं स्कीइंग संस्थान आईटीबीपी, औली, जोशीमठ द्वारा पर्वतारोहण, स्कीइंग, राफ्टिंग एवं रॉक क्लाइंबिंग जैसे जोखिम भरे साहसिक खेलों में सुरक्षा व पुलिस बलों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है। 

इस दौरान गंभीर सिंह चैहान ने बताया की टिहरी झील के निकट साहसिक खेल संस्थान खोलने से क्षेत्र में पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा तथा स्थानीय लोगों को रोजगार के अवसर प्राप्त होंगे। इस साहसिक खेल संस्थान के माध्यम से आपदा के समय रेस्क्यू संबंधित कार्यों में स्थानीय प्रशासन को मदद मिलेगी तथा इसके साथ ही क्षेत्र के युवाओं का रुझान भी आईटीबीपी तथा साहसिक खेलों के प्रति बढ़ेगा।


मुख्यमंत्री रावत ने फोन पर जिलाधिकारी टिहरी को इस संबंध में उचित कार्यवाही के निर्देश दिए तथा आइटीबीपी को राज्य सरकार की ओर से हर संभव सकारात्मक सहयोग का आश्वासन दिया।

Todays Beets: