Friday, April 23, 2021

Breaking News

   कोरोनाः यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ को लगाई गई वैक्सीन     ||   महाराष्ट्रः वसूली केस की होगी सीबीआई जांच, फडणवीस बोले- अनिल देशमुख दें इस्तीफा     ||   ड्रग्स केस में गिरफ्तार अभिनेता एजाज खान कोरोना पॉजिटिव, NCB टीम का भी होगा टेस्ट     ||   मथुराः लेफ्टिनेंट जनरल मनोज कुमार कटियार बने वन स्ट्राइक कोर के कमांडर     ||   कर्नाटकः भ्रष्टाचार के मामले की जांच पर स्टे, सीएम येदियुरप्पा को SC ने दी राहत     ||   छत्तीसगढ़ः नक्सल के खिलाफ लड़ाई अब निर्णायक चरण में, हमारी जीत निश्चित है- अमित शाह     ||   यूपीः पंचायत चुनाव में 5 से अधिक लोगों के साथ प्रचार करने पर रोक, कोरोना के कारण फैसला     ||   स्विटजरलैंड में चेहरा ढकने पर लगाई गई पाबंदी , मुस्लिम संगठनों ने जताई आपत्ति     ||   सिंघु बॉर्डर के नजदीक अज्ञात लोगों ने रविवार रात की हवाई फायरिंग, पुलिस कर रही छानबीन     ||   जम्मू कश्मीर - प्रोफेसर अब्दुल बरी नाइक को पुलिस ने किया गिरफ्तार, युवाओं को बरगलाने का आरोप     ||

उत्तराखंड की रावत सरकार दूसरे धर्म और जाति में शादी करने वालों को दे रही 50 हजार रुपये की नकद प्रोत्साहन राशि

अंग्वाल न्यूज डेस्क
उत्तराखंड की रावत सरकार दूसरे धर्म और जाति में शादी करने वालों को दे रही 50 हजार रुपये की नकद प्रोत्साहन राशि

देहरादून। उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश में लव जिहाद और धर्म परिवर्तन को ध्यान में रखते हुए दोनों ही राज्यों की सरकारों ने नए और सख्त कानून बनाए हैं , वहीं उत्तराखंड की त्रिवेंद्र रावत सरकार ने कुछ अलग ही व्यवस्था दी है । असल में देवभूमि की त्रिवेंद्र सरकार ने दूसरे धर्म और जाति में शादी करने वाले जोड़ों को 50 हजार रुपये की प्रोत्साहन राशी देने की व्यवस्था दी है । यह नगद प्रोत्साहन राशि उन सभी जोड़ों को दी जाएगी , जिनकी शादियां वैध रूप से पंजीकृत होंगी। राज्य समाज कल्याण विभाग के एक अधिकारी ने इसकी जानकारी दी । 

बता दें कि जहां देश में बढ़ते लव जिहाद के बीच यूपी की योगी सरकार ने एक नया कानून बनाया है । वह सीधे तौर पर लव लिहाद को लेकर तो नहीं है , लेकिन सिर्फ शादी के लिए धर्म परिवर्तन करना और जबरन दूसरे धर्म में शादी करवाने के मुद्दों को लेकर इस कानून को सख्त बनाया गया है , जिसमें धर्म परिवर्तन की सूचना पहले जिलाधिकारी को देनी होगी । 


वहीं उत्तराखंड की सरकार ने दूसरे धर्म में शादी करने पर 50 हजार की प्रोत्साहन राशि पाने के लिए एक शर्त रखी गई है। इसके तहत पति-पत्नी में से किसी एक का अनुच्छेद 341 में वर्णित अनुसूचित जातियों में से होना चाहिए। 

संबंधित विभाग के एक अफसर ने बताया कि  दूसरी जातियों और दूसरे धर्म में शादी करने वालों को दी जाने वाली राशि राष्ट्रीय एकता को बढ़ावा देने में अहम साबित हो सकती है। एक स्कीम का फायदा उठाने के लिए शादी के एक साल के अंदर आवेदन देना पड़ता है।

बता दें कि पहले इस स्कीम के तहत विजातीय और दूसरे धर्म में शादी करने वाले लोगों को 10 हजार रुपए की प्रोत्साहन राशि दी जाती थी। लेकिन 2014 में राज्य सरकार ने उत्तर प्रदेश अंतरजातीय अंतरधार्मिक विवाह प्रोत्साहन नियमावली 1976 में संशोधन करके 10 हजार की रकम को बढ़ाकर 50 हजार रुपए कर दिया। 

Todays Beets: