Thursday, September 21, 2017

Breaking News

   जम्मू कश्मीर के नौगाम में लश्कर कमांडर अबू इस्माइल के साथ मुठभेड़,     ||   राम रहीम मामले पर गौतम का गंभीर प्रहार, कहा- धार्मिक मार्केटिंग का यह एक क्लासिक उदाहरण    ||   ट्राई ने ओवरचार्जिंग के लिए आइडिया पर लगाया 2.9 करोड़ का जुर्माना    ||   मदरसों का 15 अगस्त को ही वीडियोग्राफी क्यों? याचिका दायर, सुनवाई अगले सप्ताह    ||   पंचकूला से लंदन तक दिखा राम-रहीम विवाद का असर, ब्रिटेन ने जारी की एडवाइजरी    ||   PAK कोर्ट ने हिंदू लड़की को मुस्लिम पति के साथ रहने की मंजूरी दी    ||   बिहार आए पीएम मोदी, बाढ़ से हुई तबाही की गहन समीक्षा की    ||   जेल में ही वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए राम रहीम को सुनाई जाएगी सजा    ||   मच्छल में घुसपैठ नाकाम, पांच आतंकी ढेर, भारी मात्रा में गोलाबारूद बरामद    ||   जापान के बाद अब अमेरिका के साथ युद्धाभ्यास की तैयारी में भारत    ||

कुटुंब देवी मंदिर की खोज जारी

कुटुंब देवी मंदिर की खोज जारी
अल्मोड़ा. देशभर में दर्जनों ऐसी राष्ट्रीय धरोहरें हैं, जिनकाकुछ पता नहीं चल रहा। इनकी तलाश में जुटे भारतीय पुरातत्व विभाग ने अब इन धरोहरोंको खोज निकालने का जिम्मा इसरो को सौंप दिया है। उत्तर प्रदेश, हरियाणा, दिल्ली, महाराष्ट्र,असम, अरूणाचल प्रदेश और राजस्थान जैसे राज्यों में राष्ट्रीय धरोहरों की तलाश जारीहै। इनमें एक धरोहर उत्तराखंड में भी है। अल्मोड़ा के द्वाराहाट से गुम हुई राष्ट्रीयधरोहर का नाम कुटुंबरी देवी मंदिर है। आर्किलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया के मुताबिक सन 1950 में द्वाराहाट का कुटुंबरी मंदिर पहाड़ीके ऊंचे ढलान पर स्थित था, लेकिन 1950 से 1960 के बीच यह मंदिर ध्वस्त हो गया औरइसकी सामग्री को आस-पास के लोगों ने अपने घरों की दीवारें बनाने के लिए इस्तेमालकर लिया। हालांकि इसकी प्रमाणिकता को लेकर अभी कुछ नहीं कहा जा सकता।

देशभर में गुम हुई 92 राष्ट्रीय धरोहरों में से68 को खोजा जा चुका है। इनमें से 42 अभी अस्तित्व में पाए गए जबकि 14 धरोहरेंशहरीकरण की तो 14 धरोहरें जलाशयों और बांधों की भेंट चढ़ गईं।


नेशनल रीमोट सेंसिंग सेंटर यानी इसरो इन दिनोंतकनीक की मदद से कुटुंब देवी मंदिर की खोज में जुटा है। बहरहाल, उम्मीद करते हैंकि सालों पहले विलुप्त हुए मंदिर के अवशेष एक बार फिर अस्तित्व में आएंगे।

  

Todays Beets: