Monday, December 17, 2018

Breaking News

   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||   बजरंगबली पर दिए गए बयान को लेकर हिन्दू महासभा ने योगी को कानूनी नोटिस भेजा     ||   पीएम मोदी 3 द‍िसंबर को हैदराबाद में लेंगे पब्ल‍िक मीट‍िंग     ||   भगत स‍िंह आतंकवादी नहीं, हमारे देश को उन पर गर्व है- फारुख अब्दुल्ला     ||   अन‍िल अंबानी की जेब में देश का पैसा जा रहा है-राहुल गांधी     ||

500 और 1000 के नोट पर बैन का व्यापक असर, प्राॅपर्टी हो सकती है सस्ती

अंग्वाल न्यूज डेस्क
500 और 1000 के नोट पर बैन का व्यापक असर, प्राॅपर्टी हो सकती है सस्ती

नई दिल्ली

भारत सरकार ने मंगलवार की मध्यरात्रि से 500 रुपये और 1000 रुपये के नोट की कानूनी तौर पर बंद कर दिया। इसका व्यापक असर अब देखने में आ रहा है। ऐसा माना जा रहा है कि सरकार के इस फैसले से प्राॅपर्टी सस्ती हो जाएगी। यह कैसे होगा ये हम आपको बताते हैं।ऐसे लोग जिन्होंने प्राॅपर्टी में इन्वेस्ट कर रखा है। उनके बुरे दिन शुरू हो गए हैं। लाखों करोड़ों रुपये की प्रोपर्टी की अब कोई वैल्यू नहीं रह गई है। अब वो इसे बेच नहीं पाएंगे। खरीदने वाले भी एकमुश्त पैसा देकर प्राॅपर्टी नहीं खरीद पाएंगे।

जब 500 और 1000 रुपये के नोट चलेंगे ही नहीं तो उन्हें बैंक के जरिए ट्रांजेक्शन करने पडेंगे। और बैंक के जरिए ट्राजेक्शन करने के लिए उन्हें अपनी व्हाइट मनी का इस्तेमाल करना पड़ेगा। 


कुछ लोग जहां इसे सरकार का गलत फैसला मान रहे हैं लेकिन ज्यादातर लोग इस फैसले को भविष्य के लिए काफी अच्छा माना है। सरकार ने यह माना कि 500 और 1000 रुपये के नोट का सबसे ज्यादा इस्तेमाल असामाजिक तत्त्वों के द्वारा देश के माहौल को खराब रखने के लिए किया जा रहा है। ऐसे लोगों पर तो यह फैसला किसी सर्जिकल स्ट्राइक से कम नहीं है।

इस फैसले से थोड़े समय के लिए लोगों को परेशानियां होंगी लेकिन इसके दूरगामी परिणाम होंगे। सबसे बड़ी बात तो यह कि इस सरकारी फैसले से मोटी कमाई वाले लोग टैक्स की चोरी नहीं कर पाएंगे। बड़े नोटों के चलन में आने से देश में पश्चिमी देशों की तरह कैशलेस मनी को बढ़ावा मिलेगा। लोग ज्यादा से ज्यादा आॅनलाइन ट्रांजेक्शन करेंगे। ऐसे में लोग अपने पास दो नंबर के पैसे नहीं रख पाएंगे। 

Todays Beets: