Saturday, July 20, 2019

Breaking News

   सूरत: सभी मोदी चोर कहने का मामला, 10 अक्टूबर को हो सकती है राहुल गांधी की पेशी     ||   मुंबई: इमारत गिरने पर बोले MIM नेता वारिस पठान- यह हादसा नहीं, हत्या है     ||   नीरज शेखर के इस्तीफे पर बोले रामगोपाल यादव- गुरु होने के नाते आशीर्वाद दे सकता हूं     ||   लखनऊ: खनन घोटाले में ED ने पूर्व खनन मंत्री गायत्री प्रजापति से पूछताछ की     ||   पोंजी घोटाला: पूछताछ के बाद बोले रोशन बेग- हज पर नहीं जा रहा, जांच में करूंगा सहयोग    ||    संसदीय दल की बैठक में PM मोदी ने कहा- जरूरत पड़ी तो सत्र बढ़ाया जा सकता है     ||   केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बताया- सुप्रीम कोर्ट में जजों की कमी नहीं    ||    AAP नेता इमरान हुसैन ने बीजेपी नेता विजय गोयल और मनजिंदर सिंह सिरसा के खिलाफ की शिकायत    ||   राहुल गांधी के इस्तीफे पर केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा- जय श्रीराम    ||   यूपी सरकार का 17 जातियों को SC की लिस्ट में डालने का फैसला असंवैधानिक: थावर चंद गहलोत    ||

नींद की गोलियों का ज्यादा इस्तेमाल हो सकता है खतरनाक, हो सकती है भूलने की बीमारी

अंग्वाल न्यूज डेस्क
नींद की गोलियों का ज्यादा इस्तेमाल हो सकता है खतरनाक, हो सकती है भूलने की बीमारी

नई दिल्ली। आज की इस तेज रफ्तार जिन्दगी में हमारे पास अपनी सेहत का ध्यान रखने का वक्त भी बहुत कम ही मिल पाता है। आज हमारे काम का समय इतना बदल गया है कि हमारी नींद भी मुश्किल से ही पूरी हो पाती है। ऐसे में कई बार नींद आने के लिए लोग दवाओं का सहारा लेने लगते हैं और धीरे-धीरे यह आदत दवाओं के हैवी डोज लेने लगते हैं। क्या आपको इस बात की जानकारी है कि नींद की गोलियां आपको एक नई बीमारी दे सकती हैं। एक शोध में इस बात का पता चला कि व्यक्ति बेंजोडायजेपीन्स और जेड ड्रग महीने में कम से कम एक बार लेता है। 

गौरतलब है कि नींद की गोलियां ज्यादा लेने से आपको अल्जाइमर्स की बीमारी हो सकती है। अमेरिका और ब्रिटेन में हुए एक शोध में इस बात का पता चला है कि नींद लाने के लिए दवाओं का सहारा लेना काफी खतरनाक साबित हुआ है। बताया जा रहा है कि ब्रिटेन में करीब 26 हजार लोगों पर किए गए शोध मंे इस बात का खुलासा हुआ कि इन लोगों में भूलने की बीमारी पैदा होती जा रही है। 


ये भी पढ़ें - सैनिटाइजर का ज्यादा इस्तेमाल आपको कर सकता बीमार, जानें कैसे

यहां बता दें कि यह शोध यूनिवर्सिटी ऑफ ईस्टर्न फिनलैंड के शोधकर्ताओं  द्वारा की गई।  अगर आप भी नींद के लिए दवाओं का इस्तेमाल करते हैं तो सावधान हो जाएं। बताया जा रहा है कि डाॅक्टरों की तरफ से हैवी डोज अनिद्रा और तनाव को कम करने के लिए दिया जाता है लेकिन इसका उपयोग 4 हफ्तों से ज्यादा नहीं करना चाहिए। 

Todays Beets: