Saturday, September 21, 2019

Breaking News

   Parle में छंटनी का संकट: मयंक शाह बोले- सरकार से अहसान नहीं मांग रहे     ||   ILFS लोन मामले में MNS प्रमुख राज ठाकरे से ED की पूछताछ    ||   दिल्ली: प्रगति मैदान के पास निर्माणाधीन इमारत में लगी आग    ||   मध्य प्रदेश: टेरर फंडिंग मामले में 5 हिरासत में, जांच जारी     ||   जिन्होंने 72 हजार देने का वादा किया था, वे 72 सीटें भी नहीं जीत पाए : मोदी     ||   प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 25 अगस्त को दिन में 11 बजे करेंगे मन की बात     ||   कोलकाता के पूर्व मेयर और TMC विधायक शोभन चटर्जी, बैसाखी बनर्जी BJP में शामिल     ||   गुजरात में बड़ा हमला कर सकते हैं आतंकी, सुरक्षा एजेंसियों का राज्य पुलिस को अलर्ट     ||   अयोध्या केस: मध्यस्थता की कोशिश खत्म, कल सुप्रीम कोर्ट में होगी सुनवाई     ||   पोंजी घोटाला: 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया आरोपी मंसूर खान     ||

अनुपम खेर ने एफटीआईआई का अध्यक्ष पद छोड़ा, व्यस्तताओं का दिया हवाला

अंग्वाल न्यूज डेस्क
अनुपम खेर ने एफटीआईआई का अध्यक्ष पद छोड़ा, व्यस्तताओं का दिया हवाला

नई दिल्ली। मशहूर फिल्म अभिनेता अनुपम खेर से एफटीआईआई के अध्यक्ष के पद से इस्तीफा बुधवार को इस्तीफा दे दिया। खेर ने इस्तीफा के देने की वजह अपनी व्यवस्तताओं के चलते संस्था को समय नहीं दे पाना बताया है। गौर करने वाली बात है कि अनुपम खेर को अक्टूबर 2017 में फिल्म एंड टेलिविजन इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया (एफटीआईआई) का चेयरमैन नियुक्त किया गया था। अनुपम खेर ने जून 2015 में एनडीए सरकार द्वारा नियुक्त गजेंद्र चौहान की जगह ली थी।

गौरतलब है कि अभिनेता अनुपम खेर इन दिनों अपनी आने वाली फिल्म ‘द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ की शूटिंग में व्यस्त हैं। इस फिल्म में वे पूर्व प्रधनानमंत्री डाॅक्टर मनमोहन सिंह की भूमिका अदा कर रहे हैं। पिछले दिनों अनुपम खेर ने कहा था कि इतिहास कांग्रेस नेता मनमोहन सिंह को गलत नहीं समझेगा। 


ये भी पढ़ें - #METOO अभियान - आलोकनाथ की ऑनस्क्रीन 'बहु' रेणुका शहाणे ने लगाए 'ससुरजी' पर आरोप, कहा- फिल्म ...

यहां बता दें कि गजेन्द्र चौहान के कार्यकाल के दौरान एफटीआईआई काफी विवादों से घिरा रहा था। चौहान की नियुक्ति को लेकर एफटीआईआई कैंपस में छात्रों ने भी 3 महीने से ज्यादा समय तक प्रदर्शन किया था लेकिन एनडीए सरकार ने उन्हें हटाने से इंकार कर दिया था। छात्रों ने उस समय पुणे से लेकर दिल्ली के जंतर-मंतर तक विरोध प्रदर्शन किया था। फिल्म इंडस्ट्री से जुड़े लोगों ने भी गजेन्द्र की योग्यता पर सवाल उठाए थे।  

Todays Beets: