Friday, May 20, 2022

Breaking News

    रोडरेज मामले में सिद्धू को 1 साल कठोर कारावास की सजा, SC ने 34 साल पुराने केस में सुनाई सज़ा    ||   बिहार विधानसभा में कानून व्यवस्था को लेकर हंगामा, CPI-ML के 12 विधायकों को किया गया बाहर     ||   गौतमबुद्ध नगर के तीनों प्राधिकरणों के 49,500 करोड़ नहीं चुका रहीं रियल एस्टेट कंपनियां     ||   आंध्र प्रदेश: गुड़ी पड़वा के जश्न के दौरान भक्तों के बीच मंदिर में मारपीट, दुकानों में तोड़फोड़-आगजनी     ||   दिल्ली एयरपोर्ट पर रोके जाने के खिलाफ दिल्ली हाईकोर्ट पहुंचीं राणा अयूब     ||   सोनिया गांधी ने बोला केंद्र पर हमला, लगाया MGNREGA का बजट कम करने का आरोप     ||   केजरीवाल के आवास पर हमला: दिल्ली HC पहुंची AAP, एसआईटी गठन की मांग की     ||   राज्यसभा जा सकते हैं शिवपाल यादव! दो दिन से जारी है बीजेपी मुलाकातों का दौर     ||   यूपी हज समिति के अध्यक्ष बने मोहसिन रजा, राज्यमंत्री का भी दर्जा मिला     ||   दिल्ली: नई शराब नीति के विरोध में BJP, पटेल नगर समेत 14 जगहों पर शराब की दुकानें की सील     ||

चीन की बिजली कंपनियों की पाकिस्तान को खरी-खरी , 300 अरब बकाया चुकाओ, वरना अंधेरे में रहना पड़ेगा

अंग्वाल न्यूज डेस्क
चीन की बिजली कंपनियों की पाकिस्तान को खरी-खरी , 300 अरब बकाया चुकाओ, वरना अंधेरे में रहना पड़ेगा

नई दिल्ली । कंगाली के दौर से गुजर रहे पाकिस्तान पर एक और बड़ी आफत आफत आ गई है । पाकिस्तान की इमरान खान सरकार के दौरान चीन की कंपनियों ने वहां कई प्रोजेक्ट में हाथ डाला । यहां तक कि आज के दौर में बिजली आपूर्ति के मामले में पाकिस्तानी चीनी कंपनियों के सहारे ही टिका है । अब इन चीनी बिजली कंपनियों ने इमरान खान सरकार के गिरने के साथ ही अपनी 300 अरब रुपये की बकाया रकम को लेकर सरकार पर दबाव बनाना शुरू कर दिया है। इन कंपनियों ने पाकिस्तान सरकार को धमकी दी है कि अगर उनकी बकाया रकम जल्द नहीं चुकाई गई तो पाकिस्तान को अंधेरे में रहने की आदत डालनी होगी । 

विदित हो कि चीन और साऊदी अरब के कर्ज में डूबा पाकिस्तान पर एक और मुसीबत टूट पड़ी है । चीनी बिजली कंपनियों ने पाकिस्तान की सरकार से अपने बकाया रकम को लेकर दबाव बनाना शुरू कर दिया है । असल में कंगाली की ओर बढ़ते पाकिस्तान को चीन की बिजली कंपनियों ने धमकी दी कि अगर समय रहते उनके 300 अरब रुपये नहीं चुकाए गए तो वह पाकिस्तान में बिजली सप्लाई बंद कर देंगे। 


असल में चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे (CPEC) के तहत चीन की 30 बिजली कंपनियां पाकिस्तान में काम कर रही हैं । मौजूदा मौसम में पाकिस्तान में बढ़ती बिजली की मांग को लेकर पाकिस्तान सराकर के योजना और विकास मंत्री अहसान इकबाल ने सोमवार को ही चीनी कंपनियों के साथ बैठक करके अपना उत्पादन बढ़ाने को कहा था । 

इसके जवाब में अब चीनी कंपनियों ने सरकार से अपने बकाया रकम की मुद्दा उठा दिया है । चीनी कंपनियों ने मंत्री के उत्पादन बढ़ाने की मांग को सुनते हुए गुस्सा जाहिर करते हुए पहले बकाया देने को कहा है ।  

Todays Beets: