Sunday, February 28, 2021

Breaking News

   सरकार की सत्याग्रही किसानों को इधर-उधर की बातों में उलझाने की कोशिश बेकार है-राहुल गांधी     ||   थाइलैंड में साइना नेहवाल कोरोना पॉजिटिव, बैडमिंटन चैम्पियनशिप में हिस्सा लेने गई हैं विदेश     ||   एयर एशिया के विमान से पुणे से दिल्ली पहुंची कोरोना वैक्सीन की पहली खेप     ||   फिटनेस समस्या की वजह से भारत-ऑस्ट्रेलिया चौथे टेस्ट से गेंदबाज जसप्रीत बुमराह बाहर     ||   दिल्ली: हरियाणा के डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला की पार्टी विधायकों के साथ बैठक, किसान आंदोलन पर चर्चा     ||   हम अपने पसंद के समय, स्थान और लक्ष्य पर प्रतिक्रिया देने का अधिकार सुरक्षित रखते हैं- आर्मी चीफ     ||   कानपुर: विकास दुबे और उसके गुर्गों समेत 200 लोगों की असलहा लाइसेंस फाइल हुई गायब     ||   हाथरस कांड: यूपी सरकार ने SC में पीड़िता के परिवार की सुरक्षा पर दाखिल किया हलफनामा     ||   लखनऊ: आत्मदाह की कोशिश मामले में पूर्व राज्यपाल के बेटे को हिरासत में लिया गया     ||   मानहानि केस: पायल घोष ने ऋचा चड्ढा से बिना शर्त माफी मांगी     ||

विदेश मंत्रालय के सख्त बोल , लोकतंत्र में किसान को आंदोलन का हक , लेकिन बाहरी लोग न चलाएं अपना एजेंडा 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
विदेश मंत्रालय के सख्त बोल , लोकतंत्र में किसान को आंदोलन का हक , लेकिन बाहरी लोग न चलाएं अपना एजेंडा 

नई दिल्ली । दिल्ली के बॉर्डर पर कृषि कानून के विरोध में बैठे किसानों का आंदोलन अब अंतरराष्ट्रीय सुर्खियां भी बटोर रहा है । असल में भारतीय किसानों के इस आंदोलन के पक्ष में अमेरिकी पॉप स्टार रिहाना, क्लाइमेट चेंज एक्टिविस्ट ग्रेटा थनबर्ग , मिया खलीफा , मॉडल अमांडा सेर्नी समेत कई सेलेब्स अपना बयान देते नजर आ रहे हैं । इस सब पर अब भारतीय विदेश मंत्रालय ने सख्त बयान जारी किया है । विदेश मंत्रालय ने कहा कि भारत में लोकतंत्र है और इसके तहत सबको अपनी बात कहने और आंदोलन करने का अधिकार है । कुछ चुनिंदा किसान प्रदर्शन कर रहे हैं , लेकिन इस सबके बीच बाहरी लोगों अपना एजेंडा चला रहे हैं , जिसे भारत सरकार नहीं चलाने देगी । 

विदित हो कि किसानों के आंदोलन के समर्थन में अब कुछ अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त लोग भी अपने बयान जारी कर रहे हैं , जिसे ध्यान में रखते हुए बुधवार को भारतीय विदेश मंत्रालय ने अपना बयान जारी किया है । मंत्रालय की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि ऐसे समय में यह देखकर दुख हुआ कि कुछ लोग और संगठन अपना एजेंडा चलाने की जुगत लगा रहे हैं । वह लगातार कुछ बयान जारी कर रहे हैं , लेकिन इस सबसे पहले उन्हें तथ्यों और हालातों को जान लेना चाहिए । 


भारत ने अपने बयान में कहा कि देश की संसद ने एक लंबी बहस के बाद सभी के समर्थन से नए कानूनों को पास किया है, कुछ ही किसान इसके खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं । सरकार इन किसानों के साथ लगातार बातचीत कर रही है । लेकिन किसानों के इस आंदोलन के दौरान कुछ लोग अपना एजेंडा थोपने की कोशिश कर रहे हैं । यही कारण रहा कि गणतंत्र दिवस वाले दिन हिंसा भी हुई । इस समय जो भी गतिविधियां हो रही हैं , उसे भारत का आंतरिक मसला माना जाना चाहिए ।  

 

MEA    MEA statement    international celebs    anti farm bill    farmers protest    democratic    loktanter    farmers protest    delhi violence    ghazipur border    rakesh tikait    farm laws    sindhu border    local villagers protest agianst farmers    police notice to rakesh tikait    rahul gandhi    congress    yudhveer singh    prakash jawdekar    rahul gandhi    congress    sansad march    farmers sansad march    kisan morcha withdraw march    delhi police commisnor    SN sirivastva    press confrance    live update    Deep Sidhu    kisan protest    farmers protest    VIOLANCE IN DELHI    ITO VIOLANCE    DELHI POLICE    Farm Laws    Republic Day    Farmers Prostests    Tractor Rally    Kisan Tractor Rally    Delhi Police    Kisane morcha    republic day parade    republic day 2021    republic day celebration    rajpath farmers    tractor rally    repulic day    tractors    farmers tractor rally    republic day    72nd republic day parede    republic day 2021    Farmers protest tractors rally    Delhi Tractor Parade    राजपथ    ट्रैक्टर रैली    बैरिकेड्स    72वां गणतंत्र दिवस    दिल्ली पुलिस    किसान आंदोलन    सिंधु बॉर्डर    कृषि कानून    भारत का 72वां गणतंत्र दिवस    राजपथ पर उत्तराखंड की झांकी    आईटीओ पर उपद्रव    दिल्ली पुलिस    दीप सिद्धू    दीप सिद्धू ने जारी किया वीडियो    राहुल गांधी    किसान बिल    कृषि बिल कानून का विरोध    विदेश मंत्रालय   

Todays Beets: