Sunday, February 5, 2023

Breaking News

   Supreme Court: कलेजियम की सिफारिशों को रोके रखना लोकतंत्र के लिए घातक: जस्टिस नरीमन     ||   Ghaziabad: NGT के फैसले पर नगर निगम को SC की फटकार, 1 करोड़ जमा कराने की शर्त पर वूसली कार्रवाई से राहत     ||   दिल्लीः फ्लाइट में स्पाइसजेट की क्रू के साथ अभद्रता के मामले में एक्शन, आरोपी गिरफ्तार     ||   मोरबी ब्रिज हादसा: ओरेवा ग्रुप के मालिक जयसुख पटेल के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी     ||   भारत जोड़ो यात्राः राहुल गांधी बोले- हम चाहते हैं कि बहाल हो जम्मू कश्मीर का राज्य का दर्जा     ||   MP में नहीं माने बजरंग दल और हिंदू जागरण मंच, 'पठान' की रिलीज के विरोध का किया ऐलान     ||   समाजवादी पार्टी के नेता स्वामी प्रसाद मौर्या पर लखनऊ में FIR     ||   बजरंग पुनिया बोले - Oversight Committee बनाने से पहले हम से कोई परामर्श नहीं किया गया     ||   यमुना एक्सप्रेस-वे पर कोहरे की वजह से 15 दिसंबर से स्पीड लिमिट कम कर दी जाएगी     ||   भारत की यात्रा करने वाले ब्रिटेन के नागरिकों के लिए ई-वीजा सुविधा फिर से शुरू     ||

आप विधायक ने विधानसभा में लहराईं नोटों की गड्डियां , कहा - ये रिश्वत का पैसा है

अंग्वाल न्यूज डेस्क
आप विधायक ने विधानसभा में लहराईं नोटों की गड्डियां , कहा - ये रिश्वत का पैसा है

नई दिल्ली । दिल्ली की आम आदमी पार्टी की सरकार में विधायक मोहिन्दर गोयल ने बुधवार को दिल्ली विधानसभा में नोटों की गड्डी लहराईं । एक थैले में नोट लेकर आए आप विधायक ने सदन में अपनी बात कहते हुए दावा कि ये रिश्वत में मिले पैसे हैं । उन्होंने सदन को बताया कि बाबा साहेब अंबेडकर अस्पताल में नर्सिंग समेत कई पदों पर भर्ती के लिए टेंडर निकला है । इसमें बड़े पैमाने पर उगाही होती है । रिठाला से विधायक मोहिन्दर गोयल ने कहा कि अस्पताल में विभिन्न पदों पर भर्ती के लिए सरकार का क्लॉज है कि 80 फीसदी पुराने कर्मचारियों को रखना है, लेकिन ऐसा नहीं होता । इसमें बड़े स्तर पर उगाही होती है । 

विधानसभा में इन नोटों की गड्डियों को लहराते हुए उन्होंने कहा कि इन टेंडरों के माध्यम से नौकरी लग जाने के बाद कर्मचारियों को पूरे पैसे नहीं मिलते हैं । ठेकेदार उनको मिलने वाली रकम में से बहुत सा पैसा खुद ले लेता है । इस मामले को लेकर कर्मचारी अस्पताल में धरने पर बैठे  , जहां उनके साथ मारपीट भी हुई है । 

रिठाला विधायक ने सदन को बताया कि इस दौरान खेल'' करने वाले लोगों ने मुझे भी अपने साथ मिलाने का प्रस्ताव दिया । इसकी जानकारी मैंने डीसीपी , मुख्य सचिव और उपराज्यपाल को दी थी । इस खेल को उजागर करने के लिए मैंने प्लान के तहत उन लोगों के साथ मिलने की हामी भरी, ताकि मैं उन लोगों को रिश्वत देते हुए रंगे हाथों पकड़वा सकूं । मुझे 15 लाख रुपये रिश्वत का पैसा दिए जाने की बात बताने के बावजूद उन लोगों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई । मैंने अपनी जान पर खेलकर इस पूरी साजिश का खुलासा किया , लेकिन उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई । वे लोग बहुत खतरनाक हैं , मेरी जान भी ले सकते हैं । ऐसे में इस मामले की निष्पक्ष जांच होनी चाहिए । 

Todays Beets: