Saturday, March 2, 2024

Breaking News

   एमसीडी में एल्डरमैन की नियुक्ति को चुनौती देने वाली याचिका पर SC 8 मई को करेगा सुनवाई     ||   यूक्रेन से युद्ध में दिसंबर से अब तक रूस के 20000 से ज्यादा लड़ाके मारे गए: अमेरिका     ||   IPL: मैच के बाद भिड़ गए थे गौतम गंभीर और विराट कोहली, लगा 100% मैच फी का जुर्माना     ||   पंजाब में 15 जुलाई तक सरकारी कार्यालयों में सुबह 7:30 बजे से दोपहर दो बजे तक होगा काम     ||   गैंगस्टर टिल्लू की लोहे की रोड और सूए से हत्या, गोगी गैंग के 4 बदमाशों ने किया हमला     ||   सुप्रीम कोर्ट ने 'द केरल स्टोरी' पर बैन लगाने की मांग वाली याचिका पर तुरंत सुनवाई से किया इनकार     ||   नीतीश कटारा हत्याकांड: SC में नियमित पैरोल की मांग करने वाली विशाल यादव की याचिका खारिज     ||   'मैंने सिर्फ इस्तीफा दिया है, बाकी काम करता रहूंगा' नेताओं के मनाने पर बोले शरद पवार     ||   सोनिया गांधी दिल्ली के गंगाराम अस्पताल में भर्ती    ||   कर्नाटक हिजाब केस में SC ने तुरंत सुनवाई से इंकार किया    ||

आप विधायक ने विधानसभा में लहराईं नोटों की गड्डियां , कहा - ये रिश्वत का पैसा है

अंग्वाल न्यूज डेस्क
आप विधायक ने विधानसभा में लहराईं नोटों की गड्डियां , कहा - ये रिश्वत का पैसा है

नई दिल्ली । दिल्ली की आम आदमी पार्टी की सरकार में विधायक मोहिन्दर गोयल ने बुधवार को दिल्ली विधानसभा में नोटों की गड्डी लहराईं । एक थैले में नोट लेकर आए आप विधायक ने सदन में अपनी बात कहते हुए दावा कि ये रिश्वत में मिले पैसे हैं । उन्होंने सदन को बताया कि बाबा साहेब अंबेडकर अस्पताल में नर्सिंग समेत कई पदों पर भर्ती के लिए टेंडर निकला है । इसमें बड़े पैमाने पर उगाही होती है । रिठाला से विधायक मोहिन्दर गोयल ने कहा कि अस्पताल में विभिन्न पदों पर भर्ती के लिए सरकार का क्लॉज है कि 80 फीसदी पुराने कर्मचारियों को रखना है, लेकिन ऐसा नहीं होता । इसमें बड़े स्तर पर उगाही होती है । 

विधानसभा में इन नोटों की गड्डियों को लहराते हुए उन्होंने कहा कि इन टेंडरों के माध्यम से नौकरी लग जाने के बाद कर्मचारियों को पूरे पैसे नहीं मिलते हैं । ठेकेदार उनको मिलने वाली रकम में से बहुत सा पैसा खुद ले लेता है । इस मामले को लेकर कर्मचारी अस्पताल में धरने पर बैठे  , जहां उनके साथ मारपीट भी हुई है । 

रिठाला विधायक ने सदन को बताया कि इस दौरान खेल'' करने वाले लोगों ने मुझे भी अपने साथ मिलाने का प्रस्ताव दिया । इसकी जानकारी मैंने डीसीपी , मुख्य सचिव और उपराज्यपाल को दी थी । इस खेल को उजागर करने के लिए मैंने प्लान के तहत उन लोगों के साथ मिलने की हामी भरी, ताकि मैं उन लोगों को रिश्वत देते हुए रंगे हाथों पकड़वा सकूं । मुझे 15 लाख रुपये रिश्वत का पैसा दिए जाने की बात बताने के बावजूद उन लोगों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई । मैंने अपनी जान पर खेलकर इस पूरी साजिश का खुलासा किया , लेकिन उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई । वे लोग बहुत खतरनाक हैं , मेरी जान भी ले सकते हैं । ऐसे में इस मामले की निष्पक्ष जांच होनी चाहिए । 

Todays Beets: