Friday, May 20, 2022

Breaking News

    रोडरेज मामले में सिद्धू को 1 साल कठोर कारावास की सजा, SC ने 34 साल पुराने केस में सुनाई सज़ा    ||   बिहार विधानसभा में कानून व्यवस्था को लेकर हंगामा, CPI-ML के 12 विधायकों को किया गया बाहर     ||   गौतमबुद्ध नगर के तीनों प्राधिकरणों के 49,500 करोड़ नहीं चुका रहीं रियल एस्टेट कंपनियां     ||   आंध्र प्रदेश: गुड़ी पड़वा के जश्न के दौरान भक्तों के बीच मंदिर में मारपीट, दुकानों में तोड़फोड़-आगजनी     ||   दिल्ली एयरपोर्ट पर रोके जाने के खिलाफ दिल्ली हाईकोर्ट पहुंचीं राणा अयूब     ||   सोनिया गांधी ने बोला केंद्र पर हमला, लगाया MGNREGA का बजट कम करने का आरोप     ||   केजरीवाल के आवास पर हमला: दिल्ली HC पहुंची AAP, एसआईटी गठन की मांग की     ||   राज्यसभा जा सकते हैं शिवपाल यादव! दो दिन से जारी है बीजेपी मुलाकातों का दौर     ||   यूपी हज समिति के अध्यक्ष बने मोहसिन रजा, राज्यमंत्री का भी दर्जा मिला     ||   दिल्ली: नई शराब नीति के विरोध में BJP, पटेल नगर समेत 14 जगहों पर शराब की दुकानें की सील     ||

मुंबई - राणा दंपत्ति को सेशन कोर्ट से बड़ी राहत , कई शर्तों के साथ मिली जमानत , मीडिया से बात करने की मनाही

अंग्वाल न्यूज डेस्क
मुंबई - राणा दंपत्ति को सेशन कोर्ट से बड़ी राहत , कई शर्तों के साथ मिली जमानत , मीडिया से बात करने की मनाही

मुंबई । हनुमान चालीसा पाठ को लेकर राजद्रोह का केस में जेल गए अमरावती से निर्दलीय सांसद नवनीत राणा और उनके विधायक पति रवि राणा को बुधवार सुबह बड़ी राहत मिली है ।  इस मामले में सेशन कोर्ट से दंपत्ति को 50 हजार के निजी मुचलके पर कई शर्तों के साथ जमानत दे दी है । कोर्ट ने शर्तों में कहा है कि राणा दंपत्ति न तो मीडिया से बात कर सकते हैं और न ही सबूतों से छेड़छाड़ की कोई कोशिश करेंगे । इतना ही नहीं कोर्ट ने दंपत्ति को हिदायत देते हुए कहा कि वह दोबारा ऐसा कोई अपराध नहीं करेंगे । इसके अलावा पुलिस उन्हें 24 घंटे पहले नोटिस देगी, जिसके बाद उन्हें पुलिस स्टेशन में हाजिरी देने जाना होगा । बहरहाल , खबर है कि वह शाम तक जेल से बाहर आ जाएंगे । 

विदित हो कि गत 23 अप्रैल को राणा दंपत्ति को महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे के आवास 'मातोश्री' के बाहर हनुमान चालीसा का पाठ करने की घोषणा से होने वाले विवाद के चलते गिरफ्तार कर लिया गया था । 

गत शनिवार को मुंबई की सेशन कोर्ट ने दोनों पक्ष के वकीलों ने जमानत अर्जी को लेकर अपनी अपनी दलीलें दी थाीं , जिसके बाद कोर्ट ने जमानत पर फैसले को सुरक्षित रख लिया था । मंगलवार को आदेश इसलिए नहीं दिया जा सका क्योंकि अदालत अन्य मामलों में व्यस्त थी और इस केस से संबंधित कुछ दस्तावेज पूरे नहीं हो पाए थे । 


बहरहाल , कोर्ट ने बुधवार को दंपत्ति को कई शर्तों के साथ जमानत दे दी है । कोर्ट का कहना है कि जमानत मिलने के बाद अगर वे दोबारा से इस तरह की हरकतें करते हैं तो उनकी जमानत रद्द हो जाएगी । 

हालांकि इससे पहले राणा दंपति ने अपने खिलाफ राजद्रोह और दुश्मनी को बढ़ावा देने के आरोप में मुंबई पुलिस की एफआईआर के मामले में जमानत के लिए अदालत का रुख किया था । उनकी जमानत याचिका में कहा गया था कि 'मातोश्री' के बाहर हनुमान चालीसा का पाठ करने के आह्वान को विभिन्न समूहों के बीच दुश्मनी या घृणा की भावना को बढ़ावा देने के उद्देश्य वाला नहीं कहा जा सकता और आईपीसी की धारा 153 (ए) के तहत इस आरोप को कायम नहीं रखा जा सकता । उन्होंने अपनी याचिका में कहा था कि उनका इरादा किसी को भड़काने का नहीं था । 

 

Todays Beets: