Sunday, February 5, 2023

Breaking News

   Supreme Court: कलेजियम की सिफारिशों को रोके रखना लोकतंत्र के लिए घातक: जस्टिस नरीमन     ||   Ghaziabad: NGT के फैसले पर नगर निगम को SC की फटकार, 1 करोड़ जमा कराने की शर्त पर वूसली कार्रवाई से राहत     ||   दिल्लीः फ्लाइट में स्पाइसजेट की क्रू के साथ अभद्रता के मामले में एक्शन, आरोपी गिरफ्तार     ||   मोरबी ब्रिज हादसा: ओरेवा ग्रुप के मालिक जयसुख पटेल के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी     ||   भारत जोड़ो यात्राः राहुल गांधी बोले- हम चाहते हैं कि बहाल हो जम्मू कश्मीर का राज्य का दर्जा     ||   MP में नहीं माने बजरंग दल और हिंदू जागरण मंच, 'पठान' की रिलीज के विरोध का किया ऐलान     ||   समाजवादी पार्टी के नेता स्वामी प्रसाद मौर्या पर लखनऊ में FIR     ||   बजरंग पुनिया बोले - Oversight Committee बनाने से पहले हम से कोई परामर्श नहीं किया गया     ||   यमुना एक्सप्रेस-वे पर कोहरे की वजह से 15 दिसंबर से स्पीड लिमिट कम कर दी जाएगी     ||   भारत की यात्रा करने वाले ब्रिटेन के नागरिकों के लिए ई-वीजा सुविधा फिर से शुरू     ||

आर्थिक संकट से जूझते पाकिस्तान में नया संकट , POK के गिलगित - बाल्टिस्तान में उठी मांग - हमें भारत में मिलाया जाए

अंग्वाल न्यूज डेस्क
आर्थिक संकट से जूझते पाकिस्तान में नया संकट , POK के गिलगित - बाल्टिस्तान में उठी मांग - हमें भारत में मिलाया जाए

न्यूज डेस्क । आर्थिक संकट से जूझ रहे पाकिस्तान के हालात दिनों दिन खराब होते जा रहे हैं। पाकिस्तान में रोजमर्रा की जरूरतों के लिए जारी जद्दोजहद के बीच एक नया संकट आ गया है । असल में पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (POK) के गिलगित बाल्टिस्तान में एक बार फिर से सरकार विरोधी मुहिम तेज हो गई है । दरअसल, पाकिस्तान सरकार की भेदभावपूर्ण और दमनकारी नीतियों से यहां के लोग काफी नाराज हैं । स्थानीय लोगों ने अपना शोषण किए जाने से तंग आकर भारत के लद्दाख में साथ आने की मांग की है । गिलगित बाल्टिस्तान के लोगों की नाराजगी भरी रैली के कई वीडियो इन दिनों सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहे हैं । 

लोगों की मांग करगिल सड़क को खोला जाए

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो में लोग कारगिल सड़क को फिर से खोलने की बात कहते नजर आ रहे हैं । इन लोगों को कहते सुना जा सकता है कि भारत के केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख के कारगिल जिले में बाल्टिस्तान का दोबारा से मिलाया जाए । असल में पिछले 12 दिनों से पाकिस्तान सरकार के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन चल रहा है । 


कई मांगों को लेकर सड़कों पर आए लोग

बता दें कि गिलगित बाल्टिस्तान लोगों ने देश में गेहूं समेत अन्य खाद्य सामाग्री पर सब्सिडी की बहाली, लोड-शेडिंग, अवैध जमीन पर कब्जा और क्षेत्र के प्राकृतिक संसाधनों के शोषण जैसे कई मुद्दों को उठाया है । अक्सर खबरें आती रहती हैं कि पाकिस्तान की लेना ने गिलगित बाल्टिस्तान की जमीन और संसाधनों पर जबरदस्ती का कब्जा कर रहे हैं ।  

दशकों पुरानी है मांग

विदित हो कि पाकिस्तान सेना और सरकार के खिलाफ लंबे समय से विरोध हो रहा है , जहां जमीन का मुद्दा कई दशकों पुराना है । हालांकि साल 2015 से स्थानीय लोग यह तर्क दे रहे हैं कि जमीन गिलगित बाल्टिस्तान के लोगों की है, क्योंकि यह क्षेत्र पीओके आता है ।  हालांकि, जिला प्रशासन का कहना है कि जमीन पाकिस्तानी राज्य से संबंधित किसी व्यक्ति को हस्तांतरित नहीं की गई है । 

Todays Beets: