Friday, September 17, 2021

Breaking News

   तेजस्वी यादव बोले- पेड़, जानवरों की गिनती हो सकती है तो फिर जाति आधारित जनगणना क्यों नहीं     ||   तालिबान की अमेरिका को धमकी, 31 अगस्त के बाद भी रही सेना तो अंजाम भुगतने के लिए तैयार रहे    ||   कर्नाटक CM से स्थानीय BJP विधायक की मांग- कोरोना के चलते किसी भी हिंदू पर्व पर ना लगे बंदिशें    ||   तेजप्रताप की नाराजगी के सवाल पर बोले तेजस्वी- राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर ही देंगे जवाब    ||   अंडमान एंड निकोबार के पोर्ट ब्लेयर में महसूस किए गए 4.3 तीव्रता के भूकंप     ||   दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने कनॉट प्लेस पर भारत के पहले स्मॉग टावर का उद्घाटन किया     ||   गुजरात में शराबबंदी के खिलाफ हाईकोर्ट में याचिका मंजूर, 12 अक्टूबर को होगी सुनवाई     ||   सिंगापुर के स्वास्थ्य मंत्री ने चेताया, आर्थिक गतिविधियां खुलने के साथ ही बढ़ सकते हैं कोरोना के मामले     ||   पत्नी शालिनी के आरोपों पर बोले हनी सिंह- सभी आरोप गलत, कोर्ट में चल रहा केस     ||   रांचीः महिला हॉकी में झारखंड से शामिल हर खिलाड़ियों को मिलेंगे 50-50 लाख रुपयेः CM हेमंत सोरेन     ||

संसद LIVE - विपक्ष के हंगामे पर पीएम बोले - दलितों-OBC का मंत्री बनना कुछ लोगों को रास नहीं आया

अंग्वाल न्यूज डेस्क
संसद LIVE - विपक्ष के हंगामे पर पीएम बोले - दलितों-OBC का मंत्री बनना कुछ लोगों को रास नहीं आया

नई दिल्ली । संसद के मानसून सत्र की सोमवार को शुरुआत हो गई । संसद के दोनों सदनों में पहले ही दिन जमकर हंगामा हुआ । नए मंत्रियों के परिचय के दौरान विपक्ष ने जमकर हंगामा शुरू कर दिया । इस सबके बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विपक्ष को जमकर आड़े हाथ लिया । मॉनसून सत्र के पहले दिन लोकसभा में पीएम मोदी जैसे ही बोलने के लिए उठे, विपक्षी दलों ने हंगामा शुरू कर दिया । कांग्रेस सांसद महंगाई पर और अकाली व बसपा सांसद किसानों के मुद्दे पर वेल में आ गए। पीएम मोदी ने कहा - मुझे लगा था कि आज उत्साह का दिन होगा, लेकिन दलित, महिलाओं और OBC के लोगों को मंत्री बनाए जाने की बात विपक्ष को हजम नहीं हो रही है । उन्होंने कहा कि कुछ लोगों को यह बात रास नहीं आ रही है कि कैसे किसान के बच्चे मंत्री बन गए हैं । इस सबके बीच विपक्ष ने जमकर हंगामा किया , जिसके चलते सदन को स्थगित करना पड़ा । 

सरकार जनता को जवाब देगी

पीएम मोदी ने कहा, 'देश की जनता, जो जवाब चाहती है सरकार सब जवाब देने को तैयार है । विपक्ष से आग्रह है कि सभी मुद्दों पर चर्चा के बाद सरकार का जवाब भी सुनने को तैयार रहें , ताकि जनता तक बातें पहुंच सके. महामारी के खिलाफ लड़ाई में कमियां रह गई हो तो दूर किया जा सकता है ।

विपक्ष सवाल पूछे , लेकिन जवाब भी सुने

इस दौरान पीएम मोदी ने कहा, 'विपक्ष धारदार सवाल पूछे, लेकिन जवाब भी सुने । हम विपक्ष से हर चर्चा के लिए तैयार है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि सदन और सदन से बाहर दोनों जगहों पर चर्चा करेंगे। उन्होंने कहा - 'मैं आशा करता हूं कि आप सबको वैक्सीन की कम से कम एक डोज लग गई होगी । वैक्सीन बाहु पर लगती है और जब वैक्सीन बाहु पर लगती है तो आप बाहुबली बन जाते हैं । अब तक 40 करोड़ से ज़्यादा लोग कोरोना के खिलाफ लड़ाई में बाहुबली बन चुके हैं । 


राज्यसभा भी स्थगित

वहीं राज्यसभा में भी मानसून सत्र के पहले दिन जमकर हंगामा हुआ । विपक्ष के भारी हंगामे के बाद राज्य सभा की कार्यवाही भी दोपहर 3 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई है । इससे पहले लोक सभा की कार्यवारी 3.30 बजे तक स्थगित कर दी गई  । इससे पहले राज्य सभा में सदन के नेता पीयूष गोयल (Piyush Goyal) ने कहा, 'हम आज सत्र के पहले दिन विपक्षी सांसदों के व्यवहार की निंदा करते हैं । हमने लोक सभा और राज्य सभा दोनों में एक बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण स्थिति देखी । राज्य सभा में सभापति का अभिभाषण भी बाधित हुआ ।  उन्होंने आगे कहा, 'विपक्षी दलों ने पुरानी परंपरा को तोड़ा है, क्योंकि हमेशा से ऐसी परंपरा रही है प्रधानमंत्री संसद में अपने नए मंत्रियों का परिचय कराते हैं, लेकिन विपक्ष ने ऐसा करने से रोका ये बहुत निंदनीय है ।

कांग्रेस का भी हल्ला बोल

कांग्रेस नेता शशि थरूर ने कहा, 'हमें कोरोना कुप्रबंधन, चीन, किसानों, बेरोजगारी सहित कई मुद्दों पर चर्चा करने के लिए तैयार रहना चाहिए । अगर सरकार हर दिन रचनात्मक चर्चा करने के लिए तैयार होगी तो संसद वैसे चलेगी जैसे लोग उम्मीद करते हैं, सरकार संसद को ​नोटिस बोर्ड की तरह इस्तेमाल करना चाहती है । 

Todays Beets: