Friday, September 17, 2021

Breaking News

   तेजस्वी यादव बोले- पेड़, जानवरों की गिनती हो सकती है तो फिर जाति आधारित जनगणना क्यों नहीं     ||   तालिबान की अमेरिका को धमकी, 31 अगस्त के बाद भी रही सेना तो अंजाम भुगतने के लिए तैयार रहे    ||   कर्नाटक CM से स्थानीय BJP विधायक की मांग- कोरोना के चलते किसी भी हिंदू पर्व पर ना लगे बंदिशें    ||   तेजप्रताप की नाराजगी के सवाल पर बोले तेजस्वी- राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर ही देंगे जवाब    ||   अंडमान एंड निकोबार के पोर्ट ब्लेयर में महसूस किए गए 4.3 तीव्रता के भूकंप     ||   दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने कनॉट प्लेस पर भारत के पहले स्मॉग टावर का उद्घाटन किया     ||   गुजरात में शराबबंदी के खिलाफ हाईकोर्ट में याचिका मंजूर, 12 अक्टूबर को होगी सुनवाई     ||   सिंगापुर के स्वास्थ्य मंत्री ने चेताया, आर्थिक गतिविधियां खुलने के साथ ही बढ़ सकते हैं कोरोना के मामले     ||   पत्नी शालिनी के आरोपों पर बोले हनी सिंह- सभी आरोप गलत, कोर्ट में चल रहा केस     ||   रांचीः महिला हॉकी में झारखंड से शामिल हर खिलाड़ियों को मिलेंगे 50-50 लाख रुपयेः CM हेमंत सोरेन     ||

पंजाब - CM अमरिंदर ने अपने सांसदों विधायकों को लंच पर बुलाया , सिद्धू को अब तक नहीं भेजा न्योता

अंग्वाल न्यूज डेस्क
पंजाब - CM अमरिंदर ने अपने सांसदों विधायकों को लंच पर बुलाया , सिद्धू को अब तक नहीं भेजा न्योता

चंडीगढ़ । पंजाब कांग्रेस में जारी गतिरोध अपने चरम पर पहुंच गया है । जहां पंजाब कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष को लेकर जारी उपापोह की स्थिति के बीच सुबे के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने आगामी 21 जुलाई को अपने सभी सांसदों -विधायकों को पंचकुला में लंच पर बुलाया है । हालांकि खास बात यह है कि अब तक विरोधी खेमे का नेतृत्व कर रहे नवजोत सिंह सिद्धू को न्योता नहीं भेजा गया है । इस सबको लेकर नया विवाद खड़ा हो गया है । हालांकि सिद्धू ने अभी तक इस मुद्दे पर अपनी कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है । वहीं चंड़ीगढ़ में पंजाब कांग्रेस के दफ्तर से सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह के सभी पोस्टर हटा दिए गए हैं । इसकी जगह अब सिद्धू के पोस्टर लगाए गए हैं। 

बता दें कि सीएम अमरिंदर सिंह पर वादाखिलाफी का आरोप लगाते हुए पंजाब कांग्रेस के कई विधायक दिल्ली आलाकमान के पास अपनी शिकायत दर्ज करा चुके हैं । इस सबके बीच पंजाब कांग्रेस में काफी बदलाव की आशंका जताई गई , लेकिन कुछ महीने बीत जाने के बाद भी अभी तक आलाकमान कोई बड़ा फैसला नहीं ले पाई है । 

पंजाब कांग्रेस में जारी गतिरोध को खत्म करने के लिए आलाकमान ने तीन सदस्यीय कमेटी बनाकर मामले को शांत करने की भी कोशिश की थी , लेकिन अभी तक कुछ नहीं हुआ है । सोनिया गांधी से कैप्टन और सिद्धू की मुलाकातों का दौर भी चला लेकिन स्थिति अभी पहले की तरह बिगड़ी हुई है । 


इस सबके बीच कैप्टन अमरिंदर सिंह ने इस गतिरोध को खत्म करने के लिए पहली बार अपनी तरह से पहल की है । उन्होंने पंचकुला में अपने सभी सांसदों विधायकों को लंच पर बुलाया है । लेकिन सूत्रों का कहना है कि अभी तक सिद्धू को कोई न्योता नहीं भेजा गया है । 

 

Todays Beets: