Tuesday, October 26, 2021

Breaking News

   52वां इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल ऑफ इंडिया 20 से 28 नवंबर तक गोवा में होगा     ||   पीएम मोदी की अपील- मेड इन इंडिया सामान खरीदने पर जोर दें, इसके लिए सब प्रयास करें     ||   भारत में 100 करोड़ वैक्सीनेशन पर बिल गेट्स ने दी पीएम मोदी को बधाई     ||   सेना की 39 महिला अफसरों की बड़ी जीत, मिलेगा स्थायी कमीशन; SC ने दिया आदेश     ||   बिहार में महागठबंधन टूटा, कांग्रेस का ऐलान 2024 के आम चुनाव में सभी 40 सीटों पर लड़ेगी पार्टी     ||   तेजस्वी यादव बोले- पेड़, जानवरों की गिनती हो सकती है तो फिर जाति आधारित जनगणना क्यों नहीं     ||   तालिबान की अमेरिका को धमकी, 31 अगस्त के बाद भी रही सेना तो अंजाम भुगतने के लिए तैयार रहे    ||   कर्नाटक CM से स्थानीय BJP विधायक की मांग- कोरोना के चलते किसी भी हिंदू पर्व पर ना लगे बंदिशें    ||   तेजप्रताप की नाराजगी के सवाल पर बोले तेजस्वी- राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर ही देंगे जवाब    ||   अंडमान एंड निकोबार के पोर्ट ब्लेयर में महसूस किए गए 4.3 तीव्रता के भूकंप     ||

क्या अमरिंदर सिंह भाजपा में शामिल होंगे! कैप्टन ने गृहमंत्री अमित शाह के घर जाकर मुलाकात की 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
क्या अमरिंदर सिंह भाजपा में शामिल होंगे! कैप्टन ने गृहमंत्री अमित शाह के घर जाकर मुलाकात की 

नई दिल्ली । पंजाब कांग्रेस कमेटी में मचे हंगामे के बीच पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने बुधवार को केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात की । इस मुलाकात से पहले यह बातें उठने लगी थी कि कैप्टन अमरिंदर सिंह कांग्रेस की इस बेरुखी से खासे नाराज हैं और वह भाजपा में भी शामिल हो सकते हैं । इसी क्रम में आज वह दिल्ली में अमित शाह के घर पहुंचे और कई मुद्दों पर चर्चा की । खबरें हैं कि इस दौरान दोनों के बीच कृषि कानून के ड्राफ्ट को लेकर भी मंथन हुआ है । बाद में उन्होंने खुद ट्वीट करते हुए जानकारी दी कि उन दोनों के बीच किसानों के आंदोलन , एमएसपी के मुद्दे पर चर्चा हुई है । हालांकि राजनीति के जानकारों का कहना है कि कैप्टन का भाजपा में शामिल होना इतना आसान नहीं होगा , वह लंबे समय तक भाजपा की नीतियों की खिलाफत करते रहे हैं । 

बता दें कि पंजाब कांग्रेस में बुधवार को भारी हंगामा हुआ । जहां सिद्धू के इस्तीफे के बाद उनके समर्थक विधायकों ने भी इस्तीफा दिया , वहीं पार्टी आलाकमान सिद्धू के फैसले से चौंक गए हैं । पार्टी के भीतर सिद्धू की राय को लेकर दो राय वाले लोग खड़े हो गए हैं । इससे इतर , अमरिंदर ने भी दिल्ली पहुंचकर न केवल आलाकमान के लिए परेशानी खड़ी कर दी , बल्कि उनके अमित शाह से मुलाकात करने की खबरों ने चिंता और बढ़ा दी । 

असल में सिद्धू के इस्तीफे और पंजाब में नए मंत्रियों को विभागों के बंटवारे के तुरंत बाद मंगलवार को ही कैप्टन दिल्ली पहुंचे । हालांकि मंगलवार को जब कैप्टन अमरिंदर सिंह से पूछा गया कि क्या उनकी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की मुलाकात तय है, तो उन्होंने इससे इनकार किया ।  कैप्टन ने कहा था कि वे किसी से मिलने नहीं आए हैं बल्कि दिल्ली में सरकारी आवास खाली करने आए हैं. साथ ही अगले कदम पर कैप्टन ने कहा था, राजनीतिक लिहाज से अगर कोई भी नया कदम उठाऊंगा तो सबको बताऊंगा । 


इस सबके बाद बुधवार को अमरिंदर ने अमित शाह के घर जाकर उनसे मुलाकात की । 45 मिनट की इस मुलाकात के दौरान दोनों ने कृषि कानून के ड्राफ्ट को लेकर भी बात की । उन्होंने ट्वीट करके बताया कि उनकी किसानों के आंदोलन के साथ ही , फसल विविधिकरण में पंजाब का समर्थन , तीनों कृषि कानूनों को निरस्त करने के साथ ही एमएसपी की गारंटी को लेकर बात हुई । इस दौरान अमरिंदर सिंह ने आने वाली धान की फसलों को लेकर किसानों को कोई दिक्कत न हो, इसे लेकर भी बात की । 

हालांकि जब उनसे कांग्रेस में बने रहने की बात पूछी गई तो उन्होंने कोई स्पष्ट जवाब नहीं दिया ।  हालांकि उन्होंने इतना जरूर कहा, 'कांग्रेस से जुड़ा रहूंगा या नहीं इसका जवाब फिलहाल नहीं दे सकता। 

Todays Beets: