Tuesday, April 16, 2024

Breaking News

   एमसीडी में एल्डरमैन की नियुक्ति को चुनौती देने वाली याचिका पर SC 8 मई को करेगा सुनवाई     ||   यूक्रेन से युद्ध में दिसंबर से अब तक रूस के 20000 से ज्यादा लड़ाके मारे गए: अमेरिका     ||   IPL: मैच के बाद भिड़ गए थे गौतम गंभीर और विराट कोहली, लगा 100% मैच फी का जुर्माना     ||   पंजाब में 15 जुलाई तक सरकारी कार्यालयों में सुबह 7:30 बजे से दोपहर दो बजे तक होगा काम     ||   गैंगस्टर टिल्लू की लोहे की रोड और सूए से हत्या, गोगी गैंग के 4 बदमाशों ने किया हमला     ||   सुप्रीम कोर्ट ने 'द केरल स्टोरी' पर बैन लगाने की मांग वाली याचिका पर तुरंत सुनवाई से किया इनकार     ||   नीतीश कटारा हत्याकांड: SC में नियमित पैरोल की मांग करने वाली विशाल यादव की याचिका खारिज     ||   'मैंने सिर्फ इस्तीफा दिया है, बाकी काम करता रहूंगा' नेताओं के मनाने पर बोले शरद पवार     ||   सोनिया गांधी दिल्ली के गंगाराम अस्पताल में भर्ती    ||   कर्नाटक हिजाब केस में SC ने तुरंत सुनवाई से इंकार किया    ||

2000 के नोट बंद करने पर RBI गवर्नर बोले – हमारा नया नोट लाने का मकसद पूरा हुआ

अंग्वाल न्यूज डेस्क
2000 के नोट बंद करने पर RBI गवर्नर बोले – हमारा नया नोट लाने का मकसद पूरा हुआ

नई दिल्ली । RBI Governor Shakti kant Das Reaction on 2000 Rupees Notes । भारत के केंद्रीय बैंक रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के गवर्नर शक्तिकांत दास ने सरकार द्वारा 2000 रुपये के नोट बंद किए जाने पर अपनी पहली प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि 2000 का नोट लाने का सरकार का मकसद पूरा हो गया है । इससे किसी भी व्यक्ति को परेशानी नहीं होगी। बैंकों को 2000 के नोट बदलने के पूरी तैयारी करने के निर्देश दे दिए गए हैं । वह बोले - 2000 रुपये के नोट मुख्य रूप से नोटबंदी के बाद वापस लिए गए नोटों की भरपाई के लिए पेश किया गया था । अब क्योंकि बाजार में और वैल्यू के नोटों की कोई कमी नहीं है, तो इन्हें चलन से बाहर करने का फैसला लिया गया है । उन्होंने फिर से दोहराते हुए कहा कि 30 सितंबर 2023 तक 2000 रुपये का नोट लीगल टेंडर बना रहेगा । निर्धारित तारीख तक ये नोट बैंकों में आसानी से जमा और बदले जा सकते हैं ।

फैसला क्लीन नोट पॉलिसी का हिस्सा

आरबीआई गवर्नर ने कहा कि 2000 के नोट को चलन से बाहर करना क्लीन नोट पालिसी का हिस्सा है । इसे आरबीआई के करेंसी मैनजेंमेंट सिस्टम का हिस्सा माना जाना चाहिए । नोट बदलने के लिए काफी समय है लिहाजा लोग नोट बदलने में किसी तरह की अफरातफरी न करें ।  जो कठिनाई होगी आरबीआई उसे सुनेगा और पुराने नोट बदलने के लिए लगाई पाबंदी के तहत किसी तरह की दिक्कत जनता को ना हो, इसका ध्यान रखा गया है ।

लोगों को चार महीने का समय दिया गया


RBI गवर्नर ने कहा कि लोगों को नोट बदलने के लिए चार महीने का समय दिया गया है । इस समयावधि में लोग आसानी से अपने नोट बदल सकते हैं । हालांकि उन्होंने साथ ही कहा इस मामले को गंभीरता से लें । साथ ही कहा कि इन 2000 के नोटों को बदलने के लिए लगाई पाबंदी को आप किसी तरह की दिक्कत ना मानें । भारत का करेंसी मैनेजमेंट सिस्टम काफी मजबूत है । 500 रुपये के और नोट लाए जाने का फैसला जनता की मांग पर निर्भर करेगा ।  

बैंक नोट बदलने का डाटा तैयार करेंगे

शक्तिकांत दास ने कहा कि इस बड़े नोट को बाजार में लाने के कई कारण थे । इस कदम को पॉलिसी के तहत कदम उठाया गया था । पुराने नोट बदलने के लिए लगाई पाबंदी को लोग गंभीरता से लेंगे तो अच्छा रहेगा  । हालांकि बैंकों को नोट बदलने का डेटा तैयार करना होगा और 2000 के नोट का ब्योरा बैंक रखेंगे । 2000 के नोट बदलने की सुविधा सामान्य रहेगी । 2000 का नोट बदलने के लिए चार महीने का समय दिया गया है और बैंकों में पूरी तैयारी की गई है ।  लोग बैंक आने में जल्दबाजी ना करें और बाजार में दूसरे नोटों की कमी नहीं है ।

Todays Beets: