Friday, June 18, 2021

Breaking News

   राम मंदिर ट्रस्ट में भी उठे जमीन खरीद पर सवाल, सीएम योगी ने मांगी रिपोर्ट     ||   यूपीः बसपा से बागी हुए 9 विधायक आज अखिलेश यादव से करेंगे मुलाकात     ||   वैक्सीन विवाद पर अखिलेश यादव बोले, पहले यूपी की सारी जनता को लग जाए, फिर मैं लगवा लूंगा     ||   कांग्रेस ने चिराग को दिया न्योता, एमएलसी प्रेम चंद बोले- उनके आने से बिहार में विपक्ष मजबूत होगा     ||   बिहार में कल से एक हफ्ते तक लॉकडाउन में ढील, लेकिन नाइट कर्फ्यू लागू रहेगा     ||   पाकिस्तान: आपस में दो ट्रेन टकराईं, 30 की मौत, ट्रेन में अभी भी फंसे हुए हैं बहुत से यात्री     ||   उत्तराखंड: सुनगर के पास हुआ भारी भूस्खलन, गंगोत्री हाइवे हुआ बंद, खुलने में लगेगा वक्त     ||   विवादों में आई 'Family Man 2', बैन लगाने के लिए तमिल नेताओं ने Amazon को लिखा पत्र     ||   केरलः पीटी उषा की सीएम विजयन से अपील- सभी खिलाड़ियों, उनके कोच और स्टाफ को वैक्सीनेट किया जाए     ||   इंडियन मेडिकल एसोसिएशन का दावा, कोरोना की दूसरी लहर में 269 डॉक्टरों ने जान गंवाई     ||

केजरीवाल के सिंगापुर स्ट्रेन वाले बयान पर हंगामा , भारतीय उच्चायुक्त तलब , MEA ने दी सफाई

अंग्वाल न्यूज डेस्क
केजरीवाल के सिंगापुर स्ट्रेन वाले बयान पर हंगामा , भारतीय उच्चायुक्त तलब , MEA ने दी सफाई

नई दिल्ली । दिल्ली की आम आदमी पार्टी के संयोजक और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के एक बयान ने बुधवार को अच्छा खासा बखेड़ा शुरू कर दिया है । केजरीवाल के कोरोना के सिंगापुर स्ट्रेन को लेकर केंद्र सरकार के एक्शन लेने और सिंगापुर से आने वाले सभी फ्लाइट को बंद करने के आग्रह पर अब सिंगापुर सरकार ने अपनी नाराजगी जताई है । इस हंगामे के चलते सिंगापुर सरकार ने वहां भारतीय उच्चायुक्त को तलब किया है । वहीं भारत में सिंगापुर के राजदूत ने अपने एक बयान में कहा है कि केजरीवाल के बयान में कोई सच्चाई नहीं है । इस बखेड़े के बाद अब भारतीय विदेश मंत्रालय हरकत में आ गया है ।     

जानें क्या बोले थे केजरीवाल

बता दें कि केजरीवाल ने मंगलवार ने एक ट्वीट कर लिखा - सिंगापुर में आया कोरोना का नया रूप बच्चों के लिए बेहद ख़तरनाक बताया जा रहा है । भारत में ये तीसरी लहर के रूप में आ सकता है । केंद्र सरकार से मेरी अपील है कि सिंगापुर के साथ हवाई सेवाएं तत्काल प्रभाव से रद्द की जाएं और बच्चों के लिए भी वैक्सीन के विकल्पों पर प्राथमिकता के आधार पर काम किया जाए। 

सिंगापुर का आया जवाब

केजरीवाल के इस बयान पर जहां सिंगापुर में भारतीय उच्चायुक्त को तलब किया गया है , वहीं भारत में सिंगापुर के राजदूत ने एक ट्वीट करके लिखा - इस बात में कोई सच्चाई नहीं है कि सिंगापुर में COVID का नया स्ट्रेन मिला है । सिंगापुर में फाइलोजेनेटिक टेस्ट में मिला B.1.617.2 वैरिएंट बच्चों सहित कोरोना के ज्यादातर मामलों में प्रबल है ।


सक्रिय हुई केंद्र सरकार

इस पूरे घटनाक्रम पर अब MEA की भी प्रतिक्रिया सामने आई है । भारत सरकार की ओर से बयान जारी करके कहा गया है कि कोरोना वैरिएंट या विमान पॉलिसी को लेकर कोई बयान देने का अधिकार नहीं है । 

विदेश मंत्री जयशंकर ने इस मुद्दे पर कहा कि भारत और सिंगापुर दोनों ही कोरोना के खिलाफ लड़ रहे हैं । इस लड़ाई में सिंगापुर ने भारत की जो मदद की है , उसके लिए हम आभार प्रकट करते हैं। मैं साफ कर देना चाहता हूं कि दिल्ली के मुख्यमंत्री का बयान , भारत का बयान नहीं है । 

वहीं , विमानन मंत्री हरदीप सिंह पुरी (Hardeep Singh Puri) ने अरविंद केजरीवाल की चिंता के जवाब में कहा कि सिंगापुर के हालात पर केंद्र सरकार की नजर है और सभी सावधानियां बरती जा रही हैं । पुरी ने ट्वीट करके कहा कि सभी अंतरराष्ट्रीय उड़ानें मार्च 2020 से ही बंद हैं. सिंगापुर के साथ हमारा एयर बबल समझौता भी नहीं है ।   

Todays Beets: