Friday, February 26, 2021

Breaking News

   सरकार की सत्याग्रही किसानों को इधर-उधर की बातों में उलझाने की कोशिश बेकार है-राहुल गांधी     ||   थाइलैंड में साइना नेहवाल कोरोना पॉजिटिव, बैडमिंटन चैम्पियनशिप में हिस्सा लेने गई हैं विदेश     ||   एयर एशिया के विमान से पुणे से दिल्ली पहुंची कोरोना वैक्सीन की पहली खेप     ||   फिटनेस समस्या की वजह से भारत-ऑस्ट्रेलिया चौथे टेस्ट से गेंदबाज जसप्रीत बुमराह बाहर     ||   दिल्ली: हरियाणा के डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला की पार्टी विधायकों के साथ बैठक, किसान आंदोलन पर चर्चा     ||   हम अपने पसंद के समय, स्थान और लक्ष्य पर प्रतिक्रिया देने का अधिकार सुरक्षित रखते हैं- आर्मी चीफ     ||   कानपुर: विकास दुबे और उसके गुर्गों समेत 200 लोगों की असलहा लाइसेंस फाइल हुई गायब     ||   हाथरस कांड: यूपी सरकार ने SC में पीड़िता के परिवार की सुरक्षा पर दाखिल किया हलफनामा     ||   लखनऊ: आत्मदाह की कोशिश मामले में पूर्व राज्यपाल के बेटे को हिरासत में लिया गया     ||   मानहानि केस: पायल घोष ने ऋचा चड्ढा से बिना शर्त माफी मांगी     ||

सुप्रीम कोर्ट ने व्हाट्सएप को सुनाई खरी खरी , कहा - होगी अरबों की आपकी कंपनी लेकिन यूजर की प्राइवेसी महत्वपूर्ण

अंग्वाल न्यूज डेस्क
सुप्रीम कोर्ट ने व्हाट्सएप को सुनाई खरी खरी , कहा - होगी अरबों की आपकी कंपनी लेकिन यूजर की प्राइवेसी महत्वपूर्ण

नई दिल्ली । सुप्रीम कोर्ट ने एक बार फिर से व्हाट्सएप को करारी फटकार लगाई है । मैसेजिंग एप WhatsApp की नई प्राइवेसी पॉलिसी (Whatsapp New Privacy Policy) के लगातार सवालों के घेरे में आने के बाद सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने फेसबुक (Facebook) और व्हाट्सएप (WhatsApp) को नोटिस जारी किया है । चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया (CJI) ने फेसबुक (Facebook) और व्हाट्सएप (WhatsApp) को नई प्राइवेसी पॉलिसी को लेकर नोटिस इश्यू करते हुए कहा कि यूजर की प्राइवेसी को सुरक्षित रखा जाना बेहद महत्वपूर्ण है । सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के नोटिस के जवाब में फेसबुक और व्हाट्सएप को यह बात स्पष्ट करनी होगी कि यूजर्स का किस तरह का डेटा शेयर किया जा रहा है और किस तरह का डेटा शेयर नहीं किया जा रहा । 

बता दें कि चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया ने इस मामले में फेसबुक और व्हाट्सएप (WhatsApp, Facebook) पर तल्ख टिप्पणी करते हुए कहा कि आप  होंगे 2-3 ट्रिलियन डॉलर की कम्पनी, लेकिन लोगों की प्राइवेसी उससे भी अधिक कीमती है । इसकी रक्षा हमारी ड्यूटी है । चीफ जस्टिस की इस टिप्पणी पर WhatsApp ने सुप्रीम कोर्ट से कहा, यूरोप में प्राइवेसी पर स्पेशल कानून है, अगर भारत में भी इसी तरह का कानून है तो इसका पालन करेंगे । मामले की अगली सुनवाई 4 हफ्ते बाद होगी । 


विदित हो कि 5 जनवरी को WhatsApp ने अपनी नई प्राइवेसी पॉलिसी का ऐलान किया था , जिसके बाद से यूजर अपनी नाराजगी जता रहे हैं । यूजर के दूसरे प्लेटफॉर्म पर जाने के साथ ही कोर्ट में भी एक याचिका दाखिल की गई है । 

 

Todays Beets: