Saturday, March 2, 2024

Breaking News

   एमसीडी में एल्डरमैन की नियुक्ति को चुनौती देने वाली याचिका पर SC 8 मई को करेगा सुनवाई     ||   यूक्रेन से युद्ध में दिसंबर से अब तक रूस के 20000 से ज्यादा लड़ाके मारे गए: अमेरिका     ||   IPL: मैच के बाद भिड़ गए थे गौतम गंभीर और विराट कोहली, लगा 100% मैच फी का जुर्माना     ||   पंजाब में 15 जुलाई तक सरकारी कार्यालयों में सुबह 7:30 बजे से दोपहर दो बजे तक होगा काम     ||   गैंगस्टर टिल्लू की लोहे की रोड और सूए से हत्या, गोगी गैंग के 4 बदमाशों ने किया हमला     ||   सुप्रीम कोर्ट ने 'द केरल स्टोरी' पर बैन लगाने की मांग वाली याचिका पर तुरंत सुनवाई से किया इनकार     ||   नीतीश कटारा हत्याकांड: SC में नियमित पैरोल की मांग करने वाली विशाल यादव की याचिका खारिज     ||   'मैंने सिर्फ इस्तीफा दिया है, बाकी काम करता रहूंगा' नेताओं के मनाने पर बोले शरद पवार     ||   सोनिया गांधी दिल्ली के गंगाराम अस्पताल में भर्ती    ||   कर्नाटक हिजाब केस में SC ने तुरंत सुनवाई से इंकार किया    ||

अमेरिका में ''हिमयुग'' - एरिजोना में जमी झील पर चल रहे तीन भारतीयों की बर्फ टूटने से मौत , US में हालात बेकाबू

अंग्वाल न्यूज डेस्क
अमेरिका में

न्यूज डेस्क । अमेरिका में इन दिनों आए बर्फिले तूफान ने पूरे देश में तबाही मचाई हुई है । इस सबके बीच भारत के लिए एक बुरी खबर आई है । असल में अमेरिका के एरिजोना की कोकोनिनो काउंट की बर्फ से जमी हुई वुड्स केनन झील पर चल रहे तीन भारतियों की बर्फ टूटकर ठंडे पानी में गिरने से मौत हो गई है । घटना गत 26 दिसंबर क शाम की है । बर्फ के चलने के दौरान एकाएक तीनों भारतीयों को महसूस हुआ कि बर्फ टूट रही है , इन्होंने वहां से हटने की कोशिश की , लेकिन तब तक बर्फ बीच में से टूटी और तीनों झील के ठंडे पानी में डूब गए । 

पुलिस ने शवों की शिनाख्त की

इन तीनों से झील में गिरने की सूचना मिलते ही स्थानीय पुलिस ने इन्हें बचाने की काफी मशक्कत की , लेकिन बचा नहीं पाई । बहरहाल , इस हादसे में मरने वाले तीनों लोगों की पहचान हो गई है। इनके नाम नारायण मुद्दाना (49) और गोकुल मेदीसेती (47) के साथ हरिथा मुद्दाना नाम की एक महिला है । सभी मृतक एरिजोना के चांडलर में रुके थे और भारत के रहने वाले थे । 

बचाने की कई कोशिशें हुईं 


पुलिस अधिकारियों ने बताया कि घटना की सूचना मिलते ही बचाव दल की एक टीम ने हरिथा को बहुत जल्दी पानी से बाहर निकाल लिया था । इसके बाद बचाव दल ने उनकी जान बचाने के लिए तत्काल जरूरी कदम उठाए, लेकिन सभी कोशिशें बेकार रहीं । मौके पर ही हरिथा की मौत हो गई । हालांकि झील में गिरे नारायण और गोकुल के शव काफी देर बाद मिले। 

अब तक 60 से ज्यादा लोगों की मौत

अंतरराष्ट्रीय मी़डिया के हवाले से आ रही खबरों के अनुसार , अमेरिका में आया यह तूफान सदी का सबसे खतरनाक बर्फीला तूफान है । यह बर्फीला तूफान आर्कटिक डीप फ्रीज की वजह से आया है । इस बर्फीले तूफान की वजह से अब तक अमेरिका में 60 से ज्यादा मौतें हो चुकी हैं । कई लोग बर्फीले तूफान से बचने के लिए जहां रुके वहीं फंस गए । कुछ लोग गाड़ी में मृत पाए गए हैं तो कुछ लोग बर्फ में जमे मिले हैं । अभी भी रह रहकर लोगों के शव बरामद हो रहे हैं। वहीं  ठंड की वजह से कई प्रांतों में फ्लाइट्स और ट्रेनें भी रद्द कर दी गई हैं । इतना ही नहीं सड़क यातायात भी पूरी तरह से प्रभावित हो गया है । बर्फ को हटाने वाले वाहन भी इस बर्फबारी की चपेट में आ गए हैं। 

Todays Beets: