Thursday, June 27, 2019

Breaking News

   आईबी के निदेशक होंगे 1984 बैच के आईपीएस अरविंद कुमार, दो साल का होगा कार्यकाल    ||   नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत का कार्यकाल सरकार ने दो साल बढ़ाया    ||   BJP में शामिल हुए INLD के राज्यसभा सांसद राम कुमार कश्यप और केरल के पूर्व CPM सांसद अब्दुल्ला कुट्टी    ||   टीम इंडिया की जर्सी पर विवाद के बीच आईसीसी ने दी सफाई, इंग्लैंड की जर्सी भी नीली इसलिए बदला रंग    ||   PIL की सुनवाई के लिए SC ने जारी किया नया रोस्टर, CJI समेत पांच वरिष्ठ जज करेंगे सुनवाई    ||   अमित शाह बोले - साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के गोसडे पर दिए बयान से भाजपा का सरोकार नहीं    ||   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||

सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या में विवादित जगह पर पूजा वाली याचिका खारिज की , 5 लाख जुर्माने से भी राहत नहीं

अंग्वाल संवाददाता
सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या में विवादित जगह पर पूजा वाली याचिका खारिज की , 5 लाख जुर्माने से भी राहत नहीं

नई दिल्ली । देश में लोकसभा चुनावों का पहला चरण खत्म हो गया है। इसमें उत्तर प्रदेश की 8 सीटों पर भी मतदान हुआ, जहां राम मंदिर एक बड़ा मुद्दा रहा । इस सब के बीच शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या में विवादित जगह पर पूजा की इजाजत की मांग वाली एक नई याचिका को खारिज कर दिया है। चीफ जस्टिस ने इस याचिका को खारिज करते हुए याचिकाकर्ता को आड़े हाथ भी लिया । उन्होंने याचिकाकर्ता के प्रति नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि आप जैसे लोग देश को शांति से नहीं रहने देंगे।

बता दें कि अमरनाथ मिश्रा नामक शख्स ने कुछ समय पहले इलाहबाद हाईकोर्ट में एक याचिका दायर करते हुए अयोध्या में विवादित जगह पर पूजा की इजाजत मांगी थी। हाईकोर्ट ने उनकी याचिका को खारिज करने के साथ ही याचिकाकर्ता पर 5 लाख रुपये का जुर्माना भी लगा दिया था। हाईकोर्ट के इस फैसले के विरोध में याचिकाकर्ता ने सुप्रीम कोर्ट का रुख किया था, जिसे आज सुप्रीम कोर्ट से भी फटकार के साथ झटका लगा है ।

सुप्रीम कोर्ट ने अमरनाथ मिश्रा की याचिका को खारिज करते हुए कहा कि आज जैसे लोग देश में बनी शांति के लिए बाधा उत्पन्न करते हैं। इस दौरान कोर्ट ने उन्हें राहत न देते हुए हाईकोर्ट द्वारा लगाया गए 5 लाख रुपये के जुर्माने को भी हटाने से इंकार कर दिया।


 

 

Todays Beets: