Monday, August 26, 2019

Breaking News

   Parle में छंटनी का संकट: मयंक शाह बोले- सरकार से अहसान नहीं मांग रहे     ||   ILFS लोन मामले में MNS प्रमुख राज ठाकरे से ED की पूछताछ    ||   दिल्ली: प्रगति मैदान के पास निर्माणाधीन इमारत में लगी आग    ||   मध्य प्रदेश: टेरर फंडिंग मामले में 5 हिरासत में, जांच जारी     ||   जिन्होंने 72 हजार देने का वादा किया था, वे 72 सीटें भी नहीं जीत पाए : मोदी     ||   प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 25 अगस्त को दिन में 11 बजे करेंगे मन की बात     ||   कोलकाता के पूर्व मेयर और TMC विधायक शोभन चटर्जी, बैसाखी बनर्जी BJP में शामिल     ||   गुजरात में बड़ा हमला कर सकते हैं आतंकी, सुरक्षा एजेंसियों का राज्य पुलिस को अलर्ट     ||   अयोध्या केस: मध्यस्थता की कोशिश खत्म, कल सुप्रीम कोर्ट में होगी सुनवाई     ||   पोंजी घोटाला: 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया आरोपी मंसूर खान     ||

चीफ जस्टिस ने अनुच्‍छेद -370 हटाने की याचिका वाले वकील को फटकारा , कहा- यह क्‍या बकवास अर्जी है

अंग्वाल न्यूज डेस्क
चीफ जस्टिस ने अनुच्‍छेद -370 हटाने की याचिका वाले वकील को फटकारा , कहा- यह क्‍या बकवास अर्जी है

नई दिल्‍ली । जहां एक ओर आज कश्मीर मुद्दे पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद एक बैठक करने जा रही है । वहीं सुप्रीम कोर्ट में जम्मू कश्मीर से हटाए गए अनुच्छेद 370 को लेकर एक जनहित याचिका पर चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने याचिकाकर्ता को जमकर फटकार लगाई । कोर्ट ने याचिका दायर करनेवाले अधिवक्ता एमएल शर्मा से कहा कि यह कैसी याचिका दायर की है । इतने गंभीर मुद्दे पर ये क्या बकवास याचिका दायर है । इतना ही नहीं सीजेआई ने कहा - जनहित याचिका के साथ कोई एनेक्‍सचर नहीं लगाया गया है । मैं आपकी याचिका आधे घंटे से पढ़ने की कोशिश कर रहा हूं, लेकिन कुछ समझ नहीं पा रहा । कुछ भी समझ नहीं पाया हूं कि आप क्या कहना चाहते हैं। 

असल में अनुच्छेद 37 0 हटाए जाने के विरोध में अधिवक्ता एमएल शर्मा ने एक जनहित याचिका सुप्रीम कोर्ट में दायर की थी , जिस पर सुनवाई से पहले ही सीजेआई ने याचिकाकर्ता को जमकर फटकार लगाई । उन्होंने कहा - आपकी याचिका ऐसी नहीं है जिस पर सुनवाई की जा सके । आपकी याचिका हम खरिज कर देते, लेकिन ऐसा करने से इस मामले में दायर कई और याचिकाओं पर असर पड़ेगा । 


इस दौरान कोर्ट की ओर से कहा गया कि जम्‍मू कश्‍मीर से अनुच्‍छेद 370 हटाए जाने को लेकर छह याचिकाएं दायर हुई हैं, लेकिन उनमें से चार अभी भी दोषपूर्ण हैं और यह मुद्दे पर याचिकाकर्ता की गंभीरता को दर्शाता है । कोर्ट ने कहा कि सभी याचिकाओं को एक साथ सुनेगें ।  

Todays Beets: