Saturday, September 26, 2020

Breaking News

   कप्तान धोनी ने IPL2020 की शुरुआत जीत से की,जानिये कैसे ?     ||   लखनऊ: यूपी में आकाशीय बिजली से हुई मौत के मामले में परिजनों को 4 लाख मुआवजा     ||   कोरोना काल में भाजपा सरकार ने अनेक ख्याली पुलाव पकाए, लेकिन एक सच भी था? -राहुल गांधी     ||   पिछले 6 महीने में भारत-चीन सीमा पर कोई घुसपैठ नहीं: राज्यसभा में गृह मंत्रालय का बयान     ||   राजस्थान: बूंदी में चंबल नदी में नाव डूबने से 6 लोगों की मौत, 12 लोगों को रेस्क्यू किया गया     ||   मुंबई: बच्चन परिवार को अतिरिक्त सुरक्षा मुहैया कराएगी मुंबई पुलिस     ||   राज्यसभा में BJP MP विनय सहस्रबुद्धे का बयान, महाराष्ट्र सरकार ही अवैध निर्माण का प्रतीक     ||   ग्रीनलैंड में सबसे बड़ा ग्लेशियर टूटा, चंडीगढ़ के बराबर बर्फ की चट्टान समुद्र में     ||   किसान बिल के विरोध पर बोले नड्डा- कांग्रेस पहले समर्थन में थी, अब राजनीति कर रही     ||   राजस्थान में फिर सियासी ड्रामा, BJP के बहाने गहलोत-पायलट में ठनी     ||

चीनी सैनिकों ने इन हथियारों से किया था भारतीय जवानों पर हमला , पहले से छिपाए हुए थे कीलों वाले ये हथियार

चीनी सैनिकों ने इन हथियारों से किया था भारतीय जवानों पर हमला , पहले से छिपाए हुए थे कीलों वाले ये हथियार

नई दिल्ली । तिब्बत में LAC के करीब भारत और चीनी सैनिकों के बीच हुई झड़प में जहां 20 भारतीय जवान शहीद हो गए , वहीं 45 के करीबी चीनी सैनिकों की मौत हुई है । चीन ने एक साजिश के तहत भारतीय जवानों पर उस समय हमला किया था जब वह सीमा पर तनाव कम करने के लिए बातचीत को गए थे । इस दौरान भारतीय जवान हथियार लेकर नहीं गए थे , जिसका फायदा उठाते हुए चीनी जवानों ने नुकीली कीलों वाले मोटे मोटे सरियों से भारतीय जवानों पर हमला किया था । इस हथियारों की तस्वीरें अब सामने आई हैं , जिसके बाद साफ हो गया है कि आखिर चीनी सैनिकों ने कैसे पहले से तैयार साजिश के तहत भारतीय जवानों पर हमला किया । भारत के विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने भी चीनी विदेश मंत्री को साफ कहा है कि ये हमला चीन ने पूरी प्लानिंग के साथ किया है और चीन ही इसका जिम्मेदार है।

विदित हो कि भारत और चीन के बीच लद्दाख में पिछले कई दिनों से तनाव की स्थिति बनी हुई थी. लेकिन 15-16 जून की रात को ये तनाव हिंसक झड़प में बदल गया, इसमें देश के 20 जवान शहीद हो गए । इस बीच उस हथियार की  सामने आई है, जिनसे चीनी सैनिकों ने भारतीय सैनिकों को निशाना बनाया । इस तरह की जानकारी मिली है कि चीनी सैनिक पहले से ही कुछ कवच पहनकर बैठे थे, ताकि भारतीय जवान अगर पलटवार करें तो उन्हें कम नुकसान पहुंचे । जहां पर भारत के जवान बात करने गए थे वहां भी इन नुकीले हथियारों को छुपाकर रखा गया था ।


इन हथियारों की तस्वीरें साफ दिखाती हैं कि यह कोई अचानक से होने वाली झड़प नहीं है ।  कोई अचानक हुई झड़प नहीं है । बल्कि चीन ने धोखा देकर घात लगाकर भारतीय जवानों को निशाना बनाया । इन्हीं नुकीले हथियारों की वजह से कई भारतीय जवानों के शव क्षत विक्षत मिले हैं । सिर्फ बीते दिनों की झड़प में ही नहीं, बल्कि मई के शुरुआती महीने में जो झड़प हुई थी तब भी चीनी सैनिकों ने इन्हीं का इस्तेमाल किया था । 6 जून को भारत और चीन के सैनिकों ने बात करके ये तय किया था कि 15 जून के बाद से सैनिकों को पीछे भेजा जाना शुरू होगा ।

Todays Beets: