Thursday, January 23, 2020

Breaking News

   सुरक्षा परिषद के मंच का दुरुपयोग करके कश्मीर मसले को उछालने की कोशिश कर रहा PAK: भारतीय विदेश मंत्रालय     ||   IIM कोझिकोड में बोले पीएम मोदी- भारतीय चिंतन में दुनिया की बड़ी समस्याओं को हल करने का है सामर्थ    ||   बिहार में रेलवे ट्रैक पर आई बैलगाड़ी को ट्रेन ने मारी टक्कर, 5 लोगों की मौत, 2 गंभीर रूप से घायल     ||   CAA और 370 पर बोले मालदीव के विदेश मंत्री- भारत जीवंत लोकतंत्र, दूसरे देशों को नहीं करना चाहिए दखल     ||   जेएनयू के वाइस चांसलर जगदीश कुमार ने कहा- हिंसा को लेकर यूनिवर्सिटी को बंद करने की कोई योजना नहीं     ||   मायावती का प्रियंका पर पलटवार- कांग्रेस ने की दलितों की अनदेखी, बनानी पड़ी BSP     ||   आर्मी चीफ पर भड़के चिदंबरम, कहा- आप सेना का काम संभालिए, राजनीति हमें करने दें     ||   राजस्थान: BJP प्रतिनिधिमंडल ने कोटा के अस्पताल का दौरा किया, 48 घंटों में 10 नवजात शिशुओं की हुई थी मौत     ||   दिल्ली: दरियागंज हिंसा के 15 आरोपियों की जमानत याचिका पर 7 जनवरी को सुनवाई करेगा तीस हजारी कोर्ट     ||   रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की सुरक्षा में चूक, मोटरसाइकिल काफिले के सामने आया शख्स     ||

ईरानी सेना ने माना - मानवीय भूल के चलते एयरक्राफ्ट को हमने निशाना बनाया , जताया शोक

अंग्वाल न्यूज डेस्क
ईरानी सेना ने माना - मानवीय भूल के चलते एयरक्राफ्ट को हमने निशाना बनाया , जताया शोक

नई दिल्ली । ईरान में गत दिनों हादसे का शिकार बताए जा रहे यूक्रेन के यात्री विमान को लेकर साफ हो गया है कि यह विमान किसी हादसे का नहीं बल्कि ईरान की मिसाइल का निशाना बना था । अमेरिका ने इस दावे के साथ कहा कि ईरान ने यूक्रेन के यात्री विमान को अमेरिका का बमवर्षक विमान समझकर उसपर मिसाइल दागी थी , जिसके चलते विमान में बैठे सभी 176 यात्रियों और क्रू मेंबर की मौत हो गई थी । हालांकि अमेरिका के इस दावे को ईरान सरकार ने तो खारिज करते हुए कहा कि दोनों देशों के बीच तनाव की स्थिति में अमेरिका ऐसी अफवाह उड़ाकर मनौवैज्ञानिक दबाव बनाने की कोशिश कर रहा है । लेकिन न्यूज एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक, ईरान की मिलिट्री ने स्टेट टीवी को एक बयान जारी कर बताया है कि मानवीय भूल की वजह से उसने एयरक्राफ्ट को निशाना बनाया । मिलिट्री का कहना है कि विमान ईरान की सेंसिटिव मिलिट्री साइट के पास उड़ रहा था । बयान में ये भी कहा गया है कि मिलिट्री का ज्यूडिशियल डिपार्टमेंट मामले की जांच करेगा और घटना की जवाबदेही तय की जाएगी । ईरानी मिलिट्री ने मृतक के परिवार वालों के लिए शोक जताया है । 

बता दें कि अमेरिका ने उपग्रह के आकंड़ों का हवाला देते हुए दावा किया है कि ईरान ने यूक्रेन के यात्री विमान को अमेरिकी बमवर्षक विमान समझकर उसपर मिसाइल दाग दी थी । यात्री विमान के उड़ान भरने साथ ही ईरान ने सतह से हवा में मार करने वाली दो मिसाइल दागी थी। इस दौरान एक फुटेज भी सामने आई है कि जिसमें यूक्रेन के विमान को हवा में फटते दिखाया गया है । 

अमेरिकी खुफिया एजेंसियों के हवाले से मीडिया रिपोर्ट में कहा गया है कि उपग्रह ने दो मिसाइल लांच करने के इंफ्रारेड ब्लिप्स को देखा था और इसके बाद विस्फोट नजर आया । एक अन्य रिपोर्ट में कहा गया है कि इस यात्री विमान को रूस की बनी टोर मिसाइल से निशाना बनाया गया । 


बहरहाल , ईरान ने अमेरिका के इन दावों को खारिज करते हुए इस तनाव की स्थिति में महज एक मनोवैज्ञानिक दबाव बनाने की चाल बताया । ईरान के नागरिक उड्डयन प्रमुख अली आबेदजाहेद ने कहा कि यह बात तय है कि यह विमान किसी मिसाइल हमले से नहीं गिरा है । उन्होंने कहा कि हादसे के वक्त नजर आया था कि विमान एक से डेढ़ मिनट तक हवा में था और उसमें आग लगी हुई थी । 

लेकिन इसके बाद ईरान की मिलिट्री ने एक बयान जारी कर साफ किया कि यह हादसा एक मानवीय भूल के चलते हुआ।  मिलिट्री का कहना है कि विमान ईरान की सेंसिटिव मिलिट्री साइट के पास उड़ रहा था । इस दौरान मानवीय भूल के चलते इस हादसे का शिकार हुआ । वहीं बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक, एविएशन सेफ्टी एनालिस्ट टोड कर्टिस ने कहा था- 'प्लेन बुरी तरह टुकड़ों में बंट गया था. इसका मतलब है कि या तो हवा में या जमीन पर विमान की भयंकर टक्कर हुई. इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता कि हवा में एयरक्राफ्ट की टक्कर किसी बाहरी चीज से नहीं हुई होगी। 

Todays Beets: