Friday, August 23, 2019

Breaking News

   Parle में छंटनी का संकट: मयंक शाह बोले- सरकार से अहसान नहीं मांग रहे     ||   ILFS लोन मामले में MNS प्रमुख राज ठाकरे से ED की पूछताछ    ||   दिल्ली: प्रगति मैदान के पास निर्माणाधीन इमारत में लगी आग    ||   मध्य प्रदेश: टेरर फंडिंग मामले में 5 हिरासत में, जांच जारी     ||   जिन्होंने 72 हजार देने का वादा किया था, वे 72 सीटें भी नहीं जीत पाए : मोदी     ||   प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 25 अगस्त को दिन में 11 बजे करेंगे मन की बात     ||   कोलकाता के पूर्व मेयर और TMC विधायक शोभन चटर्जी, बैसाखी बनर्जी BJP में शामिल     ||   गुजरात में बड़ा हमला कर सकते हैं आतंकी, सुरक्षा एजेंसियों का राज्य पुलिस को अलर्ट     ||   अयोध्या केस: मध्यस्थता की कोशिश खत्म, कल सुप्रीम कोर्ट में होगी सुनवाई     ||   पोंजी घोटाला: 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया आरोपी मंसूर खान     ||

पाकिस्तान पर एयरस्ट्राइक का इटैलियन पत्रकार ने किया खुलासा , कहा- करीब 170 लोग मारे गए , कई का इलाज अभी भी जारी

अंग्वाल न्यूज डेस्क
पाकिस्तान पर एयरस्ट्राइक का इटैलियन पत्रकार ने किया खुलासा , कहा- करीब 170 लोग मारे गए , कई का इलाज अभी भी जारी

नई दिल्ली । जम्मू कश्मीर के पुलवामा में आतंकी हमले को अंजाम देने के बाद भारतीय वायुसेना ने गत 26 फरवरी को पाक अधिकृत कश्मीर समेत पाकिस्तान के बालाकोट में एयर स्ट्राइक कर वहां आतंकी कैंप को तबाह किया था । हालांकि इस पर भारत में विपक्ष के कुछ दलों ने सवाल उठाते हुए फिर से सबूत मांगे थे । इस सब के बाद अब इटली की एक पत्रकार ने दावा किया है कि भारत की एयरस्ट्राइक में कई आतंकी मारे गए हैं, जबकि अभी भी 45 के करीब लोग पाकिस्तान के अस्पतालों में इलाज करवा रहे हैं। इटली की पत्रकार फ्रेंसेसा मैरिनो ने Stringerasi.it में इस घटना से संबंधित के रिपोर्ट छापी है । इस रिपोर्ट के बाद देश-दुनिया के लोग हैरान हैं ।

मैरिनो ने अपनी रिपोर्ट में लिखा है कि 'भारतीय वायु सेना ने तड़के साढ़े तीन बजे हमला किया । उन्होंने लिखा है कि मुझे जो सूचना मिली है उसके मुताबिक - मेरी सूचना के मुताबिक, शिंकयारी आर्मी कैंप से सेना की एक टुकड़ी घटनास्थल पर पहुंची थी । वहां पहुंची पाकिस्तानी सेना ने घायलों को पाकिस्तान आर्मी के अस्पताल में पहुंचाया, जहां पिछले कुछ दिनों में 20 लोगों की मौत हो गई है , जबकि अभी भी 45 लोगों का इलाज चल रहा है । मैरिनो ने अपनी रिपोर्ट में लिखा है कि उनकी जानकारी के मुताबिक -  मृतकों की संख्या 130-170 तक हो सकती है. इसमें वे लोग भी हैं जिनकी मौत इलाज के दौरान हुई है ।

पीएम मोदी की तुलना दुर्योधन से कर प्रियंका बोलीं- जब नाश मनुज पर छाता है, पहले विवेक मर जाता है

बता दें कि पुलवामा आतंकी हमले के बाद भारत ने पाकिस्तान के बालाकोट में एयरस्टाइक की थी, जिसमें बड़ी संख्या में आतंकियों के मारे जाने की खबरें सामने आईं थी, हालांकि इनकी पुष्टि न तो पाकिस्तान सरकार ने की , न ही मरने वालों के संबंध में भारत सरकार ने ही कोई सबूत पेश किया। इसके चलते विपक्ष ने मोदी सरकार पर सबूत मांगने शुरू कर दिए थे । इस मुद्दे को लेकर विपक्षी दलों के कई नेताओं ने मोदी सरकार को घेरा भी । सरकार से लेकर सेना तक को इस मामले में बयान जारी करना पड़ा । सेना ने कहा था कि वह मारता है शव गिनने का काम उनका नहीं है ।

आम आदमी पार्टी का कार्यकर्ता ही निकला केजरीवाल को थप्पड़ मारने वाला , नए वीडियो ने 'आप' के दावे खारिज किए


इस सब बयानों के बाद अब इटली की पत्रकार मैरिनो की एक रिपोर्ट सामने आई है । उन्होंने अपने रिपोर्ट में लिखा है कि भारतीय वायुसेना के हमले के बाद सेना की एक टुकड़ी घटनास्थल पर सुबह  6 बजे पहुंची । शिंकयारी बालाकोट से 20 किलोमीटर दूर है और यह पाकिस्तान आर्मी का बेस कैंप भी है। इस जगह पर पाकिस्तानी सेना की जूनियर लीडर्स एकेडमी भी है। आर्मी की टुकड़ी के बालाकोट पहुंचते ही वहां से कई जख्मी लोगों  को पाकिस्तान आर्मी के अस्पताल पहुंचाया गया. स्थानीय सूत्रों के मुताबिक आर्मी कैंप के अस्पताल में अभी भी तकरीबन 45 लोगों का इलाज चल रहा है। इलाज के दौरान 20 लोगों की मौत हो चुकी है।'

पांचवें चरण के मतदान के साथ सरकार गठन की कवायद तेज, केसी राव मिले केरल के मुख्यमंत्री से

उन्होंने अपनी रिपोर्ट में लिखा - एयरस्ट्राइक के बाद जिन्हें घायलावस्था में अस्पतालों में भर्ती किया गया था, उनमें से कुछ लोग ठीक भी हो गए हैं, लेकिन अभी भी वह पाकिस्तान आर्मी की कस्टडी में हैं। उन्हें अस्पताल से छुट्टी नहीं दी गई है । मैरिनो ने लिखा - मैं अपनी कई हफ्तों की छानबीन कर यह जानकारी जुटा पाई हूं कि इस घटना में जैश-ए-मोहम्मद के कई कैडर मारे गए हैं । मृतकों की संख्या 130-170 तक हो सकती है । इसमें वे लोग भी हैं जिनकी मौत इलाज के दौरान हुई है। मरने वालों में कई ट्रेनर भी हैं । इनकी मौत की जानकारी किसी को न लगे, इसके लिए उनके परिजनों को घर जाकर मुआवजा दिया गया है ।

 

Todays Beets: