Thursday, June 27, 2019

Breaking News

   आईबी के निदेशक होंगे 1984 बैच के आईपीएस अरविंद कुमार, दो साल का होगा कार्यकाल    ||   नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत का कार्यकाल सरकार ने दो साल बढ़ाया    ||   BJP में शामिल हुए INLD के राज्यसभा सांसद राम कुमार कश्यप और केरल के पूर्व CPM सांसद अब्दुल्ला कुट्टी    ||   टीम इंडिया की जर्सी पर विवाद के बीच आईसीसी ने दी सफाई, इंग्लैंड की जर्सी भी नीली इसलिए बदला रंग    ||   PIL की सुनवाई के लिए SC ने जारी किया नया रोस्टर, CJI समेत पांच वरिष्ठ जज करेंगे सुनवाई    ||   अमित शाह बोले - साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के गोसडे पर दिए बयान से भाजपा का सरोकार नहीं    ||   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||

मोदी सरकार निजी क्षेत्र के एक्सपर्ट को देगी अहम विभागों में निदेशक - उप सचिव बनने का मौका , जल्द जारी होगा विज्ञापन

अंग्वाल न्यूज डेस्क
मोदी सरकार निजी क्षेत्र के एक्सपर्ट को देगी अहम विभागों में निदेशक - उप सचिव बनने का मौका , जल्द जारी होगा विज्ञापन

नई दिल्ली । निजी क्षेत्र के कुछ एक्सपर्ट को केंद्र की मोदी सरकार अपने साथ जोड़ने की योजना बना रही है । जानकारी के मुताबिक , केंद्र सरकार उप-सचिव और निदेशक स्तर के कुछ पदों पर निजी क्षेत्र के विशेषज्ञों को नियुक्त कर सकती है । सरकार की योजनाओं को जमीनी स्तर पर लाने के लिए इन पदों को अहम माना जाता है। आम तौर पर इन पदों को आईएएस जैसी समूह क की सेवाओं और केंद्रीय सचिवालय सेवा के अधिकारियों की प्रोन्नति से भरा जाता है । इस बारे में बुधवार को जानकारी देते हुए अधिकारियों ने कहा कि कार्मिक और प्रशिक्षण विभाग के सचिव सी चंद्रमौली ने विभाग के अधिकारियों को विभिन्न क्षेत्रों में विशेषज्ञता रखने वाले निजी क्षेत्र के अधिकारियों को उप-सचिव और निदेशक स्तर के पदों पर भर्ती करने के औपचारिक प्रस्ताव तैयार करने को कहा है ।

पीएम मोदी ने पाकिस्तान के रास्ते बिश्केक जाने से किया मना , अब ओमान के एयरस्पेस का करेंगे इस्तेमाल

जानकारी के मुताबिक , नीति आयोग ने अपनी एक रिपोर्ट में कहा कि निजी क्षेत्र के विशेषज्ञों को सीधे उच्च पदों पर निश्चित अवधि के अनुबंध पर व्यवस्था में शामिल किया जाए । अधिकारियों ने कहा कि आयोग भी उप-सचिव से लेकर संयुक्त सचिव तक के विभिन्न पदों पर विशेषज्ञों के नियुक्त करने पर विचार कर रहा है। शुरू में ऐसे कुल 40 अधिकारियों को नियुक्त किया जा सकता है । निजी क्षेत्र से विशेषज्ञों की नियुक्ति को लेकर जल्दी ही विज्ञापन जारी किया जा सकता है ।


लंदन कोर्ट ने नीरव मोदी की जमानत अर्जी चौथी बार खारिज की , कहा - कर सकते हैं सबूतों से छेड़छाड़

कार्मिक मंत्रालय ने पिछले साल जून में संयुक्त सचिव स्तर के पदों पर सीधी नियुक्ति को लेकर आवेदन मंगाये थे । सरकारी विज्ञापन के जवाब में कुल 6,077 आवेदन मिले थे । संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) ने इस साल अप्रैल में संयुक्त सचिव पद पर निजी क्षेत्र के नौ विशेषज्ञों का चयन किया ।

LIVE - कोलकाता में भाजपा के कैंडल मार्च में मचा 'कोहराम' , भाजपा कार्यकर्ताओं पर छोड़े गए आँसू गैस के गोले

Todays Beets: