Saturday, April 4, 2020

Breaking News

   भोपाल की बडी झील में पलटी आईपीएस अधिकारियों की नाव, कोई जनहानी नहीं    ||   सुरक्षा परिषद के मंच का दुरुपयोग करके कश्मीर मसले को उछालने की कोशिश कर रहा PAK: भारतीय विदेश मंत्रालय     ||   IIM कोझिकोड में बोले पीएम मोदी- भारतीय चिंतन में दुनिया की बड़ी समस्याओं को हल करने का है सामर्थ    ||   बिहार में रेलवे ट्रैक पर आई बैलगाड़ी को ट्रेन ने मारी टक्कर, 5 लोगों की मौत, 2 गंभीर रूप से घायल     ||   CAA और 370 पर बोले मालदीव के विदेश मंत्री- भारत जीवंत लोकतंत्र, दूसरे देशों को नहीं करना चाहिए दखल     ||   जेएनयू के वाइस चांसलर जगदीश कुमार ने कहा- हिंसा को लेकर यूनिवर्सिटी को बंद करने की कोई योजना नहीं     ||   मायावती का प्रियंका पर पलटवार- कांग्रेस ने की दलितों की अनदेखी, बनानी पड़ी BSP     ||   आर्मी चीफ पर भड़के चिदंबरम, कहा- आप सेना का काम संभालिए, राजनीति हमें करने दें     ||   राजस्थान: BJP प्रतिनिधिमंडल ने कोटा के अस्पताल का दौरा किया, 48 घंटों में 10 नवजात शिशुओं की हुई थी मौत     ||   दिल्ली: दरियागंज हिंसा के 15 आरोपियों की जमानत याचिका पर 7 जनवरी को सुनवाई करेगा तीस हजारी कोर्ट     ||

निगम बोध घाट ने कोरोना से पीड़ित महिला का अंतिम संस्कार करने से मना किया

अंग्वाल न्यूज डेस्क
निगम बोध घाट ने कोरोना से पीड़ित महिला का अंतिम संस्कार करने से मना किया

नई दिल्ली । दिल्ली में कोरोना वायरस का खौफ किस कदर फैल रहा है , इसकी बानगी शनिवार सुबह निगम बोध घाट पर देखने को मिली । असल में कोरोना वायरस के चलते दिल्ली के राम मनोहर लोहिया अस्पताल में जिस महिला की मौत हुई , उसके शव के दाह संस्कार से निगम बोध घाट प्रशासन ने मना कर दिया है । घाट प्रशासन ने उन्हें लोधी गार्डन जाकर अंतिम संस्कार करने को कहा , लेकिन वहां भी परिजनों को मना कर दिया गया है । इस सब के बाद परिजन इस पशोपेश में रहे कि आखिर वह शव का अंतिम संस्कार करें तो कहां करें । लेकिन मीडिया में खबर आने के बाद घाट प्रशासन ने आखिरकार डॉक्टरों की मौजूदगी में शव का अंतिम संस्कार करने की इजाजत दी ।

बता दें कि कोरोना वायरस के चलते दिल्ली के आरएमएल अस्पताल में भर्ती 69 वर्षीय महिला की मौत हो गई है । कोरोना वायरस से मरने वालों में वह दूसरी शख्स थीं। उनकी मौत के बाद अस्पताल प्रशासन ने अपनी एक टीम के साथ शव को परिजनों को सौंपा था । इस सब के बाद परिजनों ने शनिवार को उनके अंतिम संस्कार के लिए निगम बोध घाट का रुख किया , लेकिन वहां पहुंचने पर घाट प्रशासन ने उन्हें अंतिम संस्कार की अनुमति नहीं दी । 

घाट प्रशासन ने कहा कि इस शव को लोधी गार्डन स्थिति घाट पर ले जाया जाए । जब परिजनों ने वहां फोन किया तो उन्होंने भी यह कहते हुए अंतिम संस्कार करने से मना कर दिया कि निगम बोध घाट वालों ने मना कर दिया है तो हम भी अंतिम संस्कार नहीं कर सकते।


इस सब के बाद पीड़ित परिजन निगम बोध घाट पर महिला के शव को लेकर पशोपेश की स्थिति में नजर आए । हालांकि जब इस बात की खबर मीडिया में आई तो घाट प्रशासन ने कुछ डॉक्टरों की मौजूदगी में कोरोना से पीड़ित महिला के शव का अंतिम संस्कार करने देने की इजाजत दे दी।

विदित हो कि महिला का बेटा पिछले दिनों विदेश यात्रा से भारत लौटा था , जो कोरोना वायरस से ग्रसित था । बेटे के चलते मां को इस वायरस ने लपेटा था । मां इसके अलावा हाइपरटेंशन और डायबिटीज की मरीज रही थीं। 

Todays Beets: