Wednesday, April 1, 2020

Breaking News

   भोपाल की बडी झील में पलटी आईपीएस अधिकारियों की नाव, कोई जनहानी नहीं    ||   सुरक्षा परिषद के मंच का दुरुपयोग करके कश्मीर मसले को उछालने की कोशिश कर रहा PAK: भारतीय विदेश मंत्रालय     ||   IIM कोझिकोड में बोले पीएम मोदी- भारतीय चिंतन में दुनिया की बड़ी समस्याओं को हल करने का है सामर्थ    ||   बिहार में रेलवे ट्रैक पर आई बैलगाड़ी को ट्रेन ने मारी टक्कर, 5 लोगों की मौत, 2 गंभीर रूप से घायल     ||   CAA और 370 पर बोले मालदीव के विदेश मंत्री- भारत जीवंत लोकतंत्र, दूसरे देशों को नहीं करना चाहिए दखल     ||   जेएनयू के वाइस चांसलर जगदीश कुमार ने कहा- हिंसा को लेकर यूनिवर्सिटी को बंद करने की कोई योजना नहीं     ||   मायावती का प्रियंका पर पलटवार- कांग्रेस ने की दलितों की अनदेखी, बनानी पड़ी BSP     ||   आर्मी चीफ पर भड़के चिदंबरम, कहा- आप सेना का काम संभालिए, राजनीति हमें करने दें     ||   राजस्थान: BJP प्रतिनिधिमंडल ने कोटा के अस्पताल का दौरा किया, 48 घंटों में 10 नवजात शिशुओं की हुई थी मौत     ||   दिल्ली: दरियागंज हिंसा के 15 आरोपियों की जमानत याचिका पर 7 जनवरी को सुनवाई करेगा तीस हजारी कोर्ट     ||

पाकिस्तानी सेना कोरोना के मरीजों पर कर रही जुल्म , संक्रमित लोगों को जबरन भेज रही है POK में

अंग्वाल न्यूज डेस्क
पाकिस्तानी सेना कोरोना के मरीजों पर कर रही जुल्म , संक्रमित लोगों को जबरन भेज रही है POK में

नई दिल्ली । कोरोना को WHO के साथ ही कई देशों ने माहामारी घोषित कर दिया है । इस सबके बीच जहां पूरी दुनिया में इस वायरस से संक्रमित लोगों के लिए इलाज के लिए पूरी दुनिया के देश एकजुट होकर अपनी लोगों को स्वस्थ करने के लिए जुट गए हैं , वहीं पाकिस्तान का ऐसे हालात में एक कुरूप चेहरा सामने आया है ।  विदेशी मीडिया में प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक , पाकिस्तान अपने कोरोना मरीजों को जबरदस्ती POK में भेज रहा है ।  इसके आदेश पाकिस्तानी सेना के अफसरों ने दिया है । मिली जानकारी के मुताबिक , सेना के अफसरों ने ऐसा इसलिए किया है क्योंकि उन्होंने आदेश दिया है कि सेना मुख्यालय और सेना परिवार के आस-पास कोरोना का कोई भी मरीज नहीं होना चाहिए । इन हरकतों को पाकिस्तान तब अंजाम दे रहा है , जब आए दिन वह अंतरराष्ट्रीय मंचों पर  कश्मीर का रोना रोता रहता है । 

रिपोर्ट्स के मुताबिक , पाकिस्तान अपने यहां कोरोना से ग्रसित मरीजों के साथ बहुत खराब व्यवहार कर रहा है । पाकिस्तान के मीरपुर इलाके में स्थानीय लोगों का आरोप है कि पंजाब के कोरोना पॉजिटिव मरीजों को सेना से दूर करने के लिए पंजाब से पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर और गिलगिट-बाल्टिस्तान भेजा जा रहा है । मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक - मीरपुर सहित पीओके में कई क्वारेंटाइन केंद्र बनाए गए हैं. इन केंद्रों में पंजाब प्रांत के कोविड-19 से संक्रमित मरीजों को रखा गया है । 

मिली जानकारी के मुताबिक , सेना के अफसरों ने ऐसा इसलिए किया है क्योंकि उन्होंने आदेश दिया है कि सेना मुख्यालय और सेना परिवार के आस-पास कोरोना का कोई भी मरीज नहीं होना चाहिए । इस आदेश के बाद  कोरोना के मरीजों को वाहनों में भरकर मीरपुर शहर, पीओके के अन्य इलाकों एवं गिलगिट बाल्टिस्तान में पहुंचाया जा रहा है । यह प्रक्रिया पिछले कई दिनों चल हो रही है। 

वहीं पाकिस्तानी सेना की इस करतूत का स्थानीय लोग विरोध भी कर रहे हैं । इन लोगों का कहना है कि इस इलाके में पहले से ही स्वास्थ्य एवं अन्य जरूरी सुविधाओं का अभाव है । ऐसे में कोरोना से ग्रसित लोगों को इस इलाके में रखे जाने से पूरा क्षेत्र के महामारी की चपेट में आने की आशंका बढ़ जाती है । ऐसे में लोगों का जीवन खतरे में पड़ जाएगा ।


पाकिस्तान में कोरोना वायरस के मामलों की कुल संख्या 1150 के पार हो गई है, वहीं नौ लोगों की मौत भी हो गई है । पाकिस्तान जिस तरह पीओके में यह हरकत कर रहा है उससे उसकी गंभीरता का अंदाजा लगाया जा रहा है । 

कोरोना वायरस को लेकर पाकिस्तान कितना गंभीर है, इस बात से भी अंदाजा लगाया जा सकता है कि पीएम मोदी की पहल पर हुई सार्क देशों की इस वीडियो कॉन्फ्रेंस में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान खुद शामिल नहीं हुए ।  जबकि सभी देशों के प्रमुख नेता इसमें शामिल हुए थे और पीएम मोदी की प्रशंसा भी की थी ।

 

Todays Beets: