Thursday, August 22, 2019

Breaking News

   Parle में छंटनी का संकट: मयंक शाह बोले- सरकार से अहसान नहीं मांग रहे     ||   ILFS लोन मामले में MNS प्रमुख राज ठाकरे से ED की पूछताछ    ||   दिल्ली: प्रगति मैदान के पास निर्माणाधीन इमारत में लगी आग    ||   मध्य प्रदेश: टेरर फंडिंग मामले में 5 हिरासत में, जांच जारी     ||   जिन्होंने 72 हजार देने का वादा किया था, वे 72 सीटें भी नहीं जीत पाए : मोदी     ||   प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 25 अगस्त को दिन में 11 बजे करेंगे मन की बात     ||   कोलकाता के पूर्व मेयर और TMC विधायक शोभन चटर्जी, बैसाखी बनर्जी BJP में शामिल     ||   गुजरात में बड़ा हमला कर सकते हैं आतंकी, सुरक्षा एजेंसियों का राज्य पुलिस को अलर्ट     ||   अयोध्या केस: मध्यस्थता की कोशिश खत्म, कल सुप्रीम कोर्ट में होगी सुनवाई     ||   पोंजी घोटाला: 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया आरोपी मंसूर खान     ||

वाड्रा-चिदंबरम से जितनी मर्जी पूछताछ करें, हमें आपत्ति नहीं, लेकिन पीएम को राफेल सौदे पर बोलना पड़ेगा - राहुल गांधी

अंग्वाल संवाददाता
वाड्रा-चिदंबरम से जितनी मर्जी पूछताछ करें, हमें आपत्ति नहीं, लेकिन पीएम को राफेल सौदे पर बोलना पड़ेगा - राहुल गांधी

नई दिल्ली । राफेल सौदे को लेकर एक अंग्रेजी अखबार के नए खुलासे के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी एक बार फिर से राफेल विमान सौदे को लेकर पीएम मोदी पर हमलावर हो गए हैं। राहुल गांधी ने कहा कि आप चाहे चिदंबरम और रॉबर्ट वाड्रा जितनी मर्जी हो उतनी जांच कर लो। हमें इस पर कोई आपत्ति नहीं है, लेकिन प्रधानमंत्री को राफेल विमान सौदे पर कुछ बोलना चाहिए। उन्होंने आगे कहा कि हाल में अंग्रेजी अखबार के नए खुलासे से यह साबित हो गया है कि चौकीदार चोर है। राफेल विमान सौदे को लेकर पीएम मोदी और रक्षामंत्री निर्माला सीतारमण ने झूठ बोला था। इतना ही नहीं उन्होंने देश की जनता के साथ ही सुप्रीम कोर्ट में भी झूठ होला। असल में यह रक्षा मंत्रालय और कॉरपोरेट जगत के बीच की लड़ाई है। 

क्या कहा अंग्रेजी अखबार ने

असल में अंग्रेजी अखबार द हिंदू ने एक खुलासा करते हुए कहा कि राफेल विमान सौदे का रक्षा मंत्रालय ने विरोध किया था। बावजूद इसके पीएम ने सीधे तौर पर इस विमान डील में हस्तक्षेप किया। प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) की इस डील में दखल का फायदा फ्रांस को मिला। इस रिपोर्ट के आधार पर ही अब राहुल गांधी ने पीएम मोदी पर निशाना साधा है। उनका कहना है कि इस सब के चलते भारतीय वायुसेना को 30 हजार करोड़ का नुकसान हुआ। इतना ही नहीं पीएम नरेंद्र मोदी ने यह पैसा चोरी कर अनिल अंबानी को दिए। इतना ही नहीं HAL की जगह अनिल अंबानी की कंपनी को डील दिलवाई गई।

मायावती को 'सुप्रीम' झटका, CJI बोले - अपनी और हाथियों की मूर्तियों पर जनता का जो पैसा लगाया उसे लौटाएं बसपा प्रमुख


मंत्रालय ने किया था जमकर विरोध

द हिंदू में प्रकाशित रिपोर्ट में कहा गया कि हजारों करोड़ों की इस डील के लिए दोनों देशों के शीर्ष स्तर पर बातचीत चल रही थी, लेकिन इस दौरान पीएमओ लगातार इस डील में दखल किए हुए थी, जिसका रक्षा मंत्रालय ने जमकर विरोध किया था। इस सब के चलते मंत्रालय की ओर से बातचीत कर रही टीम हल्की पड़ गई। 

रॉबर्ट वाड्रा VS ED...पिक्चर अभी बारी है , शनिवार को ईडी फिर करेगी नए एंगल से पूछताछ

Todays Beets: