Monday, August 10, 2020

Breaking News

   राजस्थान में फिर सियासी ड्रामा, BJP के बहाने गहलोत-पायलट में ठनी     ||   कानपुर गोलीकांड की जांच के लिए एसआईटी गठित, 31 जुलाई तक सौंपनी होगी रिपोर्ट     ||   धमकी देकर फरीदाबाद में रिश्तेदार के घर रुका था विकास, अमर दुबे से हुआ था झगड़ा     ||   राजस्थान: विधायकों को राज्य से बाहर जाने से रोकने के लिए सीमा पर बढ़ाई गई चौकसी     ||   हार्दिक पटेल गुजरात प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कार्यकारी अध्यक्ष नियुक्त     ||   गुवाहाटी केंद्रीय जेल में बंद आरटीआई कार्यकर्ता अखिल गोगोई समेत 33 कैदी कोरोना पॉजिटिव     ||   अमिताभ बच्चन कोरोना पॉजिटिव, नानावती अस्पताल में कराए गए भर्ती     ||   राजस्थान सरकार का प्राइवेट स्कूलों को आदेश- स्कूल खुलने तक फीस न लें     ||   गुजरात सरकार में मंत्री रमन पाटकर कोरोना वायरस से संक्रमित     ||   विकास दुबे पर पुलिस की नाकामी से भड़के योगी, खुद रख रहे ऑपरेशन पर नजर!     ||

संजय राउत के  नागरिक संशोधन बिल पर राज्यसभा में यू टर्न लेने के दिए संकेत , मोदी सरकार का बिगड़ेगा गणित 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
संजय राउत के  नागरिक संशोधन बिल पर राज्यसभा में यू टर्न लेने के दिए संकेत , मोदी सरकार का बिगड़ेगा गणित 

नई दिल्ली । मोदी सरकार ने सोमवार रात लोकसभा में नागरिक संशोधन बिल को पास करवा लिया । लोकसभा में करीब 12 घंटे की बहस के बाद देर रात यह विधेयक लोकसभा में पारित हो गया है , जिसमें बीजद , जदयू , एआईएडीएमके के साथ ही शिवसेना ने भी अपना समर्थन दिया । हालांकि राज्यसभा में इस बिल का समर्थन करने से पहले शिवसेना नेता संजय राउत का एक बयान आया है , जो मोदी सरकार के इस बिल को राज्यसभा में अटका सकता है । संजय राउत ने अपने बयान में कहा- हमने लोकसभा में बिल का समर्थन किया है , लेकिन हम राज्यसभा में नागरिकता संशोधन विधेयक पर अलग विचार रख सखते हैं । उनके इस बयान के बाद भाजपा की थोड़ी चिंता बढ़ी है , क्योंकि राज्यसभा में शिवसेना के तीन सदस्य है, जिनके इस विधेयक के पक्ष में वोट न डालने के चलते मोदी सरकार का गणित बिगड़ सकता है । 

बता दें कि पिछले दिनों महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर उभरे मतभेदों के बीच भाजपा और शिवसेना के बीच काफी बयानबाजी हुई , जिसके चलते दोनों दलों ने नेताओं ने एक दूसरे पर कई गंभीर आरोप लगाए । इस सब के बावजूद लोकसभा में नागरिक संशोधन बिल को शिवसेना ने अपने समर्थन दिया , हालांकि लोकसभा में उनके बिना भी भाजपा आसानी से इस बिल पर समर्थन जुटा सकती थी । 


लेकिन सोमवार देर रात लोकसभा से इस विधेयक के पारित होने के बाद अब बुधवार यानी कल यह विधेयक राज्यसभा में पेश किया जाएगा । इस सब से पहले शिवसेना नेता के एक बयान ने मोदी सरकार को झटका दिया है । संजय राउत ने कहा भले ही हमने लोकसभा में इस बिल का समर्थन किया हो लेकिन राज्यसभा में हम अलग राय भी रख सकते हैं । 

अगर ऐसा हुआ तो मोदी सरकार का राज्यसभा में नंबर गेम बिगड़ सकता है । फिलहाल, मोदी सरकार के सपोर्ट में 119 सदस्य हैं, जबकि विपक्ष में 100 सदस्य हैं । शिवसेना को जोड़ ले तो यह आंकड़ा 103 हो जाता है। वहीं 19 राज्यसभा सदस्यों का रुख साफ नहीं है ।  

Todays Beets: