Thursday, June 27, 2019

Breaking News

   आईबी के निदेशक होंगे 1984 बैच के आईपीएस अरविंद कुमार, दो साल का होगा कार्यकाल    ||   नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत का कार्यकाल सरकार ने दो साल बढ़ाया    ||   BJP में शामिल हुए INLD के राज्यसभा सांसद राम कुमार कश्यप और केरल के पूर्व CPM सांसद अब्दुल्ला कुट्टी    ||   टीम इंडिया की जर्सी पर विवाद के बीच आईसीसी ने दी सफाई, इंग्लैंड की जर्सी भी नीली इसलिए बदला रंग    ||   PIL की सुनवाई के लिए SC ने जारी किया नया रोस्टर, CJI समेत पांच वरिष्ठ जज करेंगे सुनवाई    ||   अमित शाह बोले - साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के गोसडे पर दिए बयान से भाजपा का सरोकार नहीं    ||   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||

सुषमा स्वराज की राहुल गांधी को नसीहत , भाषा की मर्यादा रखने की कोशिश करें, आडवाणी जी - हमारे पिता तुल्य

अंग्वाल न्यूज डेस्क
सुषमा स्वराज की राहुल गांधी को नसीहत , भाषा की मर्यादा रखने की कोशिश करें, आडवाणी जी - हमारे पिता तुल्य

नई दिल्ली । भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के विवादित बयान पर विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने उन्हें अपनी भाषा की मर्यादा का ख्याल रखने की नसीहत दी है। सुषमा स्वराज ने कांग्रेस अध्यक्ष पर हमला बोलते हुए कहा - राहुल जी- आडवाणी जी हमारे पिता तुल्य हैं। आपके बयान ने हमें बहुत आहत किया है। कृपया भाषा की मर्यादा रखने की कोशिश करें । असल में ये टिप्पणी राहुल गांधी के उस बयान पर की है जिसमें उन्होंने कहा था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने गुरु लाल कृष्ण आडवाणी को जूता मारकर स्टेज से नीचे उतार दिया।

केंद्रीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने शनिवार को हिंदी और अग्रेंजी में ट्वीट करते हुए राहुल गांधी के बयान से आहत होने की अपनी पीड़ा को जाहिर किया । असल में राहुल गांधी ने शुक्रवार को पीएम नरेंद्र मोदी पर आरोप लगाते हुए कहा था कि नरेंद्र मोदी जहां भी जाते हैं वहां किसी ना किसी की बुराई करते हैं। राहुल ने कहा कि मोदी जी के गुरु कौन हैं? आडवाणी जी. शिष्य गुरु के सामने हाथ भी नहीं जोड़ता। स्टेज से उठा कर फेंक दिया आडवाणी जी को। जूता मार के आडवाणी जी को उतारा स्टेज से और हिन्दू धर्म की बात करते हैं। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि हिन्दू धर्म में कहां लिखा है कि लोगों को मारना चाहिए।


 

राहुल गांधी का यह बयान लोकसभा चुनावों में लालकृष्ण आडवाणी को टिकट नहीं दिए जाने के संबंध में आया था । लंबे समय से गुजरात के गांधाीनगर से लोकसभा चुनाव लड़ रहे आडवाणी की जगह इस बार भाजपा ने पार्टी अध्यक्ष अमित शाह को सियासी मैदान में उतारा है ।

 

 

Todays Beets: