Sunday, June 7, 2020

Breaking News

   उत्तराखंड: कोरोना के 46 नए मामले, कुल पॉजिटिव केस हुए 1199     ||   माले: ऑपरेशन समुद्र सेतु के तहत आईएनएस जलश्व से मालदीव में फंसे 700 भारतीय लाए जा रहे वापस     ||   बिहार: ADG लॉ एंड ऑर्डर ने जताई आशंका, प्रवासियों के आने से बढ़ सकता है अपराध     ||   दिल्ली: बीजेपी के नवनियुक्त प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने संभाला अपना पदभार     ||   भोपाल की बडी झील में पलटी आईपीएस अधिकारियों की नाव, कोई जनहानी नहीं    ||   सुरक्षा परिषद के मंच का दुरुपयोग करके कश्मीर मसले को उछालने की कोशिश कर रहा PAK: भारतीय विदेश मंत्रालय     ||   IIM कोझिकोड में बोले पीएम मोदी- भारतीय चिंतन में दुनिया की बड़ी समस्याओं को हल करने का है सामर्थ    ||   बिहार में रेलवे ट्रैक पर आई बैलगाड़ी को ट्रेन ने मारी टक्कर, 5 लोगों की मौत, 2 गंभीर रूप से घायल     ||   CAA और 370 पर बोले मालदीव के विदेश मंत्री- भारत जीवंत लोकतंत्र, दूसरे देशों को नहीं करना चाहिए दखल     ||   जेएनयू के वाइस चांसलर जगदीश कुमार ने कहा- हिंसा को लेकर यूनिवर्सिटी को बंद करने की कोई योजना नहीं     ||

#BycottChina - चीन छोड़कर भारत आना चाहती हैं कई कंपनियां , दो कंपनियों ने किया यमुना अथॉरिटी में आवेदन 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
#BycottChina - चीन छोड़कर भारत आना चाहती हैं कई कंपनियां , दो कंपनियों ने किया यमुना अथॉरिटी में आवेदन 

नई दिल्ली । दुनिया में जारी महामारी के बीच चीन पर कोरोना वायरस को जानबूझकर फैलाने का आरोप लग रहे हैं । इतना ही नहीं अमेरिका ने तो सीधे शब्दों में चीन पर गंभीर आरोप लगाते हुए अपनी एक जांच टीम को चीन भेजने की तैयारी कर ली है । अमेरिका ने साफ कर दिया है कि अगर कोरोना चीन की एक साजिश साबित हुआ तो उसे इसके खतरनाक नतीजे भुगतने होंगे। इसके साथ ही दुनिया के कई देशों ने भी चीन को कोरोना के लिए जिम्मेदार ठहराया है । इस सबके बीच दुनिया में #bycottchina शुरू हो गया है , जिसमें चीन के बहिष्कार को लेकर चर्चाएं तेज हो गई है । इसी क्रम में दुनिका की कई मल्टीनेशनल कंपनियों का चीन से मोह भंग हो गया है ।

दुनिया की कई कंपनियां अब चीन में रहकर कारोबार नहीं करना चाहतीं । ऐसी में इन कंपनियों ने अब भारत की ओर नजर की हैं । ऐसी कंपनियों की सूचना मिलने पर उत्तर प्रदेश की योगी सरकार सक्रिय हो गई है । योगी आदित्यनाथ सरकार ने चीन छोड़कर आने वाली कंपनियों को उत्‍तर प्रदेश में निवेश करने का आमंत्रण दिया है । उन्होंने ऐसी कंपनियों को भरोसा दिलाया है कि उन्‍हें उत्‍तर प्रदेश में व्‍यापार के समुचित माहौल के साथ हर संभव सुविधा और सहूलियतें दी जाएंगी । इस सबके बीच खबर है कि दो बड़ी कंपनियों ने यमुना अथॉरिटी को आवेदन भेजा है ।  इनमें से एक कंपन है हुआके जो कैमरे की ऐसेसिरिज बनाती है , जबकि दूसरी कंपनी का नाम हुंसान है , जो इलेकट्रॉनिक कंपोनेंट तैयार करती है ।

बता दें कि चीन से फैले कोरोना वायरस को उसकी एक साजिश कहा जा रहा है । कई तथ्य और रिपोर्ट के आधार पर कई लोगों और संस्थाओं ने इस बात का दावा किया है कि कोरोना वायरस चीन में तैयार किया गया है । यह चीन की एक साजिश का हिस्सा हो सकता है । ऐसे में अब पूरी दुनिया चीन के इस व्यवहार से काफी गुस्सा है । पूरी दुनिया में इस वायरस के चलते पौने दो लाख से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है । अकेले अमेरिका में 65 हजार के करीब लोगों की मौत हो गई है । 


इतना ही नहीं दुनिया के कई देशों के हजारों लोग इस वायरस की चपेट में आकर अपनी जान गवां चुके हैं । ऐसे में वहां के लोगों ने चीन का बहिष्कार करने का निर्णय लिया है । इतना ही नहीं कई देशों ने अब चीन में रहकर काम नहीं करने का फैसला लिया है । ऐसे में चीन छोड़ कर जाने को तैयार कंपनियों को योगी सरकार ने यूपी में आने का आमंत्रण दिया है । ऐसे में हुआके और हुंसान नाम की दो कंपनियां सामने आई हैं , जो यूपी में अपने कारखाने लगाना चाहती हैं । इन कंपनियों ने यमुना अथॉरिटी को आवेदन किया है ।  यमुना अथॉरिटी ने भी इन दोनों कंपनियों के आवेदन स्‍वीकार कर लिए हैं । 

यमुना अथॉरिटी से मिली जानकारी के मुताबिक , अगले सप्‍ताह से आवंटन की प्रक्रिया को ऑनलाइन पूरा किया जाएगा. उन्‍होंने बताया कि चीन छोड़कर भारत आने वाली कंपनियों के लिए निवेश का बेहतर वातावरण यूपी में मौजूद है। यूपी सरकार ने अपनी औद्योगिक नीति के तहत विदेश से आकर निवेश करने वाली कंपनियों को कई तरह की रियायतें दी गई हैं, जिनमें  विदेश से आकर निवेश करने वाली कंपनियों को 25 फीसदी की लैंड सब्सिडी भी शामिल है । इसके साथ ही इन कंपनियों को और कई सुविधाएं मिलेंगी । 

Todays Beets: