Saturday, July 20, 2019

Breaking News

   सूरत: सभी मोदी चोर कहने का मामला, 10 अक्टूबर को हो सकती है राहुल गांधी की पेशी     ||   मुंबई: इमारत गिरने पर बोले MIM नेता वारिस पठान- यह हादसा नहीं, हत्या है     ||   नीरज शेखर के इस्तीफे पर बोले रामगोपाल यादव- गुरु होने के नाते आशीर्वाद दे सकता हूं     ||   लखनऊ: खनन घोटाले में ED ने पूर्व खनन मंत्री गायत्री प्रजापति से पूछताछ की     ||   पोंजी घोटाला: पूछताछ के बाद बोले रोशन बेग- हज पर नहीं जा रहा, जांच में करूंगा सहयोग    ||    संसदीय दल की बैठक में PM मोदी ने कहा- जरूरत पड़ी तो सत्र बढ़ाया जा सकता है     ||   केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बताया- सुप्रीम कोर्ट में जजों की कमी नहीं    ||    AAP नेता इमरान हुसैन ने बीजेपी नेता विजय गोयल और मनजिंदर सिंह सिरसा के खिलाफ की शिकायत    ||   राहुल गांधी के इस्तीफे पर केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा- जय श्रीराम    ||   यूपी सरकार का 17 जातियों को SC की लिस्ट में डालने का फैसला असंवैधानिक: थावर चंद गहलोत    ||

VHP की धर्मसंसद से पहले योगी आदित्यनाथ RSS प्रमुख मोहन भागवत से मिलने पहुंचे

अंग्वाल न्यूज डेस्क
VHP की धर्मसंसद से पहले योगी आदित्यनाथ RSS प्रमुख मोहन भागवत से मिलने पहुंचे

प्रयागराज । उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गुरुवार को प्रयागराज में संघ प्रमुख मोहन भागवत से मिलने पहुंचे हैं। उनकी इस मुलाकात को इसलिए भी अहम माना जा रहा क्योंकि आज विश्व हिन्दू परिषद की भी एक धर्म संसद प्रयागराज में होने जा रही है, जिसमें करीब 2000 संतों को आमंत्रण भेजा गया है। कयास लगाए जा रहे हैं कि योगी संघ प्रमुख मोहन भागवत से मुलाकात के दौरान राम जन्मभूमि के मुद्दे के साथ ही राममंदिर निर्माण को लेकर परम धर्मसंसद में लिए गए फैसले पर चर्चा करेंगे। 

बता दें कि बुधवार को प्रयागराज में हुई परम धर्मसंसद में शंकराचार्य स्वरूपानंद सरस्वती की अगुवाई में फैसला लिया गया था कि बसंत पंचमी के बाद साधु संत अयोध्या की ओर कूच करेंगे। इस धर्मसंसद में धर्मादेश दिए गया कि 21 फरवरी को राम मंदिर निर्माण की आधार शिला रखी जाएगी । इस सब के बाद गुरुवार को VHP की धर्म संसद होने जा रही है। इस सभी मुद्दों पर चर्चा के लिए यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ संघ प्रमुख मोहन भागवत से मुलाकात करने पहुंचे हैं। 


अब ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं कि दोनों धर्मसंसदों के फैसलों के अनुरूप आगे की रणनीति पर मंथन कर सकते हैं। हालांकि इससे पहले केंद्र की मोदी सरकार विवादित भूमि से इतर जमीन को रामजन्म भूमि न्यास को सौंपे जाने की मांग कर चुकी है, जिसपर भी विवाद खड़ा हो गया है। कुछ संत इसे राम जन्मभूमि से अलग मंदिर बनाने की साजिश करार दे रहे हैं तो कुछ इस मुद्दे पर नए विवाद खड़े कर रहे हैं। 

बहरहाल, अभी योगी आदित्यनाथ संघ प्रमुख से मिलने पहुंचे हैं, अब देखना होगा कि उनकी इस बातचीत के बाद क्या भाजपा कोई ऐलान कर सकती है । 

Todays Beets: