Thursday, May 23, 2024

Breaking News

   एमसीडी में एल्डरमैन की नियुक्ति को चुनौती देने वाली याचिका पर SC 8 मई को करेगा सुनवाई     ||   यूक्रेन से युद्ध में दिसंबर से अब तक रूस के 20000 से ज्यादा लड़ाके मारे गए: अमेरिका     ||   IPL: मैच के बाद भिड़ गए थे गौतम गंभीर और विराट कोहली, लगा 100% मैच फी का जुर्माना     ||   पंजाब में 15 जुलाई तक सरकारी कार्यालयों में सुबह 7:30 बजे से दोपहर दो बजे तक होगा काम     ||   गैंगस्टर टिल्लू की लोहे की रोड और सूए से हत्या, गोगी गैंग के 4 बदमाशों ने किया हमला     ||   सुप्रीम कोर्ट ने 'द केरल स्टोरी' पर बैन लगाने की मांग वाली याचिका पर तुरंत सुनवाई से किया इनकार     ||   नीतीश कटारा हत्याकांड: SC में नियमित पैरोल की मांग करने वाली विशाल यादव की याचिका खारिज     ||   'मैंने सिर्फ इस्तीफा दिया है, बाकी काम करता रहूंगा' नेताओं के मनाने पर बोले शरद पवार     ||   सोनिया गांधी दिल्ली के गंगाराम अस्पताल में भर्ती    ||   कर्नाटक हिजाब केस में SC ने तुरंत सुनवाई से इंकार किया    ||

राजस्थान में सियासी हलचल फिर तेज , कांग्रेस के राजस्थान प्रभारी अजय माकन ने दिया पद से इस्तीफा

अंग्वाल न्यूज डेस्क
राजस्थान में सियासी हलचल फिर तेज , कांग्रेस के राजस्थान प्रभारी अजय माकन ने दिया पद से इस्तीफा

जयपुर । राजस्थान कांग्रेस में कुछ भी सही नहीं चल रहा है । पार्टी में लगातार जारी घमासान थमने का नाम नहीं ले रहा है , लेकिन इस बीच इस घमासान को सांधने वालों में भी गतिरोध की खबर सामने आई है कि राजस्थान में कांग्रेस नेता अजय माकन ने राजस्थान के प्रभारी पद से इस्तीफा दे दिया है । उन्होंने अपने पद से इस्तीफा ऐसे समय में दिया है जब राज्य में सीएम अशोक  गहलोत और सचिन पायलट खेमे के बीच शीतयुद्ध जारी है । गहलोत गुट ने माकन पर पायलट का पक्ष लेने के आरोप लगाए थे । आलम यह है कि इस समय पार्टी इस गतिरोध को खत्म करने के लिए हर संभव कोशिश तो कर चुकी है , लेकिन कोई ठोस नतीजा नहीं निकला है । 

विदित हो कि अशोक गहलोत गुट के विधायकों ने अजय माकन पर कई गंभीर आरोप लगाए थे। मंत्री शांति धारीवाल ने साफ तौर पर कहा था कि राजस्थान में जो भी कुछ हुआ उसमें अजय माकन की बड़ी भूमिका थी। माकन सरकार के खिलाफ बगावत कर चुके नेता को सत्ता देने के लिए पक्षपात कर रहे थे। मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा था कि माकन हमारे परिवार के मुखिया हैं। हमारी आवाज को सुनना, समझना और उसे आलाकमान तक पहुंचाना उनकी जिम्मेदारी थी। 


असल में गत 25 सितंबर को कांग्रेस पर्यवेक्षकों ने नए मुख्यमंत्री के नाम पर चर्चा करने के लिए विधायक दल की बैठक बुलाई थी। इस बैठक में शामिल होने की जगह विधायक मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास के आवास पर जुट गए थे। जहां गहलोत गुट के मंत्री और विधायकों ने सचिन पायलट के सीएम बनाए जाने का विरोध किया था। बाद में विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी के आवास पर पहुंचकर इस्तीफा दे दिया था।   

Todays Beets: