Saturday, May 30, 2020

Breaking News

   भोपाल की बडी झील में पलटी आईपीएस अधिकारियों की नाव, कोई जनहानी नहीं    ||   सुरक्षा परिषद के मंच का दुरुपयोग करके कश्मीर मसले को उछालने की कोशिश कर रहा PAK: भारतीय विदेश मंत्रालय     ||   IIM कोझिकोड में बोले पीएम मोदी- भारतीय चिंतन में दुनिया की बड़ी समस्याओं को हल करने का है सामर्थ    ||   बिहार में रेलवे ट्रैक पर आई बैलगाड़ी को ट्रेन ने मारी टक्कर, 5 लोगों की मौत, 2 गंभीर रूप से घायल     ||   CAA और 370 पर बोले मालदीव के विदेश मंत्री- भारत जीवंत लोकतंत्र, दूसरे देशों को नहीं करना चाहिए दखल     ||   जेएनयू के वाइस चांसलर जगदीश कुमार ने कहा- हिंसा को लेकर यूनिवर्सिटी को बंद करने की कोई योजना नहीं     ||   मायावती का प्रियंका पर पलटवार- कांग्रेस ने की दलितों की अनदेखी, बनानी पड़ी BSP     ||   आर्मी चीफ पर भड़के चिदंबरम, कहा- आप सेना का काम संभालिए, राजनीति हमें करने दें     ||   राजस्थान: BJP प्रतिनिधिमंडल ने कोटा के अस्पताल का दौरा किया, 48 घंटों में 10 नवजात शिशुओं की हुई थी मौत     ||   दिल्ली: दरियागंज हिंसा के 15 आरोपियों की जमानत याचिका पर 7 जनवरी को सुनवाई करेगा तीस हजारी कोर्ट     ||

विधायकं ने की ठेके खोलने की मांग , कहा - गले में मौजूद कोरोना मर जाएगा , देवता भी युद्ध से पहले मदिरा पीते थे

अंग्वाल न्यूज डेस्क
विधायकं ने की ठेके खोलने की मांग , कहा - गले में मौजूद कोरोना मर जाएगा , देवता भी युद्ध से पहले मदिरा पीते थे

नई दिल्ली । देश में कोरोना महामारी के चलते लॉकडाउन जारी है । हालांकि लॉकडॉउन 2 के खत्म होने में अब मात्र 2 दिन बचे हैं , लेकिन इससे पहले ही केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने देश में कोरोना के चलते संक्रमित इलाकों के हिसाब से रेड - ऑरेंज और ग्रीन जोन की एक सूची जारी की है । ऐसे में आशंका जताई जा रही है कि देश के कई हिस्सों में लॉकडाउन का बढ़ना तय है । इसी बीच राजस्थान सरकार के पूर्व मंत्री और सांगोद से कांग्रेस विधायक भरत सिंह, भाजपा सरकार में मंत्री रहे भवानी सिंह राजावत और कम्युनिस्ट पार्टी के विधायक बलवंत पुनिया ने एक साथ आकर प्रदेश सरकार को पत्र लिखकर शराब की बिक्री जल्द शुरू कराने की मांग की है। भले ही वैचारिक सोच में तीनों नेताओं के सुर हमेशा अलग अलग होते हैं , लेकिन शराब के ठेके खोलने के लिए तीनों ने एक ही मांग की है । खास बात ये है कि इन नेताओं से ठेके खोलने के पीछे गले में ही वायरस को मारने , देवताओं के भी युद्ध से पहले मदिरा पान करने का हवाला दिया है।

बता दें कि कांग्रेसी विधायक भरत सिंह ने तो यह लिखा है कि अगर अल्कोहल से हाथ धोने से कोरोना मर रहा है, तो शराब पीने से वायरस गले में ही मर जाएगा।  सरकार को पैसा भी मिलेगा और वायरस भी मर जाएगा , इसलिए शराब की बिक्री जल्द शुरू की जाए , वहीं, भाजपा नेता भवानी सिंह राजावत ने तो यहां तक कह दिया कि सतयुग में भी देवता सोमरस का पान किया करते थे । उन्होंने कहा है कि कोरोना काल में शराब से वंचित रखना ठीक नहीं है । बड़े-बड़े महापुरुष और देवता जब युद्ध में जाते थे, तो युद्ध से पहले दुश्मनों के नाश के लिए सोमरस का सेवन करते थे । उन्होंने कोरोना से लड़ाई के लिए मदिरा पान को जरूरी बताया है।

 


शराब की बिक्री शुरू करने के लिए सबसे पहले पत्र कम्युनिस्ट पार्टी के विधायक बलवंत पुनिया ने लिखा. पुनिया का कहना है कि शराब की लत वाले लोग परेशान हैं और सरकार को भी घाटा हो रहा है । इसलिए इसकी बिक्री शुरू की जानी चाहिए । 

इतना ही नहीं गहलोत सरकार भी शराब के ठेके खोलने के पक्ष में नजर आ रही है । सरकार की ओर से शराब की कीमतों में 10 फीसदी इजाफा करने के ऐलान के साथ ही ठेकेदारों से शराब की डिलीवरी लेने को कहा जा चुका है । हालांकि, प्रदेश में शराब की दुकानें अभी खुल नहीं रही हैं ।  

Todays Beets: