Tuesday, October 20, 2020

Breaking News

   कानपुर: विकास दुबे और उसके गुर्गों समेत 200 लोगों की असलहा लाइसेंस फाइल हुई गायब     ||   हाथरस कांड: यूपी सरकार ने SC में पीड़िता के परिवार की सुरक्षा पर दाखिल किया हलफनामा     ||   लखनऊ: आत्मदाह की कोशिश मामले में पूर्व राज्यपाल के बेटे को हिरासत में लिया गया     ||   मानहानि केस: पायल घोष ने ऋचा चड्ढा से बिना शर्त माफी मांगी     ||   लक्ष्मी विलास होटल केस: पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण शौरी हुए सीबीआई कोर्ट में पेश     ||   पश्चिम बंगाल: CM ममता बनर्जी ने अलापन बंद्योपाध्याय को बनाया मुख्य सचिव     ||   काशी विश्वनाथ मंदिर और ज्ञानवापी मस्जिद मामले में 3 अक्टूबर को होगी अगली सुनवाई     ||   इस्तीफे पर बोलीं हरसिमरत कौर- मुझे कुछ हासिल नहीं हुआ, लेकिन किसानों के मुद्दों को एक मंच मिल गया     ||   ईडी के अनुरोध के बाद चेतन और नितिन संदेसरा भगोड़ा आर्थिक अपराधी घोषित     ||   रक्षा अधिग्रहण परिषद ने विभिन्न हथियारों और उपकरणों के लिए 2290 करोड़ रुपये की मंजूरी दी     ||

राजस्थान में जिंदा जलाए गए पंडित के अंतिम संस्कार से परिजनों का इनकार , राज्यपाल ने सीएम गहलोत से की बात

अंग्वाल न्यूज डेस्क
राजस्थान में जिंदा जलाए गए पंडित के अंतिम संस्कार से परिजनों का इनकार , राज्यपाल ने सीएम गहलोत से की बात

जयपुर । साधु-संतों के देश में राजस्थान के करौली में एक पुजारी को जिंदा जलाकर मारने की घटना चिंताजनक है । घटना से गुस्साए पुजारी के परिजनों ने शव का अंतिम संस्कार करने से मना कर दिया है । परिजनों का कहना है कि जब तक उनकी मांगे पूरी नहीं होती तब तक वह अंतिम संस्कार नहीं करने देंगे । यूं तो पुलिस ने इस घटना को अंजाम देने वाले मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है , लेकिन परिजनों के पास अभी तक सरकार को कोई प्रतिनिधि नहीं पहुंचा है , जिसके चलते अब इस मुद्दे पर राजनीति शुरू हो गई है । राज्य के गवर्नर कलराज मिश्र ने इस मुद्दे को लेकर सीएम अशोक गहलोत से बात की है । 

पुलिस प्रशासन के प्रति गुस्सा

असल में करौली में पुजारी को जिंदा जलाकर मार डालने की इस घटना के बाद से परिजन और इलाके के लोगों में पुलिस प्रशासन के खिलाफ बहुत गुस्सा है । प्रशासन ने इस सबके बीच पुजारी के शव का अंतिम संस्कार कराने की अपील की है , जिसपर परिजन अड़े हुए हैं । उन्होंने साफ कर दिया है कि उनकी मांगे पूरी न होने तक वह अंतिम संस्कार नहीं करेंगे । 

परिजनों ने यह रखी मांग

पुजारी के एक रिश्तेदार का कहना है कि हम चाहते हैं कि 50 लाख रुपये मुआवजा और परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी मिले । सभी आरोपियों को गिरफ्तार किया जाना चाहिए और आरोपियों का समर्थन करने वाले पटवारी और पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए । हम सुरक्षा चाहते हैं । 


एसडीएम का आश्वासन

इस सबके बीच करौली के एसडीएम ओम प्रकाश मीणा ने कहा कि पुजारी बाबूलाल के परिजनों ने चौथी डिमांड भी सामने रखी है । हम सीनियर अफसरों के जरिये सरकार को उनकी मांग के बारे में बताएंगे । हम परिजनों से अपील करते हैं कि वे दाह संस्कार करें क्योंकि शव को रखे हुए दो दिन हो चुके हैं । 

कलराज मिश्र ने गहलोत से की बात

इस पूरे घटनाक्रम पर राज्य के राज्यपाल कलराज मिश्र ने सीएम अशोक गहलोत से बात की है । घटना को लेकर सचिवालय की ओर से जारी बयान के मुताबिक सीएम अशोक गहलोत ने आश्वासन दिया है कि मामलों की जांच की जा रही है और दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा । 

क्या है मामला

असल में करौली में कुछ दबंगों ने पुजारी से विवाद होने पर उसे पीटा और उसके बाद उसके ऊपर पेट्रोल छिड़ककर उसे आग के हवाले कर दिया । गंभीर रूप से घायलावस्था में उसे जयपुर के सवाई माधो सिंह अस्पताल में पुजारी की मौत हो गई । इस घटना के बाद हंगामा होने पर राजस्थान पुलिस ने मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है । इस पूरी घटना से करौली जिले के ब्राह्मण समाज, पुजारी संघ, बजरंग दल, बीजेपी कार्यकर्ताओं ने नाराजगी जाहिर करते हुए पुलिस अधीक्षक को एक ज्ञापन सौंपा है । 

Todays Beets: