Thursday, December 1, 2022

Breaking News

   सुकेश चंद्रशेखर विवाद के बीच तिहाड़ जेल से हटाए गए DG संदीप गोयल, संजय बेनीवाल को मिली कमान     ||   MHA ने NIA के 2 नए विंग को दी मंजूरी, 142 जांच अधिकारी-कर्मचारी बढ़ाए     ||   पाकिस्तान को बाढ़ से निपटने के लिए 10 अरब डॉलर की जरूरत, मंत्री का बयान     ||   सुप्रीम कोर्ट ने 1992 बाबरी मस्जिद विध्वंस से जुड़े सभी मामलो को बंद किया     ||   मनीष के घर-लॉकर से कुछ नहीं मिला, ईमानदार साबित हुए: CM केजरीवाल     ||   दिल्ली: JP नड्डा को बताना चाहता हूं, बच्चा चुराने लगी है BJP- मनीष सिसोदिया     ||   टेस्ला के मालिक एलन मस्क को कोर्ट में घसीटने की तैयारी, ट्विटर संग होगी कानूनी जंग    ||   गोवा में कांग्रेस पर सियासी संकट! सोनिया ने खुद संभाला मोर्चा    ||   जयललिता की पार्टी में वर्चस्व की जंग हारे पनीरसेल्वम, हंगामे के बीच पलानीस्वामी बने अंतरिम महासचिव     ||   देशभर में मानसून एक्टिव हो गया है और ज्यादातर राज्यों में जोरदार बारिश हो रही है. भारी बारिश ने देश के बड़े हिस्से में तबाही मचाई है    ||

केजरीवाल का ऐलान- प्राइमरी स्कूल कल से बंद , ऑड- इवन हो सकता है लागू , जहरीली हवा का मुद्दा सुप्रीम कोर्ट पहुंचा

अंग्वाल संवाददाता
केजरीवाल का ऐलान- प्राइमरी स्कूल कल से बंद , ऑड- इवन हो सकता है लागू , जहरीली हवा का मुद्दा सुप्रीम कोर्ट पहुंचा

नई दिल्ली । दिल्ली-एनसीआर में इन दिनों जहरीली हुई हवा का मुद्दा अब सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया है । प्रदूषण कम करने के लिए जरूरी कदम उठाने का निर्देश देने की मांग वाली एक याचिका दायर की गई है, जिसपर 10 नवंबर को सुनवाई होगी। वहीं दमघोटूं हालात को देखते हुए दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने शनिवार से प्राइमरी स्कूल बंद करने का फैसला किया है । इसके अलावा 5वीं क्लास से ऊपर की कक्षाओं की आउटडोर एक्टिविटीज बंद करने का ऐलान किया गया है । दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पंजाब के सीएम भगवंत मान के साथ एक संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस में यह घोषणा की । केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में ऑड ईवन लागू करने पर भी विचार किया जा रहा है. 

अगले गुरुवार होगी सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई

बता दें कि इन दिनों दिल्ली-एनसीआर में वायु प्रदूषण का स्तर जानलेवा स्तर पर पहुंच गया है । इस बीच प्रदूषण कम करने के लिए जरूरी कदम उठाने का निर्देश देने की मांग वाली एक याचिका दायर की गई है. इस याचिका पर 10 नवंबर को सुनवाई होगी ।  याचिकाकर्ता की ओर से कहा गया कि पिछले कुछ सालों में एक्यूआई का स्तर कभी भी 500 के पार नहीं गया , यहां तक कि जो लोग फिट हैं वह भी बीमार पड़ रहे हैं । पंजाब में पराली जलाने के मामले में 22 फीसदी की बढ़ोतरी हुई जिस वजह से स्थिति और खराब हो गई है । हम सुप्रीम कोर्ट से इस पर आज या कल सुनवाई करने का अनुरोध करते हैं क्योंकि इसमें बड़े पैमाने पर लोगों के जीवन का अधिकार शामिल है ।

 

क्या है दिल्ली -एनसीआर के हालात


राजधानी दिल्ली में एयर क्वालिटी गंभीर होने की वजह से चारों तरफ धुंध है ।  सिस्टम ऑफ एयर क्वालिटी एंड वेदर फोरकास्टिंग एंड रिसर्च (SAFAR) के अनुसार दिल्ली में एयर क्वालिटी इंडेक्स (AQI) 472 (गंभीर) श्रेणी में है. नोएडा में भी एक्यूआई लेवल 562 यानी 'गंभीर' श्रेणी में पहुंच गया है ।  

केजरीवाल बोले - पूरे उत्तर भारत की है समस्या

इससे इतर , दिल्ली के प्राइमरी स्कूलों को बंद करने का ऐलान करने के दौरान केजरीवाल ने कहा - दिल्ली में प्रदूषण काफ़ी ज़्यादा हो गया है । लोगों को सांस लेने में मुश्किल हो रही है । ये सिर्फ़ दिल्ली की नहीं बल्कि पूरे उत्तर भारत की समस्या है ।  दिल्ली के अलावा हरियाणा और यूपी के कई शहरों में हवा बेहद ख़राब चल रही है ।  इसके कई स्थानीय कारण है । उन्होंने कहा यह समय राजनीति करने का या गाली देने का नहीं है । पंजाब में पराली जल रही तो इसके लिए हम खुद जिम्मेदार हैं, क्योंकि वहां पर हमारी सरकार है । 

हम मानते हैं पंजाब में पराली जल रही है - केजरीवाल

वह बोले - हमारे ऊपर उंगली उठाने का सवाल नहीं है । हम मानते हैं पंजाब में पराली जल रही है , लेकिन जब तक किसान को समाधान नहीं मिलेगा तो वो क्या करेगा ।  उसकी ज़िम्मेदार नहीं है ।  हम इसकी ज़िम्मेदारी लेते हैं अगर पंजाब में पराली जल रही है तो । हालांकि पंजाब की मान सरकार ने इस मुद्दे को लेकर कई कदम उठाए हैं । कुछ में सफलता मिली, कुछ में नहीं । इसमें कोई ब्लेम गेम नहीं है । पराली जल रही है उसके लिये हम ज़िम्मेदार हैं, ये हम मानते हैं । 

हरियाणा में भी कई प्रतिबंधों की तैयारी 

दिल्ली से सटे हरियाणा राज्य में भी यह धुआं जानलेवा हो रहा है । बिगड़ती हवा और वायु गुणवत्ता प्रबंधन आयोग की तरफ से ग्रेडेड रिस्पॉन्स एक्शन प्लान के चौथे चरण के तहत विभिन्न उपायों और पाबंदियों को लागू करने के फैसले के बाद हरियाणा सरकार भी इस पर विचार कर रही है ।  गुरुवार में वायु गुणवत्ता गुरुवार को गंभीर श्रेणी में दर्ज की गई और 24 घंटे का औसत एयर क्वालिटी इंडेक्स 430 रहा, जो इस सीजन का सबसे खराब था।  डिप्टी कमिश्नर निशांत कुमार ने बताया कि अगले कदम के बारे में प्रशासन की तरफ से कोई फैसला फरीदाबाद में मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर और प्रदूषण बोर्ड के साथ बैठक के बाद किया जाएगा ।

Todays Beets: