Friday, January 22, 2021

Breaking News

   सरकार की सत्याग्रही किसानों को इधर-उधर की बातों में उलझाने की कोशिश बेकार है-राहुल गांधी     ||   थाइलैंड में साइना नेहवाल कोरोना पॉजिटिव, बैडमिंटन चैम्पियनशिप में हिस्सा लेने गई हैं विदेश     ||   एयर एशिया के विमान से पुणे से दिल्ली पहुंची कोरोना वैक्सीन की पहली खेप     ||   फिटनेस समस्या की वजह से भारत-ऑस्ट्रेलिया चौथे टेस्ट से गेंदबाज जसप्रीत बुमराह बाहर     ||   दिल्ली: हरियाणा के डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला की पार्टी विधायकों के साथ बैठक, किसान आंदोलन पर चर्चा     ||   हम अपने पसंद के समय, स्थान और लक्ष्य पर प्रतिक्रिया देने का अधिकार सुरक्षित रखते हैं- आर्मी चीफ     ||   कानपुर: विकास दुबे और उसके गुर्गों समेत 200 लोगों की असलहा लाइसेंस फाइल हुई गायब     ||   हाथरस कांड: यूपी सरकार ने SC में पीड़िता के परिवार की सुरक्षा पर दाखिल किया हलफनामा     ||   लखनऊ: आत्मदाह की कोशिश मामले में पूर्व राज्यपाल के बेटे को हिरासत में लिया गया     ||   मानहानि केस: पायल घोष ने ऋचा चड्ढा से बिना शर्त माफी मांगी     ||

महिला सब इंस्पेक्टर ने दुपट्टे से फंदा बनाकर खुदकुशी की , सुसाइट नोट में लिखा - सब मेरी करनी का फल है

अंग्वाल न्यूज डेस्क
महिला सब इंस्पेक्टर ने दुपट्टे से फंदा बनाकर खुदकुशी की , सुसाइट नोट में लिखा - सब मेरी करनी का फल है

बुलंदशहर । उत्तर प्रदेश पुलिस में तैनात एक महिला सब इंस्पेक्टर ने अपने कमरे में दुपट्टे का फंदा बनाकर खुदकुशी कर ली । इस दौरान पुलिस टीम को मौके से एक सुसाइड नोट बरामद हुआ है , जिसमें महिला सब इंस्पेक्टर ने लिखा है कि - यह सब मेरी करनी का फल है , अपनी मौत की मैं खुद ही जिम्मेदार हूं । पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम करवाकर उसके परिजनों को सौंप दिया है , हालांकि अभी तक महिला पुलिसकर्मी द्वारा अपने सुसाइड नोट में लिखे नोट को लेकर कोई खुलासा नहीं हो पाया है कि आखिर उसने अपने आखिरी समय में किस करनी और अपनी खुदकुशी का कारण बताया ।

बता दें कि शामली जिले की रहने वाली आरजू पवांर वर्ष 2015 बैच की पुलिस सब इंस्पेक्टर थीं । हाल में वह बुलंदशहर जिले के अनुपशहर थाने में तैनात थी । वह इलाके के ही एक घर में तीसरी मंजिल पर किराये पर रहती थी । खास बात थी कि वह अपनी मकान मालकिन के साथ ही रोज खाना खाया करती थी । 

अपने रुटीन के मुताबिक , मकान मालकिन ने आरजू को खाने के लिए आवाज लगाई , हालांकि दो घंटे बीत जाने के बाद भी जब वह नीचे नहीं आई । फिर उसे फोन किे गए तो उसने फोन नहीं उठाया । तो उन्होंने परिजनों के साथ ऊपर जाकर देखा । दरवाजा अंदर से बंद था , काफी देर दरवाजा खटखटाने के बाद भी दरवाजा नहीं खुला तो मकान मालिक ने घटना की जानकारी उसके परिजनों और पुलिस को दी ।


बाद में पुलिस ने रोशनदान के रास्ते कमरे में प्रवेश किया तो पाया कि आरजू ने अपने दुपट्टे की मदद से कमरे में लगे पंखे पर फंदा लगाकर खुदकुशी कर ली थी । उसके पास से एक सुसाइड नोट भी मिला , जिसमें उन्होंने लिखा कि  यह मेरी करनी का फल है, अपनी मौत की वह स्वयं जिम्मेदार है ।

घटना की सूचना मिलते ही पुलिस विभाग में हड़कंप मच गया । मौके पर एसपी देहात, सीओ इंस्पेक्टर जिला मुख्यालय से एसएसपी घटनास्थल पर पहुंचे और सारे मामले की वीडियो रिकॉर्डिंग कराई गई । मृतका को हॉस्पिटल ले जाया गया जहां पर उनको ब्रेन डेड घोषित कर दिया गया ।  मृतका का मोबाइल अभी लॉक है । अब इस बात की जांच की जा रही है कि आखिरी समय में उसकी किसके साथ बातचीत हुई है, ताकि इस बात का पता लगाया जा सके कि आखिर उसने खुदकुशी क्यों की । 

Todays Beets: