Saturday, August 8, 2020

Breaking News

   राजस्थान में फिर सियासी ड्रामा, BJP के बहाने गहलोत-पायलट में ठनी     ||   कानपुर गोलीकांड की जांच के लिए एसआईटी गठित, 31 जुलाई तक सौंपनी होगी रिपोर्ट     ||   धमकी देकर फरीदाबाद में रिश्तेदार के घर रुका था विकास, अमर दुबे से हुआ था झगड़ा     ||   राजस्थान: विधायकों को राज्य से बाहर जाने से रोकने के लिए सीमा पर बढ़ाई गई चौकसी     ||   हार्दिक पटेल गुजरात प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कार्यकारी अध्यक्ष नियुक्त     ||   गुवाहाटी केंद्रीय जेल में बंद आरटीआई कार्यकर्ता अखिल गोगोई समेत 33 कैदी कोरोना पॉजिटिव     ||   अमिताभ बच्चन कोरोना पॉजिटिव, नानावती अस्पताल में कराए गए भर्ती     ||   राजस्थान सरकार का प्राइवेट स्कूलों को आदेश- स्कूल खुलने तक फीस न लें     ||   गुजरात सरकार में मंत्री रमन पाटकर कोरोना वायरस से संक्रमित     ||   विकास दुबे पर पुलिस की नाकामी से भड़के योगी, खुद रख रहे ऑपरेशन पर नजर!     ||

हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे का 100 घंटे बाद भी कोई सुराग नहीं , सुबे में ऑपरेशन क्लीन शुरू

अंग्वाल न्यूज डेस्क
हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे का 100 घंटे बाद भी कोई सुराग नहीं , सुबे में ऑपरेशन क्लीन शुरू

कानपुर । उत्तर प्रदेश पुलिस पिछले 100 घंटे से सुबे के हिस्ट्रीशीटर बदमाश विकास दुबे की तलाश में खाक छान रही है । आलम यह है कि नेपाल बॉर्डर से लेकर चंबल की घाटियों तक यूपी पुलिस की कई टीमें दबिश दे रही है , लेकिन अभी तक यूपी पुलिस के 8 जवानों की शहादत के कसूरवार विकास दुबे का कोई सुराग नहीं लगा है । इस सबके बीच विकास दुबे और उसके गुर्गों द्वारा पुलिसवालों को घेरकर उनपर हमला करने से जुड़े कई किस्से सामने आ रहे हैं । इसके साथ ही पुलिस के आला अफसरों से चौबेपुर थाने में तैनात एसएचओ विनय तिवारी की शिकायत पर कार्रवाई नहीं होने से भी अब कई पुलिस अफसरों पर गाज गिरना तय माना जा रहा है । 

वहीं कानपुर मामले में यूपी पुलिस और सरकार की किरकिरी के बाद अब बदमाशों पर पलटवार की रणनीति बनाई गई है । योगी सरकार ने ऑपरेशन क्लीन शुरू किया है , जिसमें सुबे के प्रमुख बदमाशों पर शिकंजा कसा जाएगा । एनसीआर के नोएडा और ग्रेटर नोएडा में तो पुलिस एक्शन में आ गई है और गैंगस्टरों पर शिकंजा कस दिया गया है ।


बता दें कि हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे गोलीकांड को अंजाम देने के बाद से फरार है । वहीं उसके कुछ साथियों ने विकास दुबे को लेकर कई खुलासे किए हैं। बावजूद इसके आलम यह है कि सूबे की पुलिस की करीब 40 से ज्यादा टीमें उसका सुराग ढूंढने में लगी है । विकास की लास्ट मोबाइल लोकेशन यूपी के औरेया की आई थाी , जिसके बाद उसके मध्य प्रदेश भागने की आशंका जताई जा रही है । ऐसे में चंबल के बीहड़ में भी उसकी खोज की जा रही है। इतना ही नहीं ऐसी भी आशंका है कि वो नेपाल भाग गया हो। 

इसी क्रम में विकास के खिलाफ सबूत खंगालने के लिए गिरफ्तारियां हो रही हैं । फतेहपुर के एक गांव से एक संदिग्ध की गिरफ्तारी हुई है । वहीं विकास दुबे की नौकरानी और दो रिश्तेदारों पर भी पुलिस ने शिकंजा कसा है , साथ ही बिकरु गांव यानी विकास दुबे के घर पर पुलिस की पैनी नजर है । 

Todays Beets: