Sunday, November 29, 2020

Breaking News

   कानपुर: विकास दुबे और उसके गुर्गों समेत 200 लोगों की असलहा लाइसेंस फाइल हुई गायब     ||   हाथरस कांड: यूपी सरकार ने SC में पीड़िता के परिवार की सुरक्षा पर दाखिल किया हलफनामा     ||   लखनऊ: आत्मदाह की कोशिश मामले में पूर्व राज्यपाल के बेटे को हिरासत में लिया गया     ||   मानहानि केस: पायल घोष ने ऋचा चड्ढा से बिना शर्त माफी मांगी     ||   लक्ष्मी विलास होटल केस: पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण शौरी हुए सीबीआई कोर्ट में पेश     ||   पश्चिम बंगाल: CM ममता बनर्जी ने अलापन बंद्योपाध्याय को बनाया मुख्य सचिव     ||   काशी विश्वनाथ मंदिर और ज्ञानवापी मस्जिद मामले में 3 अक्टूबर को होगी अगली सुनवाई     ||   इस्तीफे पर बोलीं हरसिमरत कौर- मुझे कुछ हासिल नहीं हुआ, लेकिन किसानों के मुद्दों को एक मंच मिल गया     ||   ईडी के अनुरोध के बाद चेतन और नितिन संदेसरा भगोड़ा आर्थिक अपराधी घोषित     ||   रक्षा अधिग्रहण परिषद ने विभिन्न हथियारों और उपकरणों के लिए 2290 करोड़ रुपये की मंजूरी दी     ||

मोदी सरकार के कृषि कानून के खिलाफ पंजाब सरकार का बड़ा फैसला , विधानसभा में पेश किए तीन विधेयक

अंग्वाल न्यूज डेस्क
मोदी सरकार के कृषि कानून के खिलाफ पंजाब सरकार का बड़ा फैसला , विधानसभा में पेश किए तीन विधेयक

चंडीगढ़ । केंद्र की मोदी सरकार ने पिछले दिनों देश के किसानों को बिचौलियों के चंगुल से बचाने और उनके हित को ध्यान में रखते हुए तीन कृषि संबंधी कानून बनाए , जिसे लेकर कांग्रेस समेत कुछ विपक्षी दलों और कुछ किसान संगठनों ने विरोध प्रदर्शन किया । इस सबके बीच अब इस सबको हवा देने का काम किया है पंजाब के सीएम अमरिंदर सिंह ने । केंद्र सरकार के तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ पंजाब की विधानसभा में एक प्रस्ताव पेश किया । नए कृषि कानूनों के खिलाफ बुलाए विशेष विधानसभा सत्र (Special Assembly Session) के दूसरे दिन सदन के नेता ने प्रस्ताव पेश किया । मुख्यमंत्री ने केंद्र के कृषि कानूनों के खिलाफ तीन विधेयक भी पेश किए । 

PM मोदी आज शाम 6 बजे करेंगे देश को संबोधित , अटकलों का बाजार फिर गर्म , ट्वीट कर लिखा - जुड़े जरूर

 

बता दें कि केंद्र सरकार के कृषि संबंधी तीनों कानूनों को लागू कर दिया है ,लेकिन अभी भी कई विपक्षी दल और किसान संगठन इसके विरोध में प्रदर्शन करते नजर आ रहे हैं । पंजाब के मुख्यमंत्री इन्हीं लोगों में से एक हैं । अब उन्होंने केंद्र सरकार के इस कानून के खिलाफ अपनी विधानसभा में तीन नए प्रस्ताव पेश किए । इन प्रस्तावों में उन्होंने केंद्र के फैसले को लेकर निर्णय लिए हैं । सीएम अमरिंदर सिंह द्वारा पेश किए तीन विधेयक, किसान उत्पादन व्यापार एवं वाणिज्य (संवर्धन और सुविधा) विशेष प्रावधान एवं पंजाब संशोधन विधेयक 2020, आवश्यक वस्तु (विशेष प्रावधान और पंजाब संशोधन) विधेयक 2020 और किसान (सशक्तीकरण और संरक्षण) समझौता मूल्य आश्वासन एवं कृषि सेवा (विशेष प्रावधान और पंजाब संशोधन) विधेयक 2020 हैं ।


बिहार में सीएम योगी की हुंकार - वो जाति की बातें करते हैं और हम सिर्फ विकास की

विधानसभा में विधेयक पेश करते हुए कैप्टन अमरिंदर सिंह ने सदन को संबोधित करते हुए कहा कि कृषि राज्य का विषय है, लेकिन केन्द्र ने इसे नजरअंदाज कर दिया । उन्होंने कहा, 'मुझे काफी ताज्जुब है कि आखिर भारत सरकार करना क्या चाहती है। 

विदित हो कि कृषि उपज व्यापार और वाणिज्य (संवर्द्धन और सुविधा) विधेयक-2020, कृषक (सशक्तीरण एवं संरक्षण) कीमत आश्वासन समझौता और कृषि सेवा पर करार विधेयक-2020 विधेयक हाल ही में संसद में पारित हुए थे । राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद (President) के इन्हें मंजूरी देने के बाद अब ये कानून बन चुके हैं । 

Todays Beets: