Wednesday, June 26, 2019

Breaking News

   आईबी के निदेशक होंगे 1984 बैच के आईपीएस अरविंद कुमार, दो साल का होगा कार्यकाल    ||   नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत का कार्यकाल सरकार ने दो साल बढ़ाया    ||   BJP में शामिल हुए INLD के राज्यसभा सांसद राम कुमार कश्यप और केरल के पूर्व CPM सांसद अब्दुल्ला कुट्टी    ||   टीम इंडिया की जर्सी पर विवाद के बीच आईसीसी ने दी सफाई, इंग्लैंड की जर्सी भी नीली इसलिए बदला रंग    ||   PIL की सुनवाई के लिए SC ने जारी किया नया रोस्टर, CJI समेत पांच वरिष्ठ जज करेंगे सुनवाई    ||   अमित शाह बोले - साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के गोसडे पर दिए बयान से भाजपा का सरोकार नहीं    ||   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||

राहुल के राफेल वार पर पीयूष गोयल का पलटवार, कहा- झूठ की राजनीति बंद करें कांग्रेस अध्यक्ष

अंग्वाल न्यूज डेस्क
राहुल के राफेल वार पर पीयूष गोयल का पलटवार, कहा- झूठ की राजनीति बंद करें कांग्रेस अध्यक्ष

नई दिल्ली। राफेल सौदे पर कथित भ्रष्टाचार को लेकर प्रधानमंत्री पर हमलावर रहे राहुल गांधी पर केन्द्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल ने शुक्रवार को पलटवार किया है। पीयूष गोयल ने राहुल गांधी पर तंज करते हुए कहा कि उन्हें झूठ बोलने की राजनीति अब बंद कर देनी चाहिए। एक झूठ के बार-बार बोलने से वह सच नहीं हो जाएगा। बता दें कि गुरुवार को राहुल गांधी ने फ्रांस की मीडिया रिपोर्ट का हवाला देते हुए पीएम नरेन्द्र मोदी को भ्रष्ट बताया था। इसके साथ ही उन्होंने निर्मला सीतारमण की फ्रांस यात्रा को लेकर भी सवाल उठाए हैं। 

गौरतलब है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के आरोपों पर पीयूष गोयल ने कहा कि उन्होंने संसद में भी झूठ बोला कि फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति से उनकी मुलाकात हुई जिसमें उन्होंने विमान समझौते के बारे में बताया। गोयल ने कांग्रेस पार्टी पर आरोप लगाते हुए कहा कि यह मुद्दा विहीन पार्टी है और लगातार झूठ बोलकर जनता को गुमराह कर रही है। उन्हांेने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने देश की सुरक्षा को लेकर राफेल की कीमत और विवरण के बारे में चर्चा करने से इंकार कर दिया है। 

ये भी पढ़ें - चुनावों से पहले शिवराज सरकार को बड़ा झटका, कंप्यूटर बाबा ने सरकार को धर्मविरोधी बताते हुए छोड...


यहां बता दें कि गुरुवार को राहुल गांधी ने प्रेस कांफ्रेंस कर फ्रांस की मीडिया रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा कि इसमें स्पष्ट लिखा है कि भारत सरकार ने कंपनी को रिलायंस के साथ करार करना अनिवार्य बताया था। इसके बाद उन्हांेने रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण की फ्रांस यात्रा पर भी सवाल उठाते हुए कहा कि जब देश में राफेल के बारे में सरकार से जानकारी मांगी जा रही है तो ऐसे समय में रक्षा मंत्री का फ्रांस जाकर दसाॅल्ट कंपनी का दौरा करना सवाल उठाता है। गोयल ने कहा कि राहुल गांधी को यह बात याद रखनी चाहिए कि यह समझौता उनकी सरकार के कार्यकाल में ही किया गया था। 

 

Todays Beets: