Thursday, July 18, 2019

Breaking News

   सूरत: सभी मोदी चोर कहने का मामला, 10 अक्टूबर को हो सकती है राहुल गांधी की पेशी     ||   मुंबई: इमारत गिरने पर बोले MIM नेता वारिस पठान- यह हादसा नहीं, हत्या है     ||   नीरज शेखर के इस्तीफे पर बोले रामगोपाल यादव- गुरु होने के नाते आशीर्वाद दे सकता हूं     ||   लखनऊ: खनन घोटाले में ED ने पूर्व खनन मंत्री गायत्री प्रजापति से पूछताछ की     ||   पोंजी घोटाला: पूछताछ के बाद बोले रोशन बेग- हज पर नहीं जा रहा, जांच में करूंगा सहयोग    ||    संसदीय दल की बैठक में PM मोदी ने कहा- जरूरत पड़ी तो सत्र बढ़ाया जा सकता है     ||   केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बताया- सुप्रीम कोर्ट में जजों की कमी नहीं    ||    AAP नेता इमरान हुसैन ने बीजेपी नेता विजय गोयल और मनजिंदर सिंह सिरसा के खिलाफ की शिकायत    ||   राहुल गांधी के इस्तीफे पर केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा- जय श्रीराम    ||   यूपी सरकार का 17 जातियों को SC की लिस्ट में डालने का फैसला असंवैधानिक: थावर चंद गहलोत    ||

CM योगी आदित्यनाथ ने UP के सभी DM - SSP के लिए जारी किया फरमान

अंग्वाल न्यूज डेस्क
CM योगी आदित्यनाथ ने UP के सभी DM - SSP के लिए जारी किया फरमान

लखनऊ । यूपी की योगी आदित्यनाथ सरकार ने अपने गठन के साथ राज्य में कानून व्यवस्था का राज होने का ऐलान किया था, लेकिन बावजूद इसके काफी अव्यवस्था पिछले कुछ महीनों में देखी गई है । इतना ही नहीं पिछले कुछ समय से अफसरों की लगातार मिल रही शिकायतों पर अब सीएम योगी ने कड़ा रुख अख्तियार किया है । इस सब के बीच सीएम योगी ने प्रदेश के सभी जिलों के जिलाधिकारियों और पुलिस कप्तानों के लिए नया फरमान जारी करते हुए उन्हें सुबह 9 बजे से लेकर 11 बजे तक अपने दफ्तर में बैठने को कहा है । इन तीन घंटों के दौरान अफसर लोगों की जनसुनवाई करेंगे । उनका यह आदेश ऐसे समय में आया है जब लोकसभा चुनावों में हार का सामना करने वाली सपा-बसपा ने प्रदेश सरकार को कानून व्यवस्था के मुद्दे पर आड़े हाथ लिया है ।

ममता की TMC में फिर सेंध , एक विधायक समेत 13 पार्षदों आज भाजपा में होंगे शामिल

बता दें कि राज्य में खराब कानून व्यवस्था का मुद्दा उठाते हुए बसपा प्रमुख मायावती और समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने यूपी सरकार पर हमला बोला है । मायावती ने जहां कई बार योगी आदित्यनाथ सरकार पर सवाल खड़े किए तो अखिलेश यादव ने राज्यपाल राम नाईक से मुलाकात कर मेमोरेंडम सौंपा था । प्रदेश में बढ़ते अपराध के चलते विपक्षी दल लगातार सत्तारूढ़ पार्टी को निशाना बना रहे हैं।

मायावती ने सोमवार को ट्विटर पर लिखा, 'यूपी में अपराध नियंत्रण व कानून-व्यवस्था की बिगड़ी स्थिति के साथ-साथ सर्वसमाज की बहन- बेटियों की जान व इज्जत-आबरू के संबंध में अराजकता जैसी स्थिति अति-दुःखद व अति-चिन्ता का विषय।' उन्होंने लिखा - सरकारी दावों के विपरीत पूरे प्रदेश में हर प्रकार के जघन्य अपराधों की बाढ़ से जनता में त्राहि-त्राहि.' बिजली की किल्लत पर मायावती ने कहा, 'यूपी की त्रस्त जनता व बीपीएल परिवारों पर भी बिजली की दरों में भारी वृद्धि करके उन्हें तेज झटका देने की सरकारी तैयारी घोर निन्दनीय. लोकसभा चुनाव के बाद क्या बीजेपी सरकार इसी रूप में यूपी की 20 करोड़ जनता को आघात पहुंचाएगी? यह वृद्धि सौभाग्य को दुर्भाग्य योजना में नहीं बदल देगी?'


बिहार : मोतिहारी में भी चमकी बुखार की दस्तक , अब तक 100 बच्चों की मौत , हर्षवर्धन के खिलाफ मुकदमा

इससे पहले सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने राज्यपाल राम नाईक से मुलाकात कर प्रदेश की कानून व्यवस्था के मद्दे पर ज्ञापन सौंपा था । अखिलेश यादव ने राज्यपाल से कहा कि वो कानून व्यवस्था पर सरकार को जगाएं ।इस सब के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ ने सभी जिलों के जिलाधिकारियों और पुलिस कप्तानों को निर्देश जारी करते हुए कहा कि वह सुबह तीन घंटे अपने कार्यालयों में जनसुनवाई करेंगे । इस दौरान लोगों की समस्याओं का समाधान किया जाए ।

 

Todays Beets: