Saturday, December 15, 2018

Breaking News

   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||   बजरंगबली पर दिए गए बयान को लेकर हिन्दू महासभा ने योगी को कानूनी नोटिस भेजा     ||   पीएम मोदी 3 द‍िसंबर को हैदराबाद में लेंगे पब्ल‍िक मीट‍िंग     ||   भगत स‍िंह आतंकवादी नहीं, हमारे देश को उन पर गर्व है- फारुख अब्दुल्ला     ||   अन‍िल अंबानी की जेब में देश का पैसा जा रहा है-राहुल गांधी     ||

ब्लू ह्वेल, किकी के बाद अब शुरू हुआ मौत का नया खेल ‘मोमो चैलेंज’, बच्चों पर रखें निगरानी

अंग्वाल न्यूज डेस्क
ब्लू ह्वेल, किकी के बाद अब शुरू हुआ मौत का नया खेल ‘मोमो चैलेंज’, बच्चों पर रखें निगरानी

नई दिल्ली। अगर आपका बच्चा स्मार्टफोन के जरिए सोशल मीडिया पर बहुत ज्यादा समय व्यतीत करता है तो सावधान हो जाएं। ब्लू ह्वेल, किकी के बाद इन दिनों ‘मोमो चैलेंज’ सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। ‘मोमो चैलेंज’ व्हाट्सएप के जरिए युवाओं के बीच काफी लोकप्रिय हो रहा है। इस खेल में पहले एक अंजान नंबर दिया जाता है, उसके बाद बाद डरावनी तस्वीरों को भेजकर यूजर्स को डराकर उनसे मनचाहा काम करवाया जाता है। ऐसे में व्हाट्सएप पर आने वाले किसी भी अंजान नंबर को सेव न करें। 

बताया जा रहा है कि मोमो चैलेंज की शुरुआत जापान से हुई है। इसमें यहां के मशहूर कलाकार मिदोरी हायाशी के द्वारा बनाई गई एक डरावनी तस्वीर का उपयोग किया जा रहा है। हालांकि उनका इस खेल से कोई लेना-देना नहीं है। बताया जा रहा है कि यह खेल काफी खतरनाक है। अंजान नंबर के द्वारा दिए गए टास्क को पूरा नहीं करने पर यह तस्वीर यूजर्स को काफी डांटती है और उसे सजा देने की धमकी देती है। इसके बाद यूजर्स टास्क को पूरा करने पर मजबूर करती है। 

ये भी पढ़ें - कांग्रेस नेता शशि थरूर ने एक बार बोला पीएम पर हमला, पूछा- क्यों नहीं पहनते मुस्लिम टोपी?


यहां बता दें कि इससे पहले ब्लू ह्वेल और किकी चैलेंज कई लोगों के लिए जानलेवा साबित हुआ है। अब इस नए मोमो चैलेंज के जरिए युवाओं को अपराधी फंसाने का काम कर रहे हैं और उनका डाटा चोरी करने के बाद उनके परिजनों से फिरौती की भी मांग करते हैं। ये अपराधी युवाओं और बच्चों में तनाव बढ़ाकर उन्हें आत्महत्या के लिए उकसाती हैं। 

 

गौर करने वाली बात है कि सोशल मीडिया विशेषज्ञों का कहना है कि माता-पिता को बच्चों की गतिविधियों पर नजर रखनी चाहिए। स्मार्टफोन का इस्तेमाल करते हुए अगर उनके व्यवहार में कोई भी बदलाव दिखे तो फौरन ही किसी अच्छे मनोचिकित्सक से दिखाना चाहिए। 

Todays Beets: