Tuesday, April 7, 2020

Breaking News

   भोपाल की बडी झील में पलटी आईपीएस अधिकारियों की नाव, कोई जनहानी नहीं    ||   सुरक्षा परिषद के मंच का दुरुपयोग करके कश्मीर मसले को उछालने की कोशिश कर रहा PAK: भारतीय विदेश मंत्रालय     ||   IIM कोझिकोड में बोले पीएम मोदी- भारतीय चिंतन में दुनिया की बड़ी समस्याओं को हल करने का है सामर्थ    ||   बिहार में रेलवे ट्रैक पर आई बैलगाड़ी को ट्रेन ने मारी टक्कर, 5 लोगों की मौत, 2 गंभीर रूप से घायल     ||   CAA और 370 पर बोले मालदीव के विदेश मंत्री- भारत जीवंत लोकतंत्र, दूसरे देशों को नहीं करना चाहिए दखल     ||   जेएनयू के वाइस चांसलर जगदीश कुमार ने कहा- हिंसा को लेकर यूनिवर्सिटी को बंद करने की कोई योजना नहीं     ||   मायावती का प्रियंका पर पलटवार- कांग्रेस ने की दलितों की अनदेखी, बनानी पड़ी BSP     ||   आर्मी चीफ पर भड़के चिदंबरम, कहा- आप सेना का काम संभालिए, राजनीति हमें करने दें     ||   राजस्थान: BJP प्रतिनिधिमंडल ने कोटा के अस्पताल का दौरा किया, 48 घंटों में 10 नवजात शिशुओं की हुई थी मौत     ||   दिल्ली: दरियागंज हिंसा के 15 आरोपियों की जमानत याचिका पर 7 जनवरी को सुनवाई करेगा तीस हजारी कोर्ट     ||

आपने मोबाइल वाॅलेट का केवाईसी करवाया या नहीं, 1 मार्च से बंद हो जाएगी सेवा 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
आपने मोबाइल वाॅलेट का केवाईसी करवाया या नहीं, 1 मार्च से बंद हो जाएगी सेवा 

नई दिल्ली। आजकल ज्यादातर लोग अपने सामानों की खरीदारी आॅनलाइन करते हैं और कीमत का भुगतान भी मोबाइल वाॅलेट से करते हैं। अब रिजर्व बैंक इन मोबाइल वाॅलेट की सुविधा को 1 मार्च से बंद करने जा रहा है। खबरों के अनुसार रिजर्व बैंक ने सभी मोबाइल वाॅलेट की सुविधा देने वाली कंपनियों को 28 फरवरी तक केवाईसी को पूरा करने का वक्त दिया है। ऐसा नहीं करने वालों का मोबाइल वाॅलेट 1 मार्च के बाद बंद हो जाएगा। हालांकि रिजर्व बैंक ने मार्च के बाद भी मोबाइल वाॅलेट के पैसों का इस्तेमाल करने की इजाजत दी है। 

गौरतलब है कि मोबाइल वाॅलेट की सुविधा बंद होने से लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। रिजर्व बैंक के अनुसार ज्यादातर मोबाइल कंपनियों ने अभी तक केवाईसी को पूरा नहीं किया है। बैंक की ओर से केवाईसी पूरा करने की डेडलाइन 28 फरवरी रखी गई है। हालांकि रिजर्व बैंक ने मोबाइल वाॅलेट इस्तेमाल करने वाले ग्राहकों को राहत देते हुए कहा कि वे 28 फरवरी के बाद भी वाॅलेट में बचे अपने पैसों का इस्तेमाल सामानों को खरीदने के लिए कर सकते हैं। इतना ही नहीं वे पैसों को अपने खातों में भी जमा कर सकते हैं। 

ये भी पढ़ें - अश्लील सामग्री परोसी तो देना होगा 15 करोड़ का जुर्माना, आईटी एक्ट में होगा बदलाव

यहां बता दें कि आज ज्यादातर लोग बाजार जाने की जहमत उठाने के बजाय आॅनलाइन शाॅपिंग करने और भुगतान भी मोबाइल वाॅलेट के जरिए करना ही ज्यादा पसंद करते हैं। आरबीआई ने कहा है कि ग्राहक 1 मार्च से बिना केवाईसी के लिए वॉलेट में पैसा नहीं डाल सकेंगे। इसके साथ ही किसी को भी पैसा भेज भी नहीं सकेंगे। आरबीआई के सख्त दिशानिर्देशों के चलते ऐसा होने जा रहा है। आरबीआई का सभी मोबाइल वॉलेट कंपनियों को निर्देश है कि वो अपने यूजर्स की बेसिक केवाईसी की प्रक्रिया को पूरा कर लें। 


आपको बता दें कि कुछ बैंकों के द्वारा इस तरह की अफवाह भी फैलाई जा रही है कि 1 मार्च के बाद भी उनका मोबाइल वाॅलेट पहले ही की तरह काम करता रहेगा। बता दें कि अगर आप भी इस गलतफहमी में हैं तो सावधान हो जाएं। रिजर्व बैंक के नए नियमों के अनुसार केवाईसी की प्रक्रिया पूरी करना जरूरी है। अगर आपकी भी केवाईसी पूरी नहीं हुई तो जल्द ही करवा लें और खुलकर आॅनलाइन खरीदारी का आनंद लें।  

देश भर में ये हैं प्रमुख मोबाइल वॉलेट कंपनियां

देश भर में पेटीएम, मोबीक्विक, एसबीआई योनो, एचडीएफसी पैजेप, एम-पैसा, एयरटेल मनी, चिल्लर, अमेजन पे, फोन-पे प्रमुख मोबाइल वॉलेट कंपनियां हैं। 

 

Todays Beets: