Friday, March 1, 2024

Breaking News

   एमसीडी में एल्डरमैन की नियुक्ति को चुनौती देने वाली याचिका पर SC 8 मई को करेगा सुनवाई     ||   यूक्रेन से युद्ध में दिसंबर से अब तक रूस के 20000 से ज्यादा लड़ाके मारे गए: अमेरिका     ||   IPL: मैच के बाद भिड़ गए थे गौतम गंभीर और विराट कोहली, लगा 100% मैच फी का जुर्माना     ||   पंजाब में 15 जुलाई तक सरकारी कार्यालयों में सुबह 7:30 बजे से दोपहर दो बजे तक होगा काम     ||   गैंगस्टर टिल्लू की लोहे की रोड और सूए से हत्या, गोगी गैंग के 4 बदमाशों ने किया हमला     ||   सुप्रीम कोर्ट ने 'द केरल स्टोरी' पर बैन लगाने की मांग वाली याचिका पर तुरंत सुनवाई से किया इनकार     ||   नीतीश कटारा हत्याकांड: SC में नियमित पैरोल की मांग करने वाली विशाल यादव की याचिका खारिज     ||   'मैंने सिर्फ इस्तीफा दिया है, बाकी काम करता रहूंगा' नेताओं के मनाने पर बोले शरद पवार     ||   सोनिया गांधी दिल्ली के गंगाराम अस्पताल में भर्ती    ||   कर्नाटक हिजाब केस में SC ने तुरंत सुनवाई से इंकार किया    ||

आपने मोबाइल वाॅलेट का केवाईसी करवाया या नहीं, 1 मार्च से बंद हो जाएगी सेवा 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
आपने मोबाइल वाॅलेट का केवाईसी करवाया या नहीं, 1 मार्च से बंद हो जाएगी सेवा 

नई दिल्ली। आजकल ज्यादातर लोग अपने सामानों की खरीदारी आॅनलाइन करते हैं और कीमत का भुगतान भी मोबाइल वाॅलेट से करते हैं। अब रिजर्व बैंक इन मोबाइल वाॅलेट की सुविधा को 1 मार्च से बंद करने जा रहा है। खबरों के अनुसार रिजर्व बैंक ने सभी मोबाइल वाॅलेट की सुविधा देने वाली कंपनियों को 28 फरवरी तक केवाईसी को पूरा करने का वक्त दिया है। ऐसा नहीं करने वालों का मोबाइल वाॅलेट 1 मार्च के बाद बंद हो जाएगा। हालांकि रिजर्व बैंक ने मार्च के बाद भी मोबाइल वाॅलेट के पैसों का इस्तेमाल करने की इजाजत दी है। 

गौरतलब है कि मोबाइल वाॅलेट की सुविधा बंद होने से लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। रिजर्व बैंक के अनुसार ज्यादातर मोबाइल कंपनियों ने अभी तक केवाईसी को पूरा नहीं किया है। बैंक की ओर से केवाईसी पूरा करने की डेडलाइन 28 फरवरी रखी गई है। हालांकि रिजर्व बैंक ने मोबाइल वाॅलेट इस्तेमाल करने वाले ग्राहकों को राहत देते हुए कहा कि वे 28 फरवरी के बाद भी वाॅलेट में बचे अपने पैसों का इस्तेमाल सामानों को खरीदने के लिए कर सकते हैं। इतना ही नहीं वे पैसों को अपने खातों में भी जमा कर सकते हैं। 

ये भी पढ़ें - अश्लील सामग्री परोसी तो देना होगा 15 करोड़ का जुर्माना, आईटी एक्ट में होगा बदलाव

यहां बता दें कि आज ज्यादातर लोग बाजार जाने की जहमत उठाने के बजाय आॅनलाइन शाॅपिंग करने और भुगतान भी मोबाइल वाॅलेट के जरिए करना ही ज्यादा पसंद करते हैं। आरबीआई ने कहा है कि ग्राहक 1 मार्च से बिना केवाईसी के लिए वॉलेट में पैसा नहीं डाल सकेंगे। इसके साथ ही किसी को भी पैसा भेज भी नहीं सकेंगे। आरबीआई के सख्त दिशानिर्देशों के चलते ऐसा होने जा रहा है। आरबीआई का सभी मोबाइल वॉलेट कंपनियों को निर्देश है कि वो अपने यूजर्स की बेसिक केवाईसी की प्रक्रिया को पूरा कर लें। 


आपको बता दें कि कुछ बैंकों के द्वारा इस तरह की अफवाह भी फैलाई जा रही है कि 1 मार्च के बाद भी उनका मोबाइल वाॅलेट पहले ही की तरह काम करता रहेगा। बता दें कि अगर आप भी इस गलतफहमी में हैं तो सावधान हो जाएं। रिजर्व बैंक के नए नियमों के अनुसार केवाईसी की प्रक्रिया पूरी करना जरूरी है। अगर आपकी भी केवाईसी पूरी नहीं हुई तो जल्द ही करवा लें और खुलकर आॅनलाइन खरीदारी का आनंद लें।  

देश भर में ये हैं प्रमुख मोबाइल वॉलेट कंपनियां

देश भर में पेटीएम, मोबीक्विक, एसबीआई योनो, एचडीएफसी पैजेप, एम-पैसा, एयरटेल मनी, चिल्लर, अमेजन पे, फोन-पे प्रमुख मोबाइल वॉलेट कंपनियां हैं। 

 

Todays Beets: