Thursday, June 24, 2021

Breaking News

   राम मंदिर ट्रस्ट में भी उठे जमीन खरीद पर सवाल, सीएम योगी ने मांगी रिपोर्ट     ||   यूपीः बसपा से बागी हुए 9 विधायक आज अखिलेश यादव से करेंगे मुलाकात     ||   वैक्सीन विवाद पर अखिलेश यादव बोले, पहले यूपी की सारी जनता को लग जाए, फिर मैं लगवा लूंगा     ||   कांग्रेस ने चिराग को दिया न्योता, एमएलसी प्रेम चंद बोले- उनके आने से बिहार में विपक्ष मजबूत होगा     ||   बिहार में कल से एक हफ्ते तक लॉकडाउन में ढील, लेकिन नाइट कर्फ्यू लागू रहेगा     ||   पाकिस्तान: आपस में दो ट्रेन टकराईं, 30 की मौत, ट्रेन में अभी भी फंसे हुए हैं बहुत से यात्री     ||   उत्तराखंड: सुनगर के पास हुआ भारी भूस्खलन, गंगोत्री हाइवे हुआ बंद, खुलने में लगेगा वक्त     ||   विवादों में आई 'Family Man 2', बैन लगाने के लिए तमिल नेताओं ने Amazon को लिखा पत्र     ||   केरलः पीटी उषा की सीएम विजयन से अपील- सभी खिलाड़ियों, उनके कोच और स्टाफ को वैक्सीनेट किया जाए     ||   इंडियन मेडिकल एसोसिएशन का दावा, कोरोना की दूसरी लहर में 269 डॉक्टरों ने जान गंवाई     ||

आखिरकार भारत की मांगों के आगे झुका व्हाट्सएप, अभिजीत बोस को बनाया कंट्री हेड

अंग्वाल न्यूज डेस्क
आखिरकार भारत की मांगों के आगे झुका व्हाट्सएप, अभिजीत बोस को बनाया कंट्री हेड

नई दिल्ली। मैसेजिंग कंपनी व्हाट्सएप को आखिरकार भारत सरकार की मांग के आगे झुकना पड़ा है। कंपनी ने भारत में अपना प्रमुख एक भारतीय अभिजीत बोस को स्थानीय (भारत) प्रमुख नियुक्त करने की घोषणा की है।  व्हाट्सएप की तरफ से दिए गए बयान में कहा गया है कि बोस अगले साल (2019) की शुरुआत में कंपनी से जुड़ेंगे। वह कैलिफोर्निया से बाहर गुड़गांव में एक नई टीम बनाएंगे। बता दें कि कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने व्हाट्सएप को भारत में अपना टावर लगाने और किसी भारतीय को उसका प्रमुख बनाने की बात कही थी।

गौरतलब है कि भारत में व्हाट्सएप के यूजर्स की संख्या को देखते हुए कंपनी ने कहा कि वह भारत के लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध है। कंपनी की ओर से कहा गया है कि वह ऐसे उत्पाद विकसित करने के लिए तैयार है जो लोगों के एक-दूसरे के साथ संपर्क करने में मददगार हो और डिजिटल अर्थव्यवस्था का भी समर्थन करता हो। 

ये भी पढ़ें - मोबाइल उपभोक्ता ध्यान दें, बंद हो सकती है आपकी इंकमिंग काॅल!


यहां बता दें कि देश में अफवाहों की वजह से माॅब लिंचिंग की बढ़ती घटनाओं को देखते हुए केंद्रीय सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने अगस्त में व्हाट्सएप के मुख्य कार्यकारी अधिकारी क्रिस डेनियल्स से मुलाकात की थी और कहा था कि प्लेटफार्म को भारत के कानूनों का पालन करना चाहिए और इंस्टेंट मैसेजिंग प्लेटफार्म का दुरुपयोग रोकने के लिए मुनासिब कदम उठाना चाहिए। इसके बाद ही कंपनी की ओर से यह कदम उठाया गया है। 

 

Todays Beets: