Thursday, November 26, 2020

Breaking News

   कानपुर: विकास दुबे और उसके गुर्गों समेत 200 लोगों की असलहा लाइसेंस फाइल हुई गायब     ||   हाथरस कांड: यूपी सरकार ने SC में पीड़िता के परिवार की सुरक्षा पर दाखिल किया हलफनामा     ||   लखनऊ: आत्मदाह की कोशिश मामले में पूर्व राज्यपाल के बेटे को हिरासत में लिया गया     ||   मानहानि केस: पायल घोष ने ऋचा चड्ढा से बिना शर्त माफी मांगी     ||   लक्ष्मी विलास होटल केस: पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण शौरी हुए सीबीआई कोर्ट में पेश     ||   पश्चिम बंगाल: CM ममता बनर्जी ने अलापन बंद्योपाध्याय को बनाया मुख्य सचिव     ||   काशी विश्वनाथ मंदिर और ज्ञानवापी मस्जिद मामले में 3 अक्टूबर को होगी अगली सुनवाई     ||   इस्तीफे पर बोलीं हरसिमरत कौर- मुझे कुछ हासिल नहीं हुआ, लेकिन किसानों के मुद्दों को एक मंच मिल गया     ||   ईडी के अनुरोध के बाद चेतन और नितिन संदेसरा भगोड़ा आर्थिक अपराधी घोषित     ||   रक्षा अधिग्रहण परिषद ने विभिन्न हथियारों और उपकरणों के लिए 2290 करोड़ रुपये की मंजूरी दी     ||

व्हाट्सएप पर आपकी सहमति के बिना कोई नहीं जोड़ पाएगा आपको ग्रुप में

अंग्वाल संवाददाता
व्हाट्सएप पर आपकी सहमति के बिना कोई नहीं जोड़ पाएगा आपको ग्रुप में

नई दिल्ली । लोकसभा चुनावों के मद्देनजर व्हाट्सएप पर भी अब सख्ती की गई है। अब कोई भी व्यक्ति आपकी बिना इजाजत लिए आपको किसी ग्रुप में नहीं जोड़ पाएगा । इसकी शुरुआत जल्द ही शुरू हो जाएगी । किसी भी शख्स को अगर आप किसी ग्रुप से जोड़ेंगे तो उससे पहले व्हाट्सएप इस शख्स से ग्रुप में जुड़ने की सहमति मांगेगा, अगर उक्त व्यक्ति ग्रुप से नहीं जुड़ना चाहता तो उसे ग्रुप में शामिल नहीं किया जा सकेगा । इसके साथ ही फेक न्यूज की समस्या से निपटने के लिए अब व्हाट्सएप ने कमर कस ली है । फेक न्यूज से बचने के लिए इस लोकसभा चुनाव के मद्देनजर व्हाट्सएप कुछ नए फीचर्स लेकर आया है।  भारत के 20 करोड़ व्हाट्सएप यूजर्स के लिए ये सर्विस मंगलवार को लॉन्च की गई।

चलिए बताते हैं आपको कि व्हाट्सएप ने क्या नई सुविधाएं इस एप में दी हैं। 

1-  भारत में अब व्हाट्सएप यूजर्स किसी गलत सूचना या अफवाहों को WhatsApp पर Checkpoint Tipline (+91-9643-000-888) भेज सकते हैं।

2- फेक न्यूज से निपटने के लिए WhatsApp ने नई सर्विस 'चेकप्वॉइंट टिपलाइन' लॉन्च की है ।

3- यूजर के टिपलाइन के साथ मैसेज शेयर करने के बाद, प्रोटो का वेरीफिकेशन सेंटर मैसेज सही है या नहीं ये जांचने के बाद यूजर को बताएगा कि मैसेज में किया गया दावा सच है झूठ।     इस सर्विस को भारत की मीडिया स्किलिंग स्टार्ट-अप प्रोटो ने लॉन्च किया है।

4- WhatsApp का ये वेरिफिकेशन सेंटर मैसेज, फोटो और वीडियो लिंक को इंग्लिश के अलावा चार भाषाओं में चेक करेगा ।


5-  चुनावों के दौरान देश में कई क्षेत्रों में फैल रही गलत न्यूज सबमिट करने के लिए प्रोटो जमीनी स्तर पर भी संगठनों के साथ काम करेगा।

6- इसके पहले भी फेक न्यूज पर लगाम लगाने के लिए वॉट्सऐप ने मैसेज को फॉरवर्ड करने की संख्या को सीमित कर 5 कर दिया गया था।

 

 

 

Todays Beets: