Tuesday, January 28, 2020

Breaking News

   सुरक्षा परिषद के मंच का दुरुपयोग करके कश्मीर मसले को उछालने की कोशिश कर रहा PAK: भारतीय विदेश मंत्रालय     ||   IIM कोझिकोड में बोले पीएम मोदी- भारतीय चिंतन में दुनिया की बड़ी समस्याओं को हल करने का है सामर्थ    ||   बिहार में रेलवे ट्रैक पर आई बैलगाड़ी को ट्रेन ने मारी टक्कर, 5 लोगों की मौत, 2 गंभीर रूप से घायल     ||   CAA और 370 पर बोले मालदीव के विदेश मंत्री- भारत जीवंत लोकतंत्र, दूसरे देशों को नहीं करना चाहिए दखल     ||   जेएनयू के वाइस चांसलर जगदीश कुमार ने कहा- हिंसा को लेकर यूनिवर्सिटी को बंद करने की कोई योजना नहीं     ||   मायावती का प्रियंका पर पलटवार- कांग्रेस ने की दलितों की अनदेखी, बनानी पड़ी BSP     ||   आर्मी चीफ पर भड़के चिदंबरम, कहा- आप सेना का काम संभालिए, राजनीति हमें करने दें     ||   राजस्थान: BJP प्रतिनिधिमंडल ने कोटा के अस्पताल का दौरा किया, 48 घंटों में 10 नवजात शिशुओं की हुई थी मौत     ||   दिल्ली: दरियागंज हिंसा के 15 आरोपियों की जमानत याचिका पर 7 जनवरी को सुनवाई करेगा तीस हजारी कोर्ट     ||   रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की सुरक्षा में चूक, मोटरसाइकिल काफिले के सामने आया शख्स     ||

व्हाट्सएप पर आपकी सहमति के बिना कोई नहीं जोड़ पाएगा आपको ग्रुप में

अंग्वाल संवाददाता
व्हाट्सएप पर आपकी सहमति के बिना कोई नहीं जोड़ पाएगा आपको ग्रुप में

नई दिल्ली । लोकसभा चुनावों के मद्देनजर व्हाट्सएप पर भी अब सख्ती की गई है। अब कोई भी व्यक्ति आपकी बिना इजाजत लिए आपको किसी ग्रुप में नहीं जोड़ पाएगा । इसकी शुरुआत जल्द ही शुरू हो जाएगी । किसी भी शख्स को अगर आप किसी ग्रुप से जोड़ेंगे तो उससे पहले व्हाट्सएप इस शख्स से ग्रुप में जुड़ने की सहमति मांगेगा, अगर उक्त व्यक्ति ग्रुप से नहीं जुड़ना चाहता तो उसे ग्रुप में शामिल नहीं किया जा सकेगा । इसके साथ ही फेक न्यूज की समस्या से निपटने के लिए अब व्हाट्सएप ने कमर कस ली है । फेक न्यूज से बचने के लिए इस लोकसभा चुनाव के मद्देनजर व्हाट्सएप कुछ नए फीचर्स लेकर आया है।  भारत के 20 करोड़ व्हाट्सएप यूजर्स के लिए ये सर्विस मंगलवार को लॉन्च की गई।

चलिए बताते हैं आपको कि व्हाट्सएप ने क्या नई सुविधाएं इस एप में दी हैं। 

1-  भारत में अब व्हाट्सएप यूजर्स किसी गलत सूचना या अफवाहों को WhatsApp पर Checkpoint Tipline (+91-9643-000-888) भेज सकते हैं।

2- फेक न्यूज से निपटने के लिए WhatsApp ने नई सर्विस 'चेकप्वॉइंट टिपलाइन' लॉन्च की है ।

3- यूजर के टिपलाइन के साथ मैसेज शेयर करने के बाद, प्रोटो का वेरीफिकेशन सेंटर मैसेज सही है या नहीं ये जांचने के बाद यूजर को बताएगा कि मैसेज में किया गया दावा सच है झूठ।     इस सर्विस को भारत की मीडिया स्किलिंग स्टार्ट-अप प्रोटो ने लॉन्च किया है।

4- WhatsApp का ये वेरिफिकेशन सेंटर मैसेज, फोटो और वीडियो लिंक को इंग्लिश के अलावा चार भाषाओं में चेक करेगा ।


5-  चुनावों के दौरान देश में कई क्षेत्रों में फैल रही गलत न्यूज सबमिट करने के लिए प्रोटो जमीनी स्तर पर भी संगठनों के साथ काम करेगा।

6- इसके पहले भी फेक न्यूज पर लगाम लगाने के लिए वॉट्सऐप ने मैसेज को फॉरवर्ड करने की संख्या को सीमित कर 5 कर दिया गया था।

 

 

 

Todays Beets: