Wednesday, October 16, 2019

Breaking News

   दिल्ली में भी भोपाल जैसा हनी ट्रैप , कई रईसजादों को विदेशी लड़कियों की मदद से फंसाया    ||   घाटी में घनघटाने लगीं मोबाइल फोन की घंटियां, इंटरनेट पर अभी भी प्रतिबंध    ||   इकबाल मिर्ची की इमारत में प्रफुल्ल पटेल का भी फ्लैट , ईडी ने भेजा समन    ||   रणवीर सिंह ने ठुकराया संजय लीला भंसाली की फिल्म का ऑफर , आलिया भट्ट हैं फिल्म की हिरोइन    ||   वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के पति ने भी माना- अर्थव्यवस्था की हालत खराब     ||   दिल्ली में डेंगू ने तोड़ा रिकॉर्ड, इस हफ्ते में 111 नए मामले आए सामने     ||   अगस्ता वेस्टलैंड मनी लॉन्ड्रिंग केस: 25 अक्टूबर तक बढ़ी रतुल पुरी की न्यायिक हिरासत     ||   तमिलनाडु: मसाले की फैक्ट्री में लगी आग, मौके पर दमकल की गाड़ियां मौजूद     ||   Parle में छंटनी का संकट: मयंक शाह बोले- सरकार से अहसान नहीं मांग रहे     ||   ILFS लोन मामले में MNS प्रमुख राज ठाकरे से ED की पूछताछ    ||

व्हाट्सएप पर आपकी सहमति के बिना कोई नहीं जोड़ पाएगा आपको ग्रुप में

अंग्वाल संवाददाता
व्हाट्सएप पर आपकी सहमति के बिना कोई नहीं जोड़ पाएगा आपको ग्रुप में

नई दिल्ली । लोकसभा चुनावों के मद्देनजर व्हाट्सएप पर भी अब सख्ती की गई है। अब कोई भी व्यक्ति आपकी बिना इजाजत लिए आपको किसी ग्रुप में नहीं जोड़ पाएगा । इसकी शुरुआत जल्द ही शुरू हो जाएगी । किसी भी शख्स को अगर आप किसी ग्रुप से जोड़ेंगे तो उससे पहले व्हाट्सएप इस शख्स से ग्रुप में जुड़ने की सहमति मांगेगा, अगर उक्त व्यक्ति ग्रुप से नहीं जुड़ना चाहता तो उसे ग्रुप में शामिल नहीं किया जा सकेगा । इसके साथ ही फेक न्यूज की समस्या से निपटने के लिए अब व्हाट्सएप ने कमर कस ली है । फेक न्यूज से बचने के लिए इस लोकसभा चुनाव के मद्देनजर व्हाट्सएप कुछ नए फीचर्स लेकर आया है।  भारत के 20 करोड़ व्हाट्सएप यूजर्स के लिए ये सर्विस मंगलवार को लॉन्च की गई।

चलिए बताते हैं आपको कि व्हाट्सएप ने क्या नई सुविधाएं इस एप में दी हैं। 

1-  भारत में अब व्हाट्सएप यूजर्स किसी गलत सूचना या अफवाहों को WhatsApp पर Checkpoint Tipline (+91-9643-000-888) भेज सकते हैं।

2- फेक न्यूज से निपटने के लिए WhatsApp ने नई सर्विस 'चेकप्वॉइंट टिपलाइन' लॉन्च की है ।

3- यूजर के टिपलाइन के साथ मैसेज शेयर करने के बाद, प्रोटो का वेरीफिकेशन सेंटर मैसेज सही है या नहीं ये जांचने के बाद यूजर को बताएगा कि मैसेज में किया गया दावा सच है झूठ।     इस सर्विस को भारत की मीडिया स्किलिंग स्टार्ट-अप प्रोटो ने लॉन्च किया है।

4- WhatsApp का ये वेरिफिकेशन सेंटर मैसेज, फोटो और वीडियो लिंक को इंग्लिश के अलावा चार भाषाओं में चेक करेगा ।


5-  चुनावों के दौरान देश में कई क्षेत्रों में फैल रही गलत न्यूज सबमिट करने के लिए प्रोटो जमीनी स्तर पर भी संगठनों के साथ काम करेगा।

6- इसके पहले भी फेक न्यूज पर लगाम लगाने के लिए वॉट्सऐप ने मैसेज को फॉरवर्ड करने की संख्या को सीमित कर 5 कर दिया गया था।

 

 

 

Todays Beets: