Saturday, July 11, 2020

Breaking News

   राजस्थान सरकार का प्राइवेट स्कूलों को आदेश- स्कूल खुलने तक फीस न लें     ||   गुजरात सरकार में मंत्री रमन पाटकर कोरोना वायरस से संक्रमित     ||   विकास दुबे पर पुलिस की नाकामी से भड़के योगी, खुद रख रहे ऑपरेशन पर नजर!     ||   विकास दुबे का बॉडीगार्ड था एनकाउंटर में ढेर अमर दुबे, 29 जून को ही हुई थी शादी     ||   सरकार की लिस्ट में अब 'आवश्यक' नहीं रहे मास्क और सैनिटाइजर     ||   उत्तराखंड: कोरोना के 46 नए मामले, कुल पॉजिटिव केस हुए 1199     ||   माले: ऑपरेशन समुद्र सेतु के तहत आईएनएस जलश्व से मालदीव में फंसे 700 भारतीय लाए जा रहे वापस     ||   बिहार: ADG लॉ एंड ऑर्डर ने जताई आशंका, प्रवासियों के आने से बढ़ सकता है अपराध     ||   दिल्ली: बीजेपी के नवनियुक्त प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने संभाला अपना पदभार     ||   भोपाल की बडी झील में पलटी आईपीएस अधिकारियों की नाव, कोई जनहानी नहीं    ||

व्हाट्सएप पर आपकी सहमति के बिना कोई नहीं जोड़ पाएगा आपको ग्रुप में

अंग्वाल संवाददाता
व्हाट्सएप पर आपकी सहमति के बिना कोई नहीं जोड़ पाएगा आपको ग्रुप में

नई दिल्ली । लोकसभा चुनावों के मद्देनजर व्हाट्सएप पर भी अब सख्ती की गई है। अब कोई भी व्यक्ति आपकी बिना इजाजत लिए आपको किसी ग्रुप में नहीं जोड़ पाएगा । इसकी शुरुआत जल्द ही शुरू हो जाएगी । किसी भी शख्स को अगर आप किसी ग्रुप से जोड़ेंगे तो उससे पहले व्हाट्सएप इस शख्स से ग्रुप में जुड़ने की सहमति मांगेगा, अगर उक्त व्यक्ति ग्रुप से नहीं जुड़ना चाहता तो उसे ग्रुप में शामिल नहीं किया जा सकेगा । इसके साथ ही फेक न्यूज की समस्या से निपटने के लिए अब व्हाट्सएप ने कमर कस ली है । फेक न्यूज से बचने के लिए इस लोकसभा चुनाव के मद्देनजर व्हाट्सएप कुछ नए फीचर्स लेकर आया है।  भारत के 20 करोड़ व्हाट्सएप यूजर्स के लिए ये सर्विस मंगलवार को लॉन्च की गई।

चलिए बताते हैं आपको कि व्हाट्सएप ने क्या नई सुविधाएं इस एप में दी हैं। 

1-  भारत में अब व्हाट्सएप यूजर्स किसी गलत सूचना या अफवाहों को WhatsApp पर Checkpoint Tipline (+91-9643-000-888) भेज सकते हैं।

2- फेक न्यूज से निपटने के लिए WhatsApp ने नई सर्विस 'चेकप्वॉइंट टिपलाइन' लॉन्च की है ।

3- यूजर के टिपलाइन के साथ मैसेज शेयर करने के बाद, प्रोटो का वेरीफिकेशन सेंटर मैसेज सही है या नहीं ये जांचने के बाद यूजर को बताएगा कि मैसेज में किया गया दावा सच है झूठ।     इस सर्विस को भारत की मीडिया स्किलिंग स्टार्ट-अप प्रोटो ने लॉन्च किया है।

4- WhatsApp का ये वेरिफिकेशन सेंटर मैसेज, फोटो और वीडियो लिंक को इंग्लिश के अलावा चार भाषाओं में चेक करेगा ।


5-  चुनावों के दौरान देश में कई क्षेत्रों में फैल रही गलत न्यूज सबमिट करने के लिए प्रोटो जमीनी स्तर पर भी संगठनों के साथ काम करेगा।

6- इसके पहले भी फेक न्यूज पर लगाम लगाने के लिए वॉट्सऐप ने मैसेज को फॉरवर्ड करने की संख्या को सीमित कर 5 कर दिया गया था।

 

 

 

Todays Beets: