Saturday, December 14, 2019

Breaking News

   रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की सुरक्षा में चूक, मोटरसाइकिल काफिले के सामने आया शख्स     ||   दिल्ली: राजनाथ सिंह के सामने आया शख्स, पीएम मोदी से मिलाने की मांग की     ||   उत्तराखंड के बद्रीनाथ में भारी हिमपात , तापमान माइनस पर पहुंचा    ||   नेपालः कास्की में कम्युनिस्ट पार्टी के बैठक स्थल के पास पार्किंग में धमाका     ||   राम मंदिर मामले में रिव्यू याचिका दायर करेगा मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड     ||   दिल्ली हाईकोर्ट ने मालविंदर सिंह और सुनील गोड़वानी को एक दिन की ED हिरासत में भेजा     ||   बीजेपी ने पार्टी महासचिव अरुण सिंह को यूपी से राज्यसभा उम्मीदवार बनाया     ||   पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम की न्यायिक हिरासत 11 दिसंबर तक बढ़ाई गई     ||   INX मीडिया केस: पी चिदंबरम को झटका, दिल्ली हाईकोर्ट ने खारिज की जमानत याचिका     ||   वकील VS पुलिस मामला: HC ने कहा- जांच पूरी होने तक पुलिस पक्ष से नहीं होगी गिरफ्तारी     ||

व्हाट्सएप पर आपकी सहमति के बिना कोई नहीं जोड़ पाएगा आपको ग्रुप में

अंग्वाल संवाददाता
व्हाट्सएप पर आपकी सहमति के बिना कोई नहीं जोड़ पाएगा आपको ग्रुप में

नई दिल्ली । लोकसभा चुनावों के मद्देनजर व्हाट्सएप पर भी अब सख्ती की गई है। अब कोई भी व्यक्ति आपकी बिना इजाजत लिए आपको किसी ग्रुप में नहीं जोड़ पाएगा । इसकी शुरुआत जल्द ही शुरू हो जाएगी । किसी भी शख्स को अगर आप किसी ग्रुप से जोड़ेंगे तो उससे पहले व्हाट्सएप इस शख्स से ग्रुप में जुड़ने की सहमति मांगेगा, अगर उक्त व्यक्ति ग्रुप से नहीं जुड़ना चाहता तो उसे ग्रुप में शामिल नहीं किया जा सकेगा । इसके साथ ही फेक न्यूज की समस्या से निपटने के लिए अब व्हाट्सएप ने कमर कस ली है । फेक न्यूज से बचने के लिए इस लोकसभा चुनाव के मद्देनजर व्हाट्सएप कुछ नए फीचर्स लेकर आया है।  भारत के 20 करोड़ व्हाट्सएप यूजर्स के लिए ये सर्विस मंगलवार को लॉन्च की गई।

चलिए बताते हैं आपको कि व्हाट्सएप ने क्या नई सुविधाएं इस एप में दी हैं। 

1-  भारत में अब व्हाट्सएप यूजर्स किसी गलत सूचना या अफवाहों को WhatsApp पर Checkpoint Tipline (+91-9643-000-888) भेज सकते हैं।

2- फेक न्यूज से निपटने के लिए WhatsApp ने नई सर्विस 'चेकप्वॉइंट टिपलाइन' लॉन्च की है ।

3- यूजर के टिपलाइन के साथ मैसेज शेयर करने के बाद, प्रोटो का वेरीफिकेशन सेंटर मैसेज सही है या नहीं ये जांचने के बाद यूजर को बताएगा कि मैसेज में किया गया दावा सच है झूठ।     इस सर्विस को भारत की मीडिया स्किलिंग स्टार्ट-अप प्रोटो ने लॉन्च किया है।

4- WhatsApp का ये वेरिफिकेशन सेंटर मैसेज, फोटो और वीडियो लिंक को इंग्लिश के अलावा चार भाषाओं में चेक करेगा ।


5-  चुनावों के दौरान देश में कई क्षेत्रों में फैल रही गलत न्यूज सबमिट करने के लिए प्रोटो जमीनी स्तर पर भी संगठनों के साथ काम करेगा।

6- इसके पहले भी फेक न्यूज पर लगाम लगाने के लिए वॉट्सऐप ने मैसेज को फॉरवर्ड करने की संख्या को सीमित कर 5 कर दिया गया था।

 

 

 

Todays Beets: